ध्य प्रदेश के चर्चित जस्टिस रोहित आर्य ने भाजपा का दामन थामा प्रशिक्षु आईएएस पूजा खेडकर के विरुद्ध सख्ती, ट्रेनिंग रद्द कर वापस भेजा गया मसूरी अकादमी..! बदले में पूजा ने पुणे डीएम पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप हरभजन, युवराज सिंह और रैना मुश्किल में, पैरा एथलीट्स का उड़ाया था मजाक..FIR दर्ज आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की दशमी तिथि रात 08:33 बजे तक तदुपरांत एकादशी तिथि प्रारंभ यानी मंगलवार, 16 जुलाई 2024
आज़ाद हुए कुख्यात माफिया अतीक के दोनों वारिस , सुप्रीम कोर्ट ने बुआ शाहीन को सौंपी कस्टडी

सुप्रीम कोर्ट ने कुख्यात माफिया अतीक की बहन शाहीन को सौंपी अतीक के नाबालिग बच्चों की कस्टडी 

अदालत

आज़ाद हुए कुख्यात माफिया अतीक के दोनों वारिस , सुप्रीम कोर्ट ने बुआ शाहीन को सौंपी कस्टडी

अदालत//Uttar Pradesh /Lucknow :

सुप्रीम कोर्ट  ने यूपी के माफिया अतीक अहमद के दो नाबालिग बेटों की कस्टडी से जुड़े मामले का मंगलवार (10 अक्टूबर) को फैसला कर दिया है। बाहुबली अतीक की बहन शाहीन ने प्रयागराज बाल सुधार गृह  में रह रहे भाई के दोनों बच्चों की कस्टडी मांगते हुए याचिका दाखिल की थी। उत्तर प्रदेश सरकार ने अदालत को बताया कि, दोनों बच्चों को 09 अक्टूबर को ही सुधार गृह से शाहीन को सौंप दिया गया है।

दोनों बेटे हुए बुआ के सुपुर्द

 आपको बता दें, अतीक अहमद के दोनों चौथे और पांचवे नंबर के  बेटों अहजम अहमद और अबान को कल (9 अक्टूबर) को राजरूपपुर स्थित बाल सुधार गृह से निकाल कर उसकी बुआ परवीन अहमद कुरैशी  को सुपुर्द कर दिया गया। जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, अतीक अहमद की बहन परवीन अहमद पूरामुफ्ती थाना के हटवा गांव में रहती हैं। उन्होंने अतीक के दोनों बेटों के पालन-पोषण का जिम्मा लेते हुए उन्हें अपने सुपुर्द करने का एक प्रार्थना पत्र दिया था।

वारदात में कोडिंग के बावजूद आरोपी नहीं बनाया 

गौरतलब है कि, इसी साल 24 फरवरी को प्रयागराज में उमेश पाल और दो सरकारी गनर को गोलियों से छलनी कर दिया गया था। इस शूटआउट केस की जांच में इस बात का खुलासा हुआ था कि वारदात में जिस आईफोन का इस्तेमाल हुआ था उनकी कोडिंग अतीक के बेटे अहजम अहमद ने ही की थी। उमेश पाल शूटआउट केस  में कस्टडी रिमांड पर लिए गए अतीक अहमद के वकील खान सौलत हनीफ ने भी अपने बयान में ये बात पुलिस को बताई थी। बावजूद, पुलिस ने अहजम अहमद को आरोपी नहीं बनाया था।कुछ लोगों का मानना है कि ये लापरवाही कुछ सालो बाद एक नए अतीक को पैदा कर सकती है। 

पुलिस को लावारिस हालात में मिले थे अतीक के बेटे

उमेश पाल हत्याकांड के बाद प्रयागराज पुलिस को अहजम और उसके छोटे भाई आबान लावारिस हालत में घर के पास कसारी-मसारी में घूमते मिले थे। ये दोनों नाबालिग थे। इस वजह से धूमनगंज थाना पुलिस ने इन दोनों को बाल सुधार गृह भेज दिया। 4 मार्च से अतीक अहमद के दोनों बेटे प्रयागराज के राजरूपपुर इलाके के बाल सुधार गृह में रह रहे हैं।सर्वोच्च न्यायालय में यूपी के माफिया अतीक अहमद की बहन शाहीन ने सुधार गृह में रह रहे अपने भतीजों की कस्टडी मांगी थी। जिनके मामले का निपटारा आज सुप्रीम कोर्ट द्वारा किया गया। 

बता दें कि अतीक का चौथा बेटा अहजम (जिसने उमेश पाल हत्याकांड में आईफोन की कोडिंग की थी )इसी 5अक्टूबर को बालिग हो गया है।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments