भारत ने जिम्बाब्वे को आखिरी टी-20 मैच में 42 रनों से हराया और 4-1 की जीत के साथ शृंखला पर कब्जा जमाया केंद्रीय वित्त मंत्रालय की मंजूरी से महिला आईआरएस अधिकारी पुरुष बनी..! अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भाषण के दौरान चली गोलियां, बाल-बाल बचे..सुरक्षा अधिकारियों ने हमलावरों को किया ढेर आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की अष्ठमी तिथि सायं 05:26 बजे तक तदुपरांत नवमी तिथि प्रारंभ यानी रविवार, 14 जुलाई 2024
चंडीगढ़ मेयर चुनाव : सीजेआई बोले- बैलेट पेपर पर क्रॉस लगाने वाले ऑफिसर पर चले मुकदमा

अदालत

चंडीगढ़ मेयर चुनाव : सीजेआई बोले- बैलेट पेपर पर क्रॉस लगाने वाले ऑफिसर पर चले मुकदमा

अदालत//Delhi/New Delhi :

चंडीगढ़ मेयर चुनाव में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने बीजेपी पर धांधली करने के आरोप लगाए थे। बीजेपी का मेयर चुने जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के लिए याचिका लगाई गई थी।

चंडीगढ़ मेयर चुनाव मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सोमवार (19 फरवरी) को सुनवाई हुई। इस दौरान चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (सीजेआई) डीवाई चंद्रचूड़ ने अनिल मसीह को फटकार लगाई। इसके साथ ही सीजेआई ने कहा कि इस मामले की कल ही सुनवाई होगी। हमें बताया गया है कि वहां दलबदल की घटनाएं हो रही हैं। चुनाव भी जल्द होना जरूरी है।
सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ ने रिटर्निंग ऑफिसर अनिल मसीह से पूछा कि आप कैमरे की तरफ क्यों देख रहे थे? इस पर मसीह ने कहा कि वहां बहुत शोर हो रहा था। पार्षद कैमरा-कैमरा चिल्ला रहे थे। तभी मैंने उधर देखा कि क्या बात है।
अनिल मसीह को सुप्रीम कोर्ट की फटकार
सीजेआई ने अनिल मसीह से सवाल किया कि आप बैलट पेपर खराब क्यों कर रहे थे? इस पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि मैं साइन कर रहा था। इस पर सीजेआई ने फिर कहा कि लेकिन आप मार्क भी लगाते दिख रहे थे। जिस पर मसीह ने कहा कि जिन पेपर में पहले से खराबी की गई थी। उन पर मैंने निशानी बनाई। इस जवाब पर डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि आपको ऐसा करने का कोई कानूनी अधिकार नहीं था। आप पर मुकदमा चलना चाहिए। सीजेआई ने कहा कि हम डिप्टी कमिश्नर को निर्देश देंगे कि वह एक निष्पक्ष निर्वाचन अधिकारी नियुक्त करे। नए सिरे से चुनाव हो। निगरानी के लिए एक न्यायिक अधिकारी की भी नियुक्ति हो।
सीजेआई ने मंगाए सारे रिकॉर्ड
सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान सॉलिसीटर जनरल ने कहा कि मेरा सुझाव है कि हाई कोर्ट निर्वाचन अधिकारी की नियुक्ति करे। मतपत्र और रिकॉर्ड भी देखे जाएं। इस पर सीजेआई ने कहा कि हम हाईकोर्ट रजिस्ट्रार से कहेंगे कि एक अधिकारी को सारे रिकॉर्ड के साथ हमारे पास भेजें। हम उसका मुआयना कर आगे आदेश देंगे। इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार (20 फरवरी) को सुनवाई होगी।
रिकॉर्ड पहुंचने के लिए उचित इंतजाम
सीजेआई ने सुनवाई के दौरान कहा कि रिकॉर्ड के सुरक्षित यहां पहुंचने के लिए उचित इंतजाम किए जाएं। अधिकारी हमारे सामने मतगणना का पूरा वीडियो भी रखें। निर्वाचन अधिकारी अनिल मसीह हमारे सामने आए। उन्होंने स्वीकार किया कि उन्होंने 8 मतपत्र पर निशान लगाए। उनका कहना था कि जो मतपत्र खराब थे। उन पर निशान लगाए।
दलबदल को लेकर जताई चिंता
डीवाई चंद्रचूड़ ने इस दौरान अनिल मसीह को मंगलवार को होने वाली सुनवाई के दौरान भी मौजूद रहने को कहा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमें बताया गया है कि वहां दलबदल की घटनाएं हो रही हैं। चुनाव भी जल्द होना जरूरी है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले 18 फरवरी की देर रात चंडीगढ़ के नवनियुक्त मेयर मनोज सोनकर ने इस्तीफा दे दिया था। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी के तीन पार्षदों ने बीजेपी का दामन थाम लिया था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments