CM केजरीवाल को कल गिरफ्तार कर सकती है CBI NDA के स्पीकर पद के उम्मीदवार ओम बिरला ने पीएम मोदी से मुलाकात की दिलेश्वर कामत जेडीयू संसदीय दल के नेता होंगे पूर्व फुटबॉलर बाइचुंग भूटिया ने राजनीति छोड़ी, सिक्किम चुनाव में हार के बाद फैसला घाटकोपर होर्डिंग केस: IPS कैसर खालिद सस्पेंड, उनकी इजाजत पर लगा था होर्डिंग पुणे पोर्श कांड: आरोपी नाबालिग को हिरासत से रिहा किया गया लोकसभा के 7 सांसदों ने नहीं ली शपथ, कल स्पीकर चुनाव में नहीं कर सकेंगे मतदान जगन मोहन रेड्डी की पार्टी स्पीकर चुनाव में NDA उम्मीदवार का समर्थन कर सकती है कल सुबह 11 बजे तक के लिए लोकसभा स्थगित स्पीकर चुनाव के लिए बीजेपी ने व्हिप जारी किया, सभी सांसदों को लोकसभा में रहना होगा मौजूद स्पीकर चुनाव: कांग्रेस का व्हिप जारी, कल सभी सांसदों को लोकसभा में मौजूद रहने को कहा आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के कृष्णपक्ष की पंचमी तिथि रात 08:54 बजे तक यानी बुधवार, 26 जून 2024 Jaipur: मैसर्स तंदूरवाला में कार्रवाई के दौरान पायी गयीं भारी अनियमितताएं..लाइसेंस, साफ़ सफाई सहित अन्य दस्तावेज मिले नदारद मायावती का भतीजे आकाश आनंद पर उमड़ा प्रेम, 47 दिन पुराने फैसले को पलट बनाया राष्ट्रीय संयोजक राजस्थान में आषाढ़ माह के चौथे दिन मेवाड़ में छाये बादल, मौसम विभाग भी बोला मानसून का हो गया प्रवेश
‘हम भारत को उकसा नहीं रहे...’ मोदी सरकार के कड़े तेवर के बाद ढीले पड़े ट्रूडो

राजनीति

‘हम भारत को उकसा नहीं रहे...’ मोदी सरकार के कड़े तेवर के बाद ढीले पड़े ट्रूडो

राजनीति///Otawa :

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के तेवर अब नरम पड़ते नजर आ रहे हैं। ट्रूडो ने कहा है कि वह भारत को उकसाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं। उनका मानना है कि भारत को इस मामले की गंभीरता से जांच करनी चाहिए। कनाडा और भारत में खालिस्तानी आतंकवादी की हत्या को लेकर तनाव है।

खालिस्तानी आतंकवादी की हत्या के मामले में कनाडा के आरोपों के बाद भारत के रिएक्शन को देखकर जस्टिन ट्रूडो के होश उड़े हैं। यही कारण है कि कनाडाई प्रधानमंत्री ट्रूडो ने अब नरम रुख अख्तियार कर लिया है। उन्होंने कहा है कि वह भारत को उकसाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं, बल्कि उन्हें निज्जर की हत्या पर जवाब चाहिए। 
हरदीप सिंह निज्जर खालिस्तानी आतंकवादी था, जिसकी 18 जून को बड़ी सिख आबादी वाले वैंकूवर शहर के सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अब जस्टिन ट्रूडो ने संसद में दावा किया है कि निज्जक की हत्या में भारतीय एजेंटों का हाथ है। उनको इस बारे में कनाडाई सुरक्षा एजेंसियों ने पुख्ता जानकारी दी है। हालांकि, भारत ने कनाडा के इन आरोपों को खारिज किया है।
ट्रूडो ने भारत के प्रति दिखाया नरम रुख
जस्टिन ट्रूडो ने कनाडाई संसद में जहर उगलने के बाद कहा कि कनाडा में सिख अलगाववादी नेता हरदीप सिंह निज्जर की हत्या बेहद गंभीर है। हम कनाडा में सिख अलगाववादी नेता की हत्या में भारतीय एजेंटों के जुड़े होने का सुझाव देकर भारत को उकसाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं। कनाडा चाहता है कि भारत इस मुद्दे को ठीक से संबोधित करे। भारत सरकार को इस मामले को अत्यंत गंभीरता से लेने की जरूरत है। हम ऐसा करके इसे उकसाने या आगे बढ़ाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं।
कनाडाई संसद में क्या बोले थे जस्टिन ट्रूडो
जस्टिन ट्रूडो ने कनाडाई संसद में कहा था कि कनाडा की एजेंसियों ने पुख्ता तौर पर पता किया है कि निज्जर की हत्या के पीछे भारत सरकार का हाथ हो सकता है। उन्होंने कहा कि मैंने जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान भी यह मुद्दा पीएम मोदी के सामने उठाया था। ट्रूडो ने कहा कि हमारे देश की जमीन पर कनाडाई नागरिक की हत्या के पीछे विदेशी सरकार का होना अस्वीकार्य है और ये हमारी संप्रभुता का उल्लंघन है। ये उन मूलभूत नियमों के खिलाफ है, जिसके तहत लोकतांत्रिक, आजाद और खुले समाज चलते हैं। बाद में कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने बताया कि भारतीय राजनयिक पवन कुमार राय को इस केस की जांच के चलते निष्कासित कर दिया गया है।
ट्रूडो के कार्यकाल में भारत-कनाडा संबंध हुए खराब
विशेषज्ञों का भी मानना है कि जस्टिन ट्रूडो के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत-कनाडा संबंध लगातार खराब हुए हैं। विदेश मामलों के जानकार रोबिंदर सचदेवा ने कहा कि इस बात की संभावना कम है कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो खालिस्तान मुद्दे पर अपना दृष्टिकोण बदल देंगे। ऐसा लगता है कि भारत-कनाडा संबंध पीछे रह जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि कनाडा सरकार ने भारतीय राजनयिक को इसलिए निष्कासित किया है क्योंकि भारत ने कनाडा को खालिस्तान मुद्दे का समाधान करने का संदेश दिया था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments