पीएम मुद्रा लोन की सीमा दोगुनी कर 20 लाख की घोषणा कैंसर की 3 दवाओं पर नहीं लगेगी कस्टम ड्यूटी, निर्मला सीतारमण का ऐलान देश में उच्च शिक्षा के लिए 10 लाख रुपये लोन की घोषणा 'दुकानदारों को अपनी पहचान बताने की जरूरत नहीं'- कांवड़ यात्रा नेमप्लेट विवाद पर सुप्रीम कोर्ट
अफगानिस्तान खेल सकता है टी20 विश्व कप फाइनल ! प्रतिद्वंद्वी का इतिहास डरावना

स्पोर्ट्स

अफगानिस्तान खेल सकता है टी20 विश्व कप फाइनल ! प्रतिद्वंद्वी का इतिहास डरावना

स्पोर्ट्स/क्रिकेट/Delhi/New Delhi :

अफगानिस्तान की टीम के लिए अब तक का सफर टी20 विश्व कप में सपने जैसा रहा है। उसने अपने से बेहतर रैंकिंग वाली टीम को हराया और सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब वह फाइनल में पहुंचकर इतिहास रचने से एक कदम दूर है। अफगानिस्तान के लिए यह मुश्किल नहीं है क्योंकि साउथ अफ्रीका की टीम लक्ष्य का पीछा करने में कमजोर है और राशिद खान की टीम इसका बचाव करने में माहिर।

अफगानिस्तान की टीम ने आईसीसी टी20 विश्व कप में वो करके दिखाया जो कई दिग्गज खुलकर तो कई दबी आवाज में बोल रहे थे। इस टीम ने बड़े नाम का पत्ता साफ करते हुए सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली है। राशिद खान की इस टीम ने वो करिश्मा कर दिखाया, जिसकी कल्पना टूर्नामेंट से पहले करना दिन में ख्वाब देखना जैसा कहा जाता। न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसी ताकतवर टीम को मात देकर अफगानिस्तान सेमीफाइनल में पहुंचने वाली टीम बनी। अब उसकी नजर फाइनल पर है और चोकर्स का दाग झेलने वाली साउथ अफ्रीका से सामना है।
राशिद खान की कप्तानी वाली टीम ने इस बार के आईसीसी टी20 विश्व कप में कमाल कर दिया है। भारत, इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के साथ यह टीम सेमीफाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई। लीग स्टेज में एक मात्र वेस्टइंडीज से हारने वाली टीम को सुपर 8 के पहले ही मुकाबले में भारत से हार मिली थी। इसके बाद करो या मरो के मुकाबले में उतरी अफगान टीम ने ऑस्ट्रेलिया को पीटकर सनसनी फैला दी। सबकी नजर बांग्लादेश के खिलाफ होने वाले आखिरी मैच पर थी और यहां टीम ने 115 रन का बचाव करते हुए सेमीफाइनल में जगह बना ली।
फाइनल में पहुंच सकता है अफगानिस्तान
अफगानिस्तान की टीम के लिए अब तक का सफर टी20 विश्व कप में सपने जैसा रहा है। उसने अपने से बेहतर रैंकिंग वाली टीम को हराया और सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब वह फाइनल में पहुंचकर इतिहास रचने से एक कदम दूर है। अफगानिस्तान के लिए यह मुश्किल नहीं है क्योंकि साउथ अफ्रीका की टीम लक्ष्य का पीछा करने में कमजोर है और राशिद खान की टीम इसका बचाव करने में माहिर।
लक्ष्य का पीछा करने के मामले में कच्ची 
पिछली दो मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 148 रन और बांग्लादेश के सामने 115 रन के लक्ष्य का बचाव टीम ने सफलतापूर्वक किया। साउथ अफ्रीका की टीम लक्ष्य का पीछा करने के मामले में कच्ची है। वेस्टइंडीज के खिलाफ 135 रन बनाने में टीम के पसीने छूट गए और 7 विकेट गंवा दिए। आखिरी में मुकाबला जैसे तैसे जीता। नीदरलैंड्स के खिलाफ 103 रन बनाने में उसने 6 विकेट गंवा दिए थे। इस सीजन नेपाल जैसी कमतर आंकी जा रही टीम के खिलाफ आखिरी बॉल पर 1 रन से टीम जीती थी।
साउथ अफ्रीका का इतिहास डरावना, चोकर्स का टैग
आईसीसी इवेंट में साउथ अफ्रीका की टीम का इतिहास नॉक आउट मैच में डराने वाला है। इस टीम पर चोकर्स का टैग लगा हुआ है जिसे वो अब तक नहीं हटा पाई। 1992 के वनडे वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में दुर्भाग्य से बाहर हुई थी। 1996 में क्वार्टर फाइनल में उसे हार का सामना करना पड़ा। 1999 के सेमीफाइनल में टीम फिर से सेमीफाइनल में हारी 2007, 2015 और 2023 वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल से टीम आगे नहीं बढ़ पाई। 2014 टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में टीम को हार का सामना करना पड़ा था। इस टीम का इतिहास बताता है कि यह कभी फाइनल में नहीं पहुंच पाई।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments