झारखंड के साथ याद आते हैं नोटों के पहाड़, जमशेदपुर में बोले पीएम मोदी आंध्र प्रदेश: नेल्लोर में लॉरी से टकराई RTC बस, हादसे में 2 लोगों की मौत गोवा: BJP नेता बिकम हाथरे को कर्नाटक सीसीबी पुलिस ने किया गिरफ्तार केजरीवाल मौजूदा PM को सीधे चुनौती दे रहे हैं...ये आसान काम नहीं है: सलमान खुर्शीद AAP ने प्रदर्शन के लिए नहीं ली कोई परमिशन, बीजेपी ऑफिस के आसपास लगी रहती है धारा 144: दिल्ली पुलिस BJP मुख्यालय के बाहर 3 पैरामिलिट्री फोर्स की कंपनियां तैनात, AAP ने किया था प्रदर्शन का ऐलान
नूंह हिंसा के बाद 93 एफआईआर और 176 गिरफ्तारियां, हरियाणा सरकार ने बताई सच्चाई

क्राइम

नूंह हिंसा के बाद 93 एफआईआर और 176 गिरफ्तारियां, हरियाणा सरकार ने बताई सच्चाई

क्राइम //Haryana/Gurugram :

हरियाणा सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने नूंह हिंसा मामले से संबंधित आंकड़े साझा किए हैं और कहा है कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा।

हरियाणा के मेवात जिले के नूंह में हुई हिंसा के बाद अब शांति है। राज्य सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद ने हिंसा के बाद की स्थिति को लेकर जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि हिंसा मामले में अब तक पांच जिलों में कुल 93 एफआईआर दर्ज की गई हैं। 
अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि नूंह में 46, फरीदाबाद में 3, रेवाड़ी 3, गुरुग्राम में 23 और पलवल में 18 एफआईआर दर्ज हुई हैं। कुल 176 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 78 को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने कहा, ‘हम जांच कर रहे हैं और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा, चाहे वह कोई भी हो और किसी भी समूह का हो।’
‘किसी को भी बख्शेंगे नहीं’
टीवीएसएन प्रसाद ने कहा कि अगर किसी ने कुछ ऐसा किया है जो देश और समाज के हित के लिए हानिकारक है तो सरकार उसे बख्शेंगी नहीं, साथ ही कहा कि फॉरेंसिक सबूत एकत्रित करने की जरूरत है। 
यात्रा से पहले कराई गई थी शांति समितियों की बैठक 
टीवीएसएन प्रसाद ने कहा कि यात्रा तीन साल से निकाली जा रही है। नूंह में शांति समितियां बनी हुई हैं, जो शांति बनाए रखने के लिए पहले ही बैठक करती हैं। यात्रा की परमिशन से पहले भी इस कमेटी की मीटिंग होती है। इस मीटिंग में भरोसा दिलाया गया था की यात्रा शांतिपूर्वक होगी। 
पलायन को लेकर क्या बोले टीवीएसएन प्रसाद 
पलायन की अफवाहों को लेकर उन्होंने कहा, ‘कोई पलायन नूंह से नहीं हो रहा है। हमारे पास हर आदमी को सुरक्षा देने की क्षमता है। स्थिति अब सामान्य हो गई है। हम सुरक्षाबलों को एयरड्रॉप करने के लिए भी तैयार थे। मेवात में जल्द ही सरकार सीआरपीएफ और आरएएफ का परमानेंट सेंटर बनाने जा रही है।’ हिंसा में छह लोगों की मौत हो गई और कई वाहनों और खाने-पीने की दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया था। हिंसा की लपटें गुरुग्राम तक आ पहुंची थीं।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments