UP: लखनऊ मे एंटी भू माफिया सेल का गठन, अवैध तरीके से जमीन कब्जाने वालों पर होगा एक्शन VHP ने UP पुलिस से की देवबंद के खिलाफ एक्शन की मांग, गजवा-ए-हिंद के समर्थन का आरोप जमीन हड़पने के मामले में ED ने TMC नेता शाहजहां शेख के खिलाफ दर्ज किया एक और मामला महाराष्ट्र के पूर्व सीएम मनोहर जोशी का हार्ट अटैक से निधन किसानों को करनी होगी सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई: हरियाणा पुलिस MP: अनूपपुर में जंगली हाथी के हमले में एक शख्स की मौत, 2 लोग घायल
उम्र को पीछे छोड़ ,गुरुग्राम की 13 साल की सानिया ने घुड़सवारी में जीता गोल्ड

स्पोर्ट्स

उम्र को पीछे छोड़ ,गुरुग्राम की 13 साल की सानिया ने घुड़सवारी में जीता गोल्ड

स्पोर्ट्स//Haryana/Gurugram :

Age is just a number " इस कहावत को चरितार्थ करती है गुरुग्राम की १३ वर्षीय बच्ची सानिया शर्मा, जिसने "जम्पिंग चिल्ड्रन क्लासिक ब्रानज टूयर-2022 प्रतियोगिता" में घुड़सवारी में अंडर-14 आयु वर्ग मे गोल्ड मेडल  जीता। 

सानिया शर्मा ने सागर इक्वेस्ट्रियन स्पोट्र्र्स अकादमी जयपुर (jaipur) में फेडरेशन ऑफ इक्वेस्ट्रियन इंटरनेशनल के तत्वावधान में दो दिवसीय शो जम्पिंग चिल्ड्रन क्लासिक ब्रानज टूयर-2022 प्रतियोगिता में घुड़सवारी का जलवा दिखाया।  इस प्रतियोगिता में अंडर-14 आयु वर्ग में 18 घुड़सवारों ने भाग लिया था। प्रतियोगिता के चारों राउंड के बाद सानिया शर्मा ने गोल्ड, आराध्य सिंह ने सिल्वर और जयबीर सिंह ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। इस प्रतियोगिता में ब्रिगेडियर डीवीएस बिश्नोई ज्यूरी मेबर तथा कर्नल रघुवीर यादव इंटरनेशल ज्यूरी और प्रेसिडेंट ग्राउंड ज्यूरी थे |

बचपन से ही घुड़सवारी के प्रति था आकर्षण 

सानिया शर्मा की आज जो उम्र है,उस उम्र में बच्चे घर-परिवार में खेलकर अपना समय बिताते हैं | सानिया इस उम्र में घोड़े की लगाम पकड़कर अपने सपनों को पंख लगाने में महारत हासिल कर रही है। उम्र भले ही कम हो लेकिन हौंसलों में मजबूती सानिया को घुड़सवारी में सफलता दिला रही है। बचपन से ही घुड़सवारी के प्रति आकर्षित सानिया के इस सपने को पूरा करने में उनके माता पिता ने भी पूरा साथ दिया है। उनका मानना है कि बेटियों के सपनों को पंख लगाना हर माता-पिता की जिम्मेदारी है। जिस क्षेत्र में बेटियों की रुचि हों, उनका पूरा समर्थन और सहयोग हमें देना चाहिए। उनका कहना है कि हमारे देश की बेटियों ने विदेशों में नाम रोशन किया है |

2021 में भी जीता था जूनियर नेशनल प्रतियोगिता में ब्राउंज मेडल 

इससे पहले दिसम्बर 2021 में सानिया शर्मा ने मुंबई मे हुई जूनियर नेशनल प्रतियोगिता में ब्राउंज मेडल जीता था। अपनी कड़ी मेहनत के बल पर सानिया शर्मा इस सीजन के रीजनल्स भी क्लीयर कर चुकी है। सानिया ने इस जीत का श्रेय अपनी वरदीनंद अकादमी के कोच, परिजनों एवं अपने श्रीराम स्कूल अरावली गुरुग्राम की शिक्षिकाओं को दिया है|

 

 

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments