UP: लखनऊ मे एंटी भू माफिया सेल का गठन, अवैध तरीके से जमीन कब्जाने वालों पर होगा एक्शन VHP ने UP पुलिस से की देवबंद के खिलाफ एक्शन की मांग, गजवा-ए-हिंद के समर्थन का आरोप जमीन हड़पने के मामले में ED ने TMC नेता शाहजहां शेख के खिलाफ दर्ज किया एक और मामला महाराष्ट्र के पूर्व सीएम मनोहर जोशी का हार्ट अटैक से निधन किसानों को करनी होगी सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई: हरियाणा पुलिस MP: अनूपपुर में जंगली हाथी के हमले में एक शख्स की मौत, 2 लोग घायल
‘बेटी मैं आपकी बात सुनूंगा, नीचे उतर जाओ’, रैली में खंभे पर चढ़ी लड़की से बोले पीएम मोदी

राजनीति

‘बेटी मैं आपकी बात सुनूंगा, नीचे उतर जाओ’, रैली में खंभे पर चढ़ी लड़की से बोले पीएम मोदी

राजनीति//Telangana/ :

तेलंगाना में पीएम मोदी की जनसभा के दौरान एक लड़की लाइट-साउंड के लिए बनाए गए एक टावर पर चढ़ गई। जिसके बाद प्रधानमंत्री ने उससे नीचे उतरने की अपील की।

तेलंगाना में होने वाले विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार (11 नवंबर) को सिकंदराबाद पहुंचे। इस दौरान पीएम की जनसभा के दौरान एक लड़की लाइट-साउंड के लिए बनाए गए एक टावर पर चढ़ गई। पीएम मोदी ने जब लड़की को टावर पर चढ़ते देखा तो उसे नीचे उतरने की अपील की। पीएम मोदी ने लड़की से कहा, ‘बेटी मैं आपकी बात सुनूंगा, नीचे उतर जाओ...’ लड़की प्रधानमंत्री से बात करना चाहती थी। इससे पहले उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सरकार की प्राथमिकता गरीबों का कल्याण करना है।
तेलंगाना के लोगों को निराश किया
बीआरएस सरकार पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 10 साल पहले यहां बनी सरकार तेलंगाना के गौरव और सम्मान की रक्षा नहीं कर सकी। दुनिया तेलंगाना के लोगों की क्षमताओं की सराहना करती है। हालांकि, तेलंगाना सरकार ने लोगों को निराश किया है। 
केसीआर ने दलितों की आकांक्षाओं को कुचला
उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘आंदोलन के समय लोगों से वादा किया गया था कि किसी दलित को तेलंगाना का पहला सीएम बनाया जाएगा। हालांकि, राज्य के गठन के बाद केसीआर सीएम बने और इस तरह उन्होंने दलितों की आकांक्षाओं को कुचल दिया।’
कांग्रेस पर भी साधा निशाना
उन्होंने कहा कि बीआरएस दलित विरोधी है और कांग्रेस भी उसी की तरह है। बीआरएस ने नए संविधान की मांग करके बाबा साहेब अंबेडकर का अपमान किया। कांग्रेस का भी यही इतिहास है। कांग्रेस ने बाबा साहेब को दो बार चुनाव नहीं जीतने दिया। बीआरएस की तरह ही कांग्रेस का इतिहास भी दलितों से, पिछड़ों से नफरत का रहा है। जब बीजेपी ने रामनाथ कोविंद जी को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया, तो कांग्रेस ने उन्हें हराने के लिए पूरी ताकत लगा दी और जब वे राष्ट्रपति बने तो भी कांग्रेस ने उनका तिरस्कार किया।
दलित विरोधी हैं दोनों दल
उन्होंने कहा कि बीजेपी ने एक महिला को भारत का पहला आदिवासी राष्ट्रपति बनाने का प्रस्ताव रखा, तो कांग्रेस ने श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी का भी विरोध किया। जब दलित सरकारी अफसर हीरालाल सामरिया को चीफ इन्फॉर्मेशन कमिश्नर बनाया गया, तो कांग्रेस ने उनका शपथ समारोह का भी विरोध किया। कांग्रेस नहीं चाहती थी एक दलित अफसर इतने बड़े सरकारी पद पर जाए।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments