अमित शाह का बड़ा बयान: बोले- पीओके के हिंदू और मुस्लिम दोनों हमारे, बलोच संपर्क करें तो सोच सकते हैं 

राजनीति

अमित शाह का बड़ा बयान: बोले- पीओके के हिंदू और मुस्लिम दोनों हमारे, बलोच संपर्क करें तो सोच सकते हैं 

राजनीति//Delhi/New Delhi :

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) लागू होने के बाद पहली बार केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस पर बात की है। उन्होंने पाक अधिकृत कश्मीर को लेकर भी बड़ी टिप्पणी की है।

लोकसभा चुनाव से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक बार फिर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भारत का हिस्सा बताया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि वहां रहने वाले हिंदू हों, या मुसलमान सब हमारे अपने हैं। गृहमंत्री शाह नागरिकता संशोधन अधिनियम, 2019 (सीएए) के लागू होने के बाद पहली बार इस मामले पर बात कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुस्लिम और हिंदू दोनों हमारे अपने हैं।’
‘देश ने धर्म आधारित विभाजन देखा’
अमित शाह ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश ने धर्म-आधारित विभाजन (1947 में) देखा। पाकिस्तान के अल्पसंख्यक हिंदुओं को नागरिकता दिए जाने को लेकर सवाल के जवाब में अमित शाह ने कहा,  ‘आजादी के समय, पाकिस्तान में 23 प्रतिशत हिंदू थे, आज, 2.7 प्रतिशत हैं। वे कहां गए? उनका क्या हुआ? मैं आपको बता रहा हूं कि नाबालिग लड़कियों को धर्म परिवर्तन के लिए, शादी के लिए मजबूर किया गया था। उन्हें अत्याचारों का सामना करना पड़ा। ऐसे पीड़ित लोग भारत चले आए। उन्होंने अपनी माता बहनों की इज्जत बचाने के लिए भारत में शरण ली, हमें उन्हें नागरिकता क्यों नहीं देनी चाहिए?’
क्यों सीएए के दायरे से बाहर हैं मुस्लिम समुदाय?
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, जिन तीन देशों (पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश) को हमने सीएए में शामिल किया है, वे घोषित इस्लामिक देश हैं। नागरिकता देने जैसे बड़े फैसले कई उदाहरण को देखते हुए लिए जाते हैं। अगर भविष्य में बलूच जैसा कोई अन्य समुदाय हमसे संपर्क करता है, तो हम इसके बारे में (नागरिकता) सोचेंगे।
बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पहले भी पाक अधिकृत कश्मीर को भारत का हिस्सा बता चुके हैं। राज्यसभा में आर्टिकल 370 पर चर्चा के दौरान और उन्हांेने कहा था कि पाक अधिकृत कश्मीर के लिए 24 सीटों को आरक्षित रखा गया है क्योंकि पीओके हमारा है, उसे हमसे कोई नहीं छीन सकता।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments