आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि रात 08:43 बजे तक तदुपरांत त्रयोदशी तिथि प्रारंभ यानी बुधवार, 18 जुलाई 2024
चलती ट्रेन में ‘गोलगप्पे’ की दुकान... गैलरी में लगी दोने वालों की कतार

अजब-गजब

चलती ट्रेन में ‘गोलगप्पे’ की दुकान... गैलरी में लगी दोने वालों की कतार

अजब-गजब//Delhi/New Delhi :

भारत में हर उम्र के लोगों को जो स्ट्रीट फूड सबसे ज्यादा भाता है, वो है पानीपुरी। पानीपुरी की फैन फॉलोइंग इतनी ज्यादा है कि बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक हर कोई इसे सेहत की चिंता किए बगैर खाता है।

स्ट्रीट फूड के लिए भारत के लोगों की दीवानगी जगजाहिर है। हेल्दी से हेल्दी खाने का मन बनाने वाले लोगों का रेजोल्यूशन भी कई बार स्ट्रीट फूड की वजह से टूट जाता है। क्योंकि खाने में ये बहुत ज्यादा टेस्टी होते हैं। वैसे तो हर किसी का अपना अलग पसंदीदा स्ट्रीट फूड होता है लेकिन सभी उम्र के लोगों को जो स्ट्रीट फूड सबसे ज्यादा पसंद आता है, वो पानीपुरी है यानी गोलगप्पे। गोलगप्पे की फैन फॉलोइंग इतनी ज्यादा है कि बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक हर कोई इसे सेहत के चिंता किए बगैर बेफिक्र होकर खाता है। गोलगप्पों की याद लोगों को तब सबसे ज्यादा आती है, जब वो कहीं ट्रैवल कर रहे होते हैं। एक वेंडर ने लोगों की इस तकलीफ को समझा और चलती ट्रेन में ही पानीपुरी की दुकान लगा दी।
वीडियो में दिखी दीवानगी
दरअसल सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक शख्स चलती ट्रेन में गोल गप्पे बेचता हुआ नजर आ रहा है। उसके पास वो सभी चीजें हैं, जो गोल गप्पे के साथ खिलाई जाती है। चटपटा पानी भी है, मीठी चटनी भी, चना भी है और पापड़ी भी। ट्रेन में सफर कर रहे लोग पानीपुरी वाले को देखकर दंग रह गए। कई लोगों ने तो इसकी वीडियो भी बना ली है। जबकि कुछ लोग दोना लिए खड़े पानीपुरी खाते भी नजर आए। 
ट्रेन में लोगों ने खाए गोलगप्पे 
वीडियो में आप देख सकते हैं कि ट्रेन कितनी तेज रफ्तार में भाग रही है लेकिन शख्स बेफिक्र होकर लोगों को पानीपुरी खिला रहा है। यह वीडियो कहां का है, इस बारे में तो फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। हालांकि लोग इस शख्स के बिजनेस माइंड की जमकर तारीफ कर रहे हैं और इसे एक इनोवेशन बता रहे हैं। एक यूजर ने कहा, ‘कोई भी भारतीयों को बीट नहीं कर सकता।’ जबकि दूसरे यूजर ने कहा, ‘ये काम मुंबई लोकल में नहीं हो सकता।’ एक ओर जहां कुछ यूजर्स ने वेंडर की जमकर तारीफ की, तो वहीं कुछ लोगों ने इसे गलत बताया। 
महाभारत काल से जुड़ाव!
गोलगप्पे को फुचका, पुचका, गुपचुप, पानी के बताशे और पानीपुरी भी कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस स्ट्रीट फूड का जुड़ाव महाभारत काल से है। हालांकि गोलगप्पे की उत्पत्ति कैसे हुई, इस बारे में लोगों की अलग-अलग राय हैं। पानीपुरी को बनाने के लिए गेहूं के आटे, सूजी और मैदे का इस्तेमाल किया जाता है। इसका स्वाद पुदीना, इमली, आलू, प्याज, धनिया पत्ती और छोला डालकर बढ़ाया जाता है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments