ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
‘इंदिरा की मौत के बाद राजीव गांधी ने विरासत कर क्यों खत्म किया’: पीएम मोदी का सवाल

राजनीति

‘इंदिरा की मौत के बाद राजीव गांधी ने विरासत कर क्यों खत्म किया’: पीएम मोदी का सवाल

राजनीति//Uttar Pradesh /Lucknow :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 1984 में अपनी मां इंदिरा गांधी की मौत के बाद उनकी संपत्ति को सरकार के पास जाने से बचाने के लिए विरासत कर को खत्म कर दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस अब इस कर को वापस लाना चाहती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 1984 में अपनी मां इंदिरा गांधी की मौत के बाद उनकी संपत्ति को सरकार के पास जाने से बचाने के लिए विरासत कर को खत्म कर दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस अब इस कर को वापस लाना चाहती है। मध्य प्रदेश के मुरैना में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर अपना हमला तेज कर दिया और उस पर धर्म के आधार पर विभाजन स्वीकार करके ‘देश के हाथ काटने’ का आरोप लगाया। 
मुरैना में 7 मई को मतदान होगा। पीएम मोदी ने कहा कि राजीव गांधी ने अपनी मां इंदिरा गांधी की मृत्यु के बाद उनकी संपत्ति को सरकार के पास जाने से बचाने के लिए 1985 में विरासत कर को खत्म कर दिया था। जो विरासत में मिली चल और अचल संपत्ति पर लगाया जाने वाला एक बड़ा कर था।
पीएम मोदी ने कहा कि ‘कांग्रेस ने जो पाप किए हैं, उस पर ध्यान दें। मैं एक दिलचस्प तथ्य सामने रखना चाहता हूं। जब इंदिरा गांधी का निधन हुआ, तो एक कानून था जिसके तहत आधी संपत्ति सरकार को मिलेगी। ऐसी चर्चाएं थीं कि इंदिरा जी ने अपने बेटे राजीव गांधी को संपत्ति देने के लिए अपनी वसीयत कर ली थी।’ पीएम मोदी ने कहा कि ‘पैसा सरकार के पास जाने से बचाने के लिए राजीव गांधी ने विरासत कर खत्म कर दिया।’
प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका स्थित वरिष्ठ कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा की विवादास्पद टिप्पणी पर निशाना साधते हुए मतदाताओं को चेतावनी दी कि अगर मुख्य विपक्षी दल सत्ता में आता है, तो वह विरासत कर के जरिये लोगों की आधी से अधिक कमाई छीन लेगा। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस लोगों की संपत्तियों और कीमती सामानों की जांच कराकर उनके आभूषण और छोटी बचत को जब्त करना चाहती है। 
उन्होंने कहा, विपक्ष के ‘शहजादे’ के एक सलाहकार ने अब विरासत कर लगाने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब उस कर को वापस लाना चाहती है क्योंकि उसकी चार पीढ़ियों ने उस धन का लाभ उठाया है, जो उन्हें दिया गया था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments