आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि रात 08:43 बजे तक तदुपरांत त्रयोदशी तिथि प्रारंभ यानी बुधवार, 18 जुलाई 2024
जयपुर में तोड़ा कनाडा का 10 साल पुराना वर्ल्ड रिकॉर्ड: 44 किमी लंबी राखियों की ब्रेसलेट चेन से किया कमाल, बना दिया नया इतिहास

अजब-गजब

जयपुर में तोड़ा कनाडा का 10 साल पुराना वर्ल्ड रिकॉर्ड: 44 किमी लंबी राखियों की ब्रेसलेट चेन से किया कमाल, बना दिया नया इतिहास

अजब-गजब//Rajasthan/Jaipur :

जयपुर के जवाहर कला केंद्र में कनाडा का 10 साल पुराना वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ा गया। आईजीपी की 500 से ज्यादा लोगों की टीम ने राखियों को जोड़कर करीब 44 किलोमीटर लंबी ब्रेसलेट चेन बनाई और गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में एक नया इतिहास रच दिया। यह रिकॉर्ड ऐसा था, जो भारतीय संस्कृति और सभ्यता के साथ त्योहारों की खूबसूरती को बयां करता है।

दरअसल, 16 अगस्त को जवाहर कला केंद्र में आईजीपी ने लार्जेस्ट चेन ऑफ ब्रेसलेट के रूप में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नया इतिहास लिखा। ऑनलाइन मल्टी कैटेगरी गिफ्टिंग प्लेटफॉर्म आईजीपी की ओर से फूलों के बनाए भारत के मैप के चारों तरफ राखियों से सबसे लंबी ब्रेसलेट चेन बनाकर यह नया रिकॉर्ड बनाया गया है।
बनाई गई सभी राखियां हैंडमेड
इस रिकॉर्ड के दौरान कई जयपुराइट्स और गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम मौजूद रही। पूरी कैलकुलेशन के बाद बुधवार शाम को आईजीपी कंपनी को इस रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट दिया गया। वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए आईजीपी की टीम और कंपनी से जुड़ी गांवों की महिलाओं ने हैंड मेड तरीके से राखियां तैयार की थी। इसके लिए इन महिलाओं को ट्रेनिंग दी गई।
कनाडा का 1829.29 मीटर की ब्रेसलेट चेन का रिकॉर्ड
कनाडा की एक कंपनी ने 16 अगस्त 2013 को 19 हजार 953 ब्रेसलेट्स को जोड़कर करीब 1829.29 मीटर की सबसे लंबी चेन का रिकॉर्ड बनाया था। यह रिकॉर्ड करीब 10 साल तक बना रहा था।
जयपुर में बनाया 44648.93 मीटर का रिकॉर्ड
जयपुर की आईजीपी कंपनी ने 16 अगस्त 2023 को कनाडा के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। जयपुर के आर्टिजंस की ओर से 1 लाख 25 हजार 560 राखियों को जोड़कर बड़ी ही सावधानी से 1 लाख 46 हजार 486 फीट लंबी ब्रेसलेट चेन तैयार की गई। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने पूरी कैलकुलेशन के बाद आईजीपी कंपनी के फाउंडर तरुण जोशी को इस रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट दिया।
भारतीय संस्कृति और त्योहारों की खूबसूरती दर्शाने का उद्देश्य
आयोजक और कंपनी के फाउंडर तरुण जोशी ने बताया- राखियों से बनी इस ऐतिहासिक ब्रेसलेट चेन के बीचों-बीच आईजीपी का लोगो और इसकी टैगलाइन भी तैयार की गई, जो सभी भारतीयों को एक-दूसरे के साथ जोड़ने और उन्हें एकजुट करने की प्लेटफॉर्म की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। इस रिकॉर्ड का उद्देश्य वर्ल्ड लेवल पर भारतीय संस्कृति और इससे जुड़े त्योहारों की खूबसूरती को दर्शाना है।
एक ही साइज की राखियां बनवाई, महिलाओं को ट्रेनिंग दी
तरुण जोशी ने बताया- जयपुर में कंपनी का वेयर हाउस है और उसमें 500 लोग काम करते हैं। एक लाख से ज्यादा राखियां जयपुर में ही बनाई गई है। हम पिछले कुछ समय से सेलेब्रिटीज के साथ काम कर रहे थे। इस बार हमने कुछ अलग करने की प्लानिंग की। पिछले 6 महीने से हम इसको लेकर तैयारी कर रहे थे। हमने इसके लिए एक ही साइज की राखियां बनवाई। इस ब्रेसलेट को लेकर महिलाओं को खास तौर पर ट्रेनिंग दी। अलग-अलग राखियों को जोड़कर लंबाई बढ़ाते गए। इसमें अलग-अलग डिजाइन की राखियों का यूज किया गया है। बच्चों की राखियों को भी इसमें शामिल किया गया है। ये सभी राखियां हैंड मेड है, जो महिलाओं ने बनाई है।
500 से ज्यादा लोगों की टीम ने 1 महीने में जोड़ी राखियां
उन्होंने बताया कि राखियां बनने के बाद इसे जोड़ने का काम शुरू किया गया। आईजीपी की 500 लोगों की टीम इस पर काम कर रही थी। इसके अलावा हमारी कंपनी के लिए हर साल राखियां बनाने वाली अलग-अलग गांवों से जुड़ी करीब 100 से ज्यादा महिलाओं ने एक महीने तक इन राखियों को जोड़ने का काम किया। इन राखियों की मदद से यह वर्ल्ड रिकॉर्ड बना है।
बॉर्डर पर सैनिकों को भेजी जाएगी राखियां
तरुण जोशी ने बताया कि आईजीपी की टीम और कंपनी से जुड़ी गांवों की महिलाओं ने यह ऐतिहासिक ब्रेसलेट चेन बनाई है। इस टीम की मदद से ही यहां इन राखियों की चेन बनाकर बांधा गया और रिकॉर्ड बनाया। इन राखियों को ऐसे तैयार किया गया है कि इनको बाद में अलग किया जा सकेगा। इन राखियों को हाड़ौती हस्त शिल्प संस्थान (HHSS) के सदस्यों और सीमा पर रक्षा करने वाले बहादुर जवानों को उपहार में दिया जाएगा।
जेकेके के ओपन थिएटर में बनाया गया भारत का मानचित्र
आईजीपी के फाउंडर ने बताया- गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के इस इवेंट के लिए जवाहर कला केंद्र के ओपन थिएटर को चुना गया, यहां तिरंगें के रंग वाले फूलों से भारत का मैप बनाया गया और उसके चारों तरफ पैनल लगाए गए। राखियों की चेन को एक पैनल से दूसरे पैनल के साथ जोड़ते हुए पूरे 24 राउंड बनाए गए। इस मौके पर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के सदस्य ऋषि नाथ मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि रक्षाबंधन के इस अवसर पर आईजीपी ने राखियों से सबसे लंबी ब्रेसलेट चेन बनाकर एक नया बेंचमार्क स्थापित किया है। यह एक अलग तरह का अनुभव रहा है, जो भारत की विविधता भरी संस्कृति को एक करने जैसा है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments