आज है विक्रम संवत् 2081 के वैशाख माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 06:47 बजे तक बुधवार 21 मई 2024
सागर जिले में बागेश्वर बालाजी मंदिर के निर्माण की नीव रखी पं० धीरेन्द्र शास्त्री ने,एक साल पहले किया था वादा

पं० धीरेन्द्र शास्त्री ने बागेश्वर बालाजी मंदिर के निर्माण की नींव रखी

धर्म

सागर जिले में बागेश्वर बालाजी मंदिर के निर्माण की नीव रखी पं० धीरेन्द्र शास्त्री ने,एक साल पहले किया था वादा

धर्म/कर्मकांड-पूजा/Madhya Pradesh/Bhopal :

बागेश्वर धाम के प्रसिद्ध पीठाधीश्वर पं० धीरेन्द्र शास्त्री मध्य प्रदेश के सागर जिले के एक छोटे से गांव सोमला पहुंचे।वहां उन्होंने ग्रामीणों को संबोधित किया और बागेश्वर बालाजी मंदिर के निर्माण की नींव रखी। बाबा बागेश्वर के दर्शन करने के लिए भी यहां लोगों की भीड़ रात 11 बजे तक जमी रही। वर्ष 2023 में पंडित धीरेंद्र शास्त्री इस गांव में पहुंचे थे और उन्होंने दोबारा आने का वादा किया था और इसी वादे को निभाने के लिए सोमला पहुंचे थे। बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने अपना 1 साल पुराना वादा पूरा कर दिया है। 

सागर शहर से 10 किलोमीटर दूर स्थित सोमला गांव में सरपंच प्रतिनिधि ने एक एकड़ जमीन दान दी है।  जिस पर बागेश्वर बालाजी हनुमान जी महाराज का मंदिर बनाया जाएगा। इस मंदिर का भूमि पूजन करने के लिए पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री सोमल गांव पहुंचे, उन्होंने कहा कि 1 साल पहले खुरई से लौटते समय गांव के लोगों से मुलाकात की थी।  तब कहा था कि इस गांव के लोगों ने इतना स्नेह दिया कि लगता है यही रह जाऊं, ऐसा तो हो नहीं सकता नहीं तो दूसरे लोगों की सेवा कैसे हो पाएगी, ऐसे में इस गांव में फिर आने का वादा किया था। 

शास्त्री ने युवाओं से आव्हान किया है कि कट्टर सनातनी बनो, सप्ताह में किसी एक दिन मंगल या शनि को मंदिर अवश्य जाओ।  मांस मदिरा का त्याग करो और गांव को इन बुराइयों से मुक्त करो।  पं शास्त्री ने दोहराया कि भारत एक दिन हिंदू राष्ट्र अवश्य बनेगा।  उन्होंने कहा कि सागर हमारी आत्मा है।  छतरपुर के अलावा देश के जिस जिले में सबसे ज्यादा आया हूं वह सागर है।  उन्होंने मंच से घोषणा कि सागर में जल्दी ही पांच दिन की कथा करेंगे। तब आसपास के कई गांवों में और लोगों के घर भी जाएंगे। 

बाबा ने कहा कि दूसरी बार तो आ गया हूं अब बार-बार आता रहूंगा।  देश में बाबा बागेश्वर के करोड़ों अनुयाई हैं, जहां भी उनके पहुंचने की खबर लोगों को मिलती है तो उनके दर्शनों के लिए हजारों लोगों की भीड़ जमा हो जाती है। ऐसा ही सागर में भी देखने को मिला।  लोगों ने बाबा का जगह-जगह बुंदेली परंपरा से स्वागत किया।  दूसरी तरफ उनकी भूमि पूजन का कार्यक्रम था। भव्य पंडाल की व्यवस्था की गई थी, जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे थे. बाबा ने भी सभी को आशीर्वाद दिया। 

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments