अमेरिका की पलटी...! इजरायल को रोके 3500 बम, भारत के लिए बड़ा सबक

कूटनीति

अमेरिका की पलटी...! इजरायल को रोके 3500 बम, भारत के लिए बड़ा सबक

कूटनीति//Delhi/New Delhi :

इजरायल और हमास के बीच चल रही लड़ाई में अमेरिका ने बड़ा धोखा दिया है। अमेरिका ने इजरायल को भारी-भरकम बमों की सप्लाई को रोक दिया है। बताया जा रहा है कि कुल 3500 बम और तोप के गोले रोके गए हैं। विशेषज्ञ इसको लेकर भारत को भी सतर्क रहने की चेतावनी दे रहे हैं।

अक्सर कहा जाता है कि इजरायल अमेरिका के लिए 51वें राज्य की तरह से है। गाजा युद्ध में बुरी तरह से फंसे इजरायल को अब अमेरिका ने धोखा दे दिया है। बाइडन प्रशासन ने इजरायल को 3500 घातक बमों की आपूर्ति को रोक दिया है। इजरायल के राफा में चलाए जा रहे अभियान को रोकने के लिए बाइडन प्रशासन ने यह कदम उठाया है। इन 3500 बमों में से 2000 बम करीब 1 हजार किलो के हैं। इन बमों से शहरी इलाके में व्यापक तबाही मचाई जा सकती है और अमेरिका के डर की वजह है। राफा में 14 लाख फलस्तीनी लोगों ने शरण ले रखी है। विशेषज्ञों का कहना है कि अमेरिका के हथियारों की सप्लाई रोकने से पूरी दुनिया में संदेश गया है कि वॉशिंगटन एक विश्वसनीय हथियार सप्लायर नहीं है। उन्होंने भारत को भी सतर्क रहने की नसीहत दी है।
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि वह इजरायल को ऐसे हथियार नहीं देंगे, जिससे राफा में ऑल आउट अभियान शुरू किया जाए। राफा हमास का आखिरी गढ़ है, जिस पर अभी इजरायली सेना ने विजय हासिल नहीं की है। इजरायल ने जब गाजा में अभियान शुरू किया तब ज्यादातर फिलिस्तीनी इसी जगह पर चले गए और अभी भी शरण लिए हुए हैं। बाइडन ने यह भी दावा किया कि अमेरिका अभी भी इजरायल की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि अमेरिका इजरायल को आयरन डोम के लिए इंटरसेप्टर मिसाइल और अन्य रक्षात्मक हथियारों की सप्लाई करेगा।
अमेरिका के कदम से भारत रहे सतर्क
अमेरिका ऐतिहासिक रूप से इजरायल को सैन्य सहायता देता रहा है। अब बम और तोप के गोलों की सप्लाई रोकने पर विशेषज्ञ सवाल उठा रहे हैं। विश्लेषकों का कहना है कि अमेरिका जब अपने 51वें राज्य कहे जाने वाले इजरायल के साथ ऐसा कर सकता है तो कल्पना करिए भारत के साथ क्या होगा। भारत को हथियारों में आत्मनिर्भर बनने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments