किसान आंदोलन 2.0: 12 जिलों में धारा 144, 7 में इंटरनेट बंद, पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर ऐसे हालात

राजनीति

किसान आंदोलन 2.0: 12 जिलों में धारा 144, 7 में इंटरनेट बंद, पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर ऐसे हालात

राजनीति//Delhi/New Delhi :

13 फरवरी को किसान संगठनों के दिल्ली कूच के ऐलान से पुलिस प्रशासन सुरक्षा की दृष्टि से अलर्ट मोड पर है और एडवाइजरी जारी की है। अधिकारियों का कहना है कि किसान संगठनों के दिल्ली कूच आह्वान को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। कानून व्यवस्था को बाधित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पंजाब के किसान संगठनों की ओर दिल्ली कूच का ऐलान किए जाने के बाद रविवार को हरियाणा के 12 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। केंद्र ने हरियाणा के लिए पहले से मंजूर अर्धसैनिक बलों की 50 कंपनियों के अलावा रविवार को 14 और कंपनियां हरियाणा भेज दी हैं। हरियाणा में अब अर्धसैनिक बलों की 64 कंपनियां तैनात हो गई हैं। जिनमें बीएसएफ तथा सीआरपीएफ के जवान शामिल हैं।
पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने रविवार को अवकाश के बावजूद सुबह ही संवेदनशील जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ बातचीत करके सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लिया। इस बीच सीआईडी ने रिपोर्ट दी है कि पंजाब के किसान संगठनों ने कूच करना शुरू कर दिया है और वह सोमवार की शाम तक हरियाणा की सीमा में जुट जाएंगे। 13 फरवरी को हरियाणा की सीमा में प्रवेश करते हुए दिल्ली बॉर्डर पर कूच किया जाएगा।
इंटरनेट सेवाएं 13 फरवरी की रात 12 बजे तक बंद
इस बीच हरियाणा सरकार ने राज्य के अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, फतेहाबाद, हिसार, सिरसा, सोनीपत, झज्जर आदि जिलों में धारा 144 लागू की गई है। इसके अलावा अंबाला, कुरूक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा जिलों में रविवार की सुबह छह बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। इंटरनेट सेवाएं 13 फरवरी की रात 12 बजे तक बंद रहेंगी। इसके बाद स्थिति का रिव्यू करके अगले आदेश जारी किए जाएंगे।
किसान संगठनों को बातचीत के लिए बुलाया
एक तरफ जहां पंजाब के किसानों ने हरियाणा के लिए कूच करना शुरू कर दिया है वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने किसान संगठनों को बातचीत के लिए बुला लिया है। यह बैठक सोमवार की शाम पांच बजे चंडीगढ़ में होगी। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा संयुक्त किसान मोर्चा के अध्यक्ष जगजीत सिंह डल्लेवाल तथा किसान मजदूर मोर्चा के अध्यक्ष सरवन सिंह पंधेर के नाम जारी किए गए पत्र में कहा गया है कि 12 फरवरी की शाम पांच बजे चंडीगढ़ के सेक्टर-26 स्थित महात्मा गांधी स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्टे्रशन पंजाब में बैठक आयोजित की गई है, जिसमें केंद्र सरकार की तरफ से केंद्र मंत्री अर्जुन मुंडा, पीयूष गोयल तथा नित्यानंद राय भाग लेंगे। इस बैठक में किसानों के साथ बातचीत करके मामले का समाधान करने का प्रयास किया जाएगा।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments