आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह पूर्णिमा तिथि दोपहर 03:46 तक बजे तक यानी रविवार, 21 जुलाई 2024
सुरंग के अंदर एसी रूम, टॉयलेट और किचन... अल शिफा अस्पताल के नीचे मिला हमास का ठिकाना

सेना

सुरंग के अंदर एसी रूम, टॉयलेट और किचन... अल शिफा अस्पताल के नीचे मिला हमास का ठिकाना

सेना///Tel Aviv :

अल शिफा अस्पताल को बीते हफ्ते इजरायली सेना ने अपने कब्जे में ले लिया था। इजरायली सेना लगातार अस्पताल के भीतर हमास का सैन्य ठिकाना होने की बात कहते हुए तलाशी अभियान चला रही है। हमास और कई देशों की ओर से अस्पताल में सेना के घुसने की आलोचना की जा रही है तो इजरायल बार-बार इस पर जोर दे रहा है कि अस्पताल के नीचे सुरंगों में हमास का कमांड सेंटर था। इजरायली सेना कई वीडियो शेयर कर चुकी है, जिनमें अस्पताल के नीचे सुरंग होने की बात कही गई है।

 इजरायल की सेना ने गाजा पट्टी के सबसे बड़े अस्पताल अल शिफा के नीचे बड़े सुरंग नेटवर्क को खोज निकालने का दावा किया है। इजरायली सेना ने एक वीडियो जारी करते हुए दिखाया है कि किस तरह से हमास ने अस्पताल के नीचे से सुरंगों का एक पूरा जाल बुन रखा है और यहीं से वह अपनी आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे रहा था। इजरायली सेना की ओर से कहा गया है कि एक के बाद एक सुरंग अल शिफा के आसपास मिल रही है, जो यहां हमास का कमांड सेंटर होने का सबूत है।
सुरंग नेटवर्क में छिपने के लिए भूमिगत कमरे 
इजरायल डिफेंस फोर्स, आईडीएफ ने जो वीडियो शेयर किया है, उसमें बताया है कि ये सुरंग कतारी बिल्डिंग के नीचे से निकलती है। हमास के इस सुरंग नेटवर्क में छिपने के लिए भूमिगत कमरे बनाए गए हैं। आईडीएफ का कहना है कि अल शिफा में मिला सुरंग का एंट्री गेट करीब 55 मीटर के बाद एक विस्फोट गेट पर खत्म हुआ। आईडीएफ का दावा है कि दरवाजे को तोड़ा गया तो इसके पीछे एयर कंडीशन कमरा, शौचालय, रसोईघर और इसके करीब ही एक वॉर रूम भी मिला। इतना ही नहीं, अस्पताल के पास दो अन्य सुरंग शाफ्ट भी पाए गए, जिनमें एक सड़क पर और दूसरा करीब 100 मीटर दूर इमारत में खुलता है।
अल शिफा में रखे गए थे बंधक!
इजरायली सेना का कहना है कि उसको कई तरह के हथियार भी इन सुरंगों में मिले हैं। जिनको देखने के बाद आईडीएफ को ऐसे संकेत भी मिले हैं, जिनसे लगता है कि हमास ने इजरायली बंधकों को अपहरण के बाद अल शिफा में भी रखा था। आईडीएफ ने अपने बयान में कहा है कि सुरंगों का जो नेटवर्क मिला है, वह अस्पतालों को ढाल की तरह इस्तेमाल करने की हमास की रणनीति को दिखाता है। हमास ने अस्पताल की इमारतों का इस्तेमाल हथियार रखने और अपना कमांड सेंटर की तरह से किया है।
बहुत बड़ा और परिष्कृत सुरंग नेटवर्क 
हमास का सुरंग नेटवर्क कितना बड़ा और बेहतर तरीके से बनाया हुआ है, उस पर रक्षा विशेषज्ञों की भी निगाहें जा रही हैं। इजरायली आर्मी की ओर से हमास के सुरंग नेटवर्क की एक तस्वीर को शेयर करते हुए इंडियन आर्मी के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल एचएस पनाग ने कहा है कि ये बहुत बड़ा और परिष्कृत सुरंग नेटवर्क है। जिस तरह से ये तैयार किया गया है, उस तरीके का इस्तेमाल हम भी पहाड़ों और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हमारी स्थायी सुरक्षा के लिए कर सकते हैं। ये स्थायी और बेहतर विकल्प हो सकता है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments