भारत ने जिम्बाब्वे को आखिरी टी-20 मैच में 42 रनों से हराया और 4-1 की जीत के साथ शृंखला पर कब्जा जमाया केंद्रीय वित्त मंत्रालय की मंजूरी से महिला आईआरएस अधिकारी पुरुष बनी..! अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भाषण के दौरान चली गोलियां, बाल-बाल बचे..सुरक्षा अधिकारियों ने हमलावरों को किया ढेर आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की अष्ठमी तिथि सायं 05:26 बजे तक तदुपरांत नवमी तिथि प्रारंभ यानी रविवार, 14 जुलाई 2024
दुनिया का पड़दादा है 190 साल का ‘जोनाथन’... सबसे बूढ़ा जानवर, 1832 में हुआ था जन्म

अजब-गजब

दुनिया का पड़दादा है 190 साल का ‘जोनाथन’... सबसे बूढ़ा जानवर, 1832 में हुआ था जन्म

अजब-गजब///Washington :

दुनिया के सबसे बूढ़े कछुए को जानते हैं? अगर नहीं, तो आपको ‘जोनाथन’ के बारे में पता होना चाहिए। क्योंकि इस कछुए ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स का एक और टाइटल अपने नाम कर लिया है।

दुनिया में सबसे ज्यादा जीने वाला जानवर है, कछुआ। कछुए 100 साल से भी ज्यादा जीते हैं। लेकिन, क्या आप दुनिया के सबसे बूढ़े कछुए को जानते हैं? अगर नहीं, तो मिलिए ‘जोनाथन’ से। इस कछुए ने ‘गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स’ का एक और टाइटल अपने नाम कर लिया है। दरअसल, इस साल जोनाथन अपना 190वां जन्मदिन मना रहा है। मतलब, अब वो दुनिया का सबसे उम्रदराज कछुआ है। बता दें, इससे पहले यह रिकॉर्ड तुई मलीला कछुए के नाम था, जो करीब 188 साल जीया था।
साल 1832 में पैदा हुआ था ये कछुआ!
रिपोर्ट्स के अनुसार, जोनाथन का जन्म 1832 में हुआ था, जो 2022 में 190 साल का हो रहा है। जोनाथन को साल 1882 में सेशेल्स से साउथ एटलांटिक आईलैंड सेंट हेलेना में लाया गया। उसके साथ 3 अन्य कछुए भी थे। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक, जोनाथन उस वक्त पूरी तरह से वयस्क था, और कछुए के लिए पूरी तरह से वयस्क होने का मतलब है कि उसकी उम्र 50 साल होगी।

गवर्नर के घर बिताया जीवन
1930 में सेंट हेलेना के गवर्नर स्पेंसर डेविस ने जोनाथन को उसका नाम दिया था। बता दें, जोनाथन ने अपना अधिकांश जीवन गवर्नर के घर पर ही बिताया है, जहां वह तीन अन्य विशाल कछुओं के साथ रहता है। वैसे जोनाथन को इंसानों का साथ भी काफी रास आता है।

आइफिल टावर से पहले आया है जोनाथन
जॉनाथन के पैदा होने के बाद से दुनिया में कंप्यूटर आया है, कमर्शियल फ्लाइट्स आई हैं, पहला स्काई स्क्रेपर (1885) बना, आइफिल टावर बना (1887), दुनिया की पहली इंसानी फोटोग्राफ ली गई (1838) और ऐसी ही कई खोज हुईं।
पड़ रहा बढ़ती उम्र का असर
जोनाथन को धूप सेंकना पसंद है। लेकिन, गर्मियों के दिनों में वह छांव में रहता है। खाने में पत्ता गोभी, खीरा, गाजर, सेब, केला, सलाद पत्ता और मौसम के अन्य फल उसके फेवरेट हैं। हालांकि, बढ़ती उम्र के कारण जोनाथन को कम दिखता है। सूंघने की शक्ति भी चली गई है। लेकिन, वो अच्छे से सुन सकता है।
 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments