अभिनेत्री व सांसद हेमामालिनी ने बताई राजनीति में आने की वजह

अभिनेत्री व राजनेता हेमामालिनी

राजनीति

अभिनेत्री व सांसद हेमामालिनी ने बताई राजनीति में आने की वजह

राजनीति//Uttar Pradesh /Mathura :

मथुरा से तीसरी बार भाजपा उम्मीदवार के तौर पर लोकसभा चुनाव लड़ रही एक्ट्रेस और राजनेता हेमा मालिनी उन्होंने खुद को भगवान कृष्ण की गोपिका कहा है। उन्होंने कहा, 'मैं नाम या प्रचार के लिए राजनीति में नहीं आयी  हूं। मैं किसी भौतिक लाभ के लिए राजनीति में नहीं आयी  था। भगवान कृष्ण लोगों से प्यार करते हैं, इसलिए अगर मैं उन सभी लोगों की सेवा में काम करुँगी , तो वह मुझे भी आशीर्वाद देंगे। "हेमा मालिनी ने कहा।

हेमा मालिनी ने मथुरा से तीसरी बार जनसाधारण की सेवा करने का अवसर देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और अन्य को बधाई दी। भाजपा उन्होंने राष्ट्रपति जेपी नड्डा को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता जीर्ण-शीर्ण ब्रज 84 कोस परिक्रमा का विकास होगा। मथुरा से दो बार सांसद रहीं हेमा मालिनी ने कहा कि ब्रज 84 कोस परिक्रमा को पर्यटकों के लिए सुखद और आकर्षक बनाने का प्रयास किया जाएगा।

डीपीआर (विस्तृत परियोजना रिपोर्ट) 11,000 करोड़ रुपये की लागत से तैयार की गई है। मैं मॉडल बुनियादी ढांचे के लिए स्वीकृत शेष धनराशि को सुरक्षित रखूंगी ताकि तीर्थयात्रियों को आवश्यक सुविधाएं मिलें और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक आकर्षक और मंत्रमुग्ध कर देने वाले हों। पर्यटन से स्थानीय लोगों के लिए रोजगार भी बढ़ेगा। हेमा मालिनी ने भी कहा है कि यमुना नदी की सफाई उनकी दूसरी प्राथमिकता होगी।

हेमा मालिनी ने दावा किया कि उन्होंने नमामि गंगे परियोजना शुरू होने से पहले ही संसद में गंगा और यमुना नदियों के प्रदूषण पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा कि जब से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नमामि गंगे परियोजना में रुचि ली है, तब से प्रयागराज में गंगा का पानी पारदर्शी और प्रदूषण मुक्त हो गया है। लेकिन दिल्ली सरकार ने यमुना नदी के प्रदूषण की समस्या को हल करने में रुचि नहीं ली और पवित्र नदी मथुरा में प्रदूषित रही। मथुरा में स्वच्छ यमुना का सपना दिल्ली और हरियाणा में यमुना की सफाई के बिना साकार नहीं किया जा सकता है।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments