CM केजरीवाल को कल गिरफ्तार कर सकती है CBI NDA के स्पीकर पद के उम्मीदवार ओम बिरला ने पीएम मोदी से मुलाकात की दिलेश्वर कामत जेडीयू संसदीय दल के नेता होंगे पूर्व फुटबॉलर बाइचुंग भूटिया ने राजनीति छोड़ी, सिक्किम चुनाव में हार के बाद फैसला घाटकोपर होर्डिंग केस: IPS कैसर खालिद सस्पेंड, उनकी इजाजत पर लगा था होर्डिंग पुणे पोर्श कांड: आरोपी नाबालिग को हिरासत से रिहा किया गया लोकसभा के 7 सांसदों ने नहीं ली शपथ, कल स्पीकर चुनाव में नहीं कर सकेंगे मतदान जगन मोहन रेड्डी की पार्टी स्पीकर चुनाव में NDA उम्मीदवार का समर्थन कर सकती है कल सुबह 11 बजे तक के लिए लोकसभा स्थगित स्पीकर चुनाव के लिए बीजेपी ने व्हिप जारी किया, सभी सांसदों को लोकसभा में रहना होगा मौजूद स्पीकर चुनाव: कांग्रेस का व्हिप जारी, कल सभी सांसदों को लोकसभा में मौजूद रहने को कहा आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के कृष्णपक्ष की पंचमी तिथि रात 08:54 बजे तक यानी बुधवार, 26 जून 2024 Jaipur: मैसर्स तंदूरवाला में कार्रवाई के दौरान पायी गयीं भारी अनियमितताएं..लाइसेंस, साफ़ सफाई सहित अन्य दस्तावेज मिले नदारद मायावती का भतीजे आकाश आनंद पर उमड़ा प्रेम, 47 दिन पुराने फैसले को पलट बनाया राष्ट्रीय संयोजक राजस्थान में आषाढ़ माह के चौथे दिन मेवाड़ में छाये बादल, मौसम विभाग भी बोला मानसून का हो गया प्रवेश
'कनाडा ने लगाया RSS पर बैन..!' क्या आपने भी सुनी ये सनसनीखेज खबर ? तो आपको ज़रूर जाननी चाहिए  पूरी सच्चाई 

'कनाडा ने लगाया RSS पर बैन..!' यहाँ जानें वायरल वीडियो की सच्चाई

राजनीति

'कनाडा ने लगाया RSS पर बैन..!' क्या आपने भी सुनी ये सनसनीखेज खबर ? तो आपको ज़रूर जाननी चाहिए  पूरी सच्चाई 

राजनीति//Delhi/New Delhi :

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर कनाडा सरकार से देश में आरएसएस पर बैन लगाने की मांग करते हुए नेशनल काउंसिल ऑफ कनेडियन मुस्लिम्स (NCCM) के सीईओ स्टीफन ब्राउन, ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से एक वीडियो जारी किया था , जिसकी आड़ लेकर कुछ तत्वों ने अफवाहों का बाजार गर्म कर दिया कि कनाडा देश में आरएसएस को बैन कर दिया गया है और उसके वर्कर्स को तत्काल कनाडा छोड़ने को कह दिया गया है पर जब सच जानने के लिए इस वायरल हो रहे वीडियो को तफ्तीश की गयी तो कुछ और ही बात निकल कर आयी। पढ़िए भारत - कनाडा के बीच आयी तल्खी का फ़ायदा किस तरह उठाया जा रहा है और असली सच्चाई क्या है। 

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपने देश की संसद में बयान देते हुए यह आरोप लगाया कि हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत सरकार हो सकती है और उनकी एजेंसिया इसकी जांच कर रही हैं। इस घटना के बाद भारत कनाडा के बीच हर रोज़ कुछ न कुछ घटनाक्रम चल रहे हैं ,सोशल मीडिया पर एक वीडियो के साथ एक दावा किया जा रहा है ।

ये है वायरल दावा 

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसके साथ ये दावा किया जा रहा है कि आरएसएस संगठन को कनाडा में बैन कर दिया गया है। इस वीडियो को फ़ेसबुक और X दोनों ही प्लेटफ़ॉर्म पर काफ़ी शेयर किया गया है। फेसबुक पर भी यह वीडियो वायरल दावे वाले कैप्शन के साथ शेयर किया गया है, जिसमें लिखा हुआ है “कनाडा सरकार ने RSS पर लगाया प्रतिबंध और उसके कार्यकर्ताओं को कनाडा तुरंत छोड़ने का आदेश जारी कर दिया, यह शुरू किया जा चुका है और अब धीरे-धीरे RSS पूरी दुनिया में बैन होने जा रहा है“। वायरल दावे के साथ शेयर किया जा रहा वीडियो क़रीब 1 मिनट का है, वीडियो में एक व्यक्ति अंग्रेज़ी में बोलते हुए सुनाई देता है। 

वहीँ  X के एक वेरिफाईड अकाउंट ने इस वीडियो को शेयर करते हुए बतौर कैप्शन लिखा है, “हे राम, ये कनाडा तो लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की राह पर चल निकला। कनाडा में RSS को बैन किया गया!! आखिर दुनिया क्यों हिंदू राष्ट्र और हिंदू विश्व के सपने को साकार होने देना नहीं चाहती? ऐसा क्या गलत है RSS में?”

क्या है इस वीडियो में 

वायरल वीडियो में एक व्यक्ति अंग्रेज़ी में बोलते हुए सुनाई देता है, जिसका हिंदी अनुवाद है, “हम एनसीसीएम की तरफ से चार अतिरिक्त मांगे करते हैं। पहला ,भारत से कनाडा के राजदूत को अविलंब वापस बुलाया जाए। दूसरा ,कनाडा में भारत के राजदूत व उच्चायुक्त संजय कुमार वर्मा के निष्कासन की कार्यवाही जल्द शुरू की जाए। तीसरा, आधिकारिक रूप से भारत और कनाडा के बीच व्यापार पर रोक लगाई जाए। चौथा, हम WSO के साथ मांग करते हैं कि क्रिमिनल कोड के तहत आरएसएस पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया जाए और उसके सदस्यों को कनाडा से बाहर किया जाए”। 

ये है वायरल वीडियो की सच्चाई 

फैक्ट चेकर साइट न्यूज़ चेकर के अनुसार जब उस अकाउंट को खंगाला गया  तो क़रीब दो दिन पहले अपलोड किया गया यह वीडियो मिला। न्यूज़ चेकर ने दावे की पड़ताल के लिए सबसे पहले वायरल वीडियो की जांच की तो शेयर किए जा रहे वीडियो को पर @nccmuslims नाम के टिकटॉक अकाउंट का वाटरमार्क मिला। 

वीडियो के नीचे मौजूद डिस्क्रिप्शन में बताया गया था कि “NCCM के सीईओ स्टीफन ब्राउन ने कनाडा के विश्व सिख संगठन के निदेशक मंडल के सदस्य मुखबीर सिंह के साथ मिलकर, भारत सरकार के एजेंटों द्वारा हरदीप सिंह निज्जर की कथित हत्या के जवाब में स्पष्ट कार्रवाई का आह्वान किया”। 

न्यूज़ चेकर की अब तक की जांच में यह तो साफ़ हो गया था कि वायरल वीडियो में दिख रहे शख्स NCCM के सीईओ स्टीफन ब्राउन हैं, जिन्होंने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर कनाडा सरकार से आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। साथ ही उनका संगठन पूरी तरह से गैर-लाभकारी संगठन है और इसका कनाडा सरकार से कोई संबंध नहीं है। 

ये है वायरल वीडियो की सच्चाई 

इसके बाद न्यूज़ चेकर द्वारा अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए यह पता करने की कोशिश की गयी  कि क्या कनाडा सरकार ने आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने से जुड़ा कोई आदेश दिया है?लेकिन ऐसी कोई विश्वसनीय न्यूज़ रिपोर्ट नहीं मिली। साथ ही हमें इस संबंध में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का भी कोई बयान नहीं मिला। वायरल दावे के साथ शेयर किए जा रहे वीडियो में स्थानीय संगठन NCCM के सीईओ स्टीफन ब्राउन द्वारा आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने की सिर्फ़ मांग की गई है। इससे ये निष्कर्ष निकलता है कि कुछ लोग भारत कनाडा के बिगड़ते रिश्तों का फ़ायदा उठाने के लिए अफवाह फैला रहे हैं।

कौन  हैं नेशनल काउंसिल ऑफ कनेडियन मुस्लिम्स (NCCM) ?

वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, नेशनल काउंसिल ऑफ कनेडियन मुस्लिम्स (NCCM) एक स्वतंत्र, गैर-पक्षपातपूर्ण और गैर-लाभकारी संगठन है।  इसके सदस्य कनाडाई मुस्लिम हैं और देश के मुस्लिम समुदाय के हक़ के लिए आवाज उठाना और मानवाधिकारों की रक्षा करना उनका प्रमुख काम है। इसका मुख्यालय कनाडा की राजधानी ओटावा में है। 

गौरतलब है कि बीते 18 सितंबर को कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपने देश की संसद में बयान देते हुए यह आरोप लगाया कि हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत सरकार हो सकती है और उनकी एजेंसिया इसकी जांच कर रही हैं। इस बयान के बाद कनाडा ने भारत के शीर्ष राजनयिक पवन कुमार राय को निष्कासित कर दिया। भारत ने भी जवाबी कार्रवाई में कनाडाई उच्चायोग को समन भेजा और एक शीर्ष राजनयिक को पांच दिन के भीतर देश छोड़ने के लिए कह दिया।साथ ही भारत ने कनाडा के इन आरोपों को भी बेतुका बताया।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments