ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
पाकिस्तान में दुबारा होंगे चुनाव! नवाज के साथ सरकार बनाने से बिलावल का इनकार

राजनीति

पाकिस्तान में दुबारा होंगे चुनाव! नवाज के साथ सरकार बनाने से बिलावल का इनकार

राजनीति//Delhi/New Delhi :

पाकिस्तान चुनाव के नतीजे स्पष्ट होने के बाद भी वहां कोई सरकार बनती नहीं दिख रही है, जिससे फिर चुनाव होने की बात होने लगी है। पहले नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन और बिलावल की पार्टी पीपीपी में गठबंधन सरकार बनने की चर्चा थी लेकिन अब वो बात भी नहीं बन पाई है। बिलावल ने कहा कि वो जनता के फैसले का सम्मान करेंगे।

पाकिस्तान में चुनाव मजाक बनकर रह गए हैं। पहले हुए हिंसक चुनावों के बाद नतीजों में गड़बड़ी की बातें सामने आई। अब नतीजे स्पष्ट होने के बाद भी वहां कोई सरकार बनती नहीं दिख रही है, जिससे फिर चुनाव होने की बात होने लगी है। हालांकि, पहले नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन और बिलावल की पार्टी पीपीपी में गठबंधन सरकार बनने की चर्चा थी, लेकिन अब वो बात भी नहीं बन पाई है। 

बिलावल ने पीएम पद लेने से भी मना किया 
दरअसल, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने खुलासा किया है कि उन्होंने गठबंधन सरकार के फॉर्मूले को नहीं स्वीकारा है। उन्होंने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री का पद ऑफर हुआ था, लेकिन उन्होंने इस लेने से मना कर दिया। बिलावल ने कहा कि वो जनता के जनादेश के बिना शीर्ष पद नहीं लेना चाहते।
पीपीपी को नहीं मिली हैं ज्यादा सीटें
35 वर्षीय पूर्व विदेश मंत्री बिलावल पीपीपी का प्रधानमंत्री पद का चेहरा थे। हालांकि, 8 फरवरी के चुनावों में उनकी पार्टी नेशनल असेंबली में 54 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर रही। जेल में बंद इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) को सबसे ज्यादा सीटें मिली और नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग दूसरे स्थान पर रही।
बिलावल बोले- मैं अभी पीएम नहीं बनना चाहता
पीपीपी और पीएमएल-एन ने चुनाव के बाद गठबंधन तो बनाया लेकिन वो कई बैठकों के बावजूद सत्ता-साझाकरण फॉर्मूले पर आम सहमति तक पहुंचने में विफल रहे हैं। सिंध प्रांत में पीपीपी की चुनावी जीत का जश्न मनाने के लिए आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए बिलावल ने कहा, मुझे नवाज की पार्टी ने कहा कि तीन साल के लिए उन्हें प्रधानमंत्री बनने दें और फिर आपको शेष दो वर्षों के लिए प्रधानमंत्री पद दिया जाएगा। मैंने इसके लिए मना कर दिया। 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments