ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
एल्विश यादव को मिली ज़मानत , लेकिन क्यों नहीं आएगा जेल से बाहर

एल्विश यादव को मिली ज़मानत

क्राइम

एल्विश यादव को मिली ज़मानत , लेकिन क्यों नहीं आएगा जेल से बाहर

क्राइम //Haryana/Gurugram :

रेव पार्टियों में सांप के जहर के सप्लाई करने के आरोप में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में बंद यूट्यूबर एल्विश यादव की आज जिला न्यायालय में सुनवाई थी। सुनवाई से पहले एल्विश की लीगल वकीलों की टीम ने ये दावा किया था कि आज एल्विश को जमानत मिल जाएगी।लेकिन अभी वो जेल सेबाहर नहीं आएगा 

क्यों नहीं आएगा जेल से बाहर?
गुरुग्राम पुलिस ने ग्रेटर नोएडा की कोर्ट में एल्विश की प्रोडक्शन वारंट की अर्जी लगाई थी जो कोर्ट ने मंजूर की थी। गुरुग्राम के सेक्टर-53 में एल्विश के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज है। कोर्ट ने गुरुग्राम पुलिस को प्रोडक्शन वारंट में पूछताछ की इजाजत दी थी। अब ग्रेटर नोएडा जेल प्रशासन एल्विश को कल यानि शनिवार को गुरुग्राम की कोर्ट में पेश करेगी, गुरुग्राम की कोर्ट तय करेगी की आगे क्या करना है।

कब और कैसे हुई गिरफ्तारी
मिली जानकारी के मुताबिक सेक्टर-20 थाना पुलिस ने रविवार को एल्विश यादव को सांपों की तस्करी के मामले में गिरफ्तार में लिया था । जहां पर डीसीपी, एसीपी और थाना प्रभारी एल्विश यादव से पूछताछ कर रहे थे । रिपोर्ट में सांपों की तस्वीर का मामला सही साबित हुआ था। जिसके पास पुलिस हरकत में आई रविवार को एल्विश यादव को हिरासत में ले लिया था। डीसीपी विद्यासागर मिश्रा ने बताया कि रेव पार्टी मामले में एल्विश यादव को गिरफ्तार किया था। जहां आज उसे कोर्ट से जमानत मिल गई है।

रेव पार्टी का अरैंजमेंट दोस्तों के इशारे पर होता था
सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि दोस्त की बुकिंग पर रेव पार्टी कि जाती थी।विनय के कहने पर राहुल नामक युवक बुकिंग पर सांप और उनके जहर के साथ सपेरे की टोली लेकर रेव पार्टी में पहुंचता था। पुलिस ने एनडीपीएस की 6 धाराओं को केस में बढ़ाया था।  इनमें से दो धारा है 27 और 27ए  से कमजोर पड़ गई है। अब एनडीपीएस की चार धारा एल्विश पर लगी थी बाद में पुलिस ने अपनी तफ्तीश में त्रुटि मान एनडीपीएस एक्ट को हटा दिया था।

ऐसे आया था मामला लाइम लाइट में और हुई थी FIR दर्ज
भाजपा सांसद मेनका गांधी की संस्था पीपल फॉर एनिमल के एनिमल वेलफेयर ऑफिसर के पद पर कार्यरत गौरव गुप्ता ने एफआईआर कराई थी। इस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने सेक्टर-49 इलाके में रेड की थी। इस कार्रवाई के दौरान 5 आरोपी पकड़े गए थे। पुलिस को मौके से 20 मिलीमीटर स्नेक वैनम और 9 जहरीले सांप मिले थे। उनमें 5 कोबरा, एक अजगर, दो दोमुंहा सांप और एक रैट स्नेक शामिल थे। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि एल्विश यादव की पार्टी में वे सांप और जहर की सप्लाई किया करते थे। उसके बाद अब सेक्टर-49 कोतवाली पुलिस ने एल्विश के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कर ली थी।

गौरतलब है कि एल्विश को पहले किन्हीं अन्य कारणों की वजह से बेल नही हो पाई थी । अब आज एल्विश यादव की जमानत याचिका पर जिला न्यायालय के एसीजेएम की कोर्ट में सुनवाई की हैं। जिसमें यूट्यूबर एल्विश यादव को जमानत मिल गई हैं।
 

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments