आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि रात 08:43 बजे तक तदुपरांत त्रयोदशी तिथि प्रारंभ यानी गुरुवार, 18 जुलाई 2024
पुलिस को छका रहा अमृतपालः सिर्फ रात में सफर..रोज बदलता हुलिया, दो खास गुर्गों का साथ

क्राइम

पुलिस को छका रहा अमृतपालः सिर्फ रात में सफर..रोज बदलता हुलिया, दो खास गुर्गों का साथ

क्राइम //Punjab/Amritsar :

6 दिन से फरार अमृतपाल सिंह को लेकर जो कुछ भी सामने आया है, उससे एक बात तो तय है कि उसने भागने की फुलप्रूफ प्लानिंग कर रखी थी। जितने भी वीडियो नजर आए हैं, उससे यह साफ है कि उसने कितनी चालाकी से गाड़ियां बदलीं। 

‘वारिस पंजाब दे’ प्रमुख और खालिस्तानी विचारधारा के समर्थक अमृतपाल सिंह को तलाशना अब पंजाब पुलिस और केंद्रीय जांच एजेंसियों के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है। 6 दिन से फरार अमृतपाल को कई राज्यों में तलाशा जा रहा है। इस बीच अब तक जो खुलासे हुए हैं, उससे साफ है कि अमृतपाल ने फरार होने के लिए पहले से ही फुलप्रूफ प्लानिंग कर रखी थी। अमृतपाल के जो भी वीडियो आए हैं, उससे साफ दिख रहा है कि उसने कितनी चालाकी से गाड़ियां बदलीं। इससे वह कम से 3 लोकेशन पर पंजाब पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहा। 
पुलिस ने इसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया हुआ है। इस बीच बड़ी जानकारी सामने आई है, जिसमें बताया गया है कि पुलिस को पुलिस को चकमा देने के लिए अमृतपाल सिर्फ रात में सफर करता है। दिन होते ही वह अपना डेरा किसी खुफिया जगह डाल लेता है और फिर रात होने का इंतजार करता है। इसके अलावा वह हर रोज मोटरसाइकिल और अपना हुलिया बदल रहा है। पुलिस ने उसके बदले गए हुलिए की तस्वीरें भी जारी की हैं। उसके साथ उसके दो खासमखास गुर्गे पप्पलप्रीत और विक्रमजीत मौजूद हैं। पपलप्रीत का पाकिस्तान में अच्छा खासा नेटवर्क है। उधर, पुलिस ने प्लेटीना मोटरसाइकिल, ब्रेजा और मर्सडीज कार भी बरामद कर ली हैं, जिनके जरिए ही वह पुलिस को चकमा देकर फरार हुआ था। 
घर पहुंची पुलिस, कड़ी पूछताछ
पंजाब पुलिस बुधवार को अमृतपाल के जल्लूपुरखेड़ा स्थित घर पर पहुंची। पुलिस ने विदेशी फंडिंग के मामले में अमृतपाल की पत्नी किरणदीप कौर से पूछताछ की। अमृतपाल की पत्नी किरणदीप ब्रिटेन में रहने के दौरान खालिस्तानी संगठनो से जुड़ी हुई थीं। साथ ही, विदेशों से अमृतपाल को मिलने वाली फंडिंग में किरणदीप के रोल की जांच भी की जा रही है। उधर, सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि अमृतपाल बॉर्डर के रास्ते विदेश भाग सकता है, ऐसे में बॉर्डर पर नेपाल और पाकिस्तान बॉर्डर पर बीएसएफ और पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है। 
राजस्थान से उत्तराखंड तक छापेमारी 
अब तक अमृतपाल के 154 समर्थक और साथियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। उसके चाचा समेत कुछ लोगों को असम की डिब्रूगढ़ जेल में रखा गया है। इस बीच, अमृतपास के सहयोगी सरबजीत कलसी उर्फ दलजीत की पत्नी ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण रिट दायर की है. जिसमें उन्होंने दलजीत पर लगाए गए एनएसए को रद्द करने की मांग की है। कलसी को पुलिस ने अमृतपाल की फरारी के बाद गिरफ्तार किया था। उसे वर्तमान में असम की डिब्रूगढ़ जेल में रखा गया है। 
ऐसे बदली गाड़ियां 
18 मार्च को सबसे पहले अमृतपाल अपनी मर्सिडीज कार में भागा। वहीं इसके कुछ देर बाद का एक और वीडियो सामने आया, जिसमें अमृतपाल ब्रेजा कार में दिख रहा है, यानी साफ है कि पुलिस को चकमा देने के लिए अमृतपाल ने गाड़ी बदल ली। तीसरी वीडियो जो सामने आई, उसमें अमृतपाल ब्रेजा कार को भी छोड़ देता है और फिर बाइक पर सवार होता है। यह अमृतपाल का आखिरी वीडियो है, जो पुलिस के पास है। इसके बाद से अमृतपाल का कोई अता-पता नहीं। उसके साथ उसके दो खास गुर्गे भी हैं, जो हर समय उसके साथ नजर आ रहे हैं।
गुरुद्वारे में लंगर खाया और कपड़े बदले
गौरतलब है कि अमृतपाल का पीछा पुलिस ने अमृतसर में उसके जुल्लू खेरा गांव से शुरु किया था। 7 से 8 किलोमीटर दूर हरीके पर नाकाबंदी थी। अमृतपाल की गिरफ्तारी की प्लानिंग थी। अमृतपाल ने शुरुआत में ही रूट बदल लिया तो पुलिस भी एक्शन में आई। मोगा रोड पर पुलिस ने दूसरा नाका लगाया। यहां भी अमृतपाल यूटर्न लेकर एक गांव में घुस गया। पंजाब पुलिस की तीसरी टीम ने इसका पीछा शुरू किया। तब तक अमृतपाल जालंधर में एंट्री कर चुका था। रास्ते में एक लोकेशन पर भीड़ का फायदा उठाते हुए अमृतपाल ब्रेजा से निकल भागा। वो सीधे अपने गांव से करीब 35 किलोमीटर दूर नंगल अंबिया के गुरुद्वारे में पहुंचा। यहीं पर अमृतपाल ने लंगर खाया, कपड़े बदले। यहां उसने जींस और सफेद शर्ट और गुलाबी पगड़ी पहनी. फिर बाइक से फरार हो गया।
 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments