भारत ने जिम्बाब्वे को आखिरी टी-20 मैच में 42 रनों से हराया और 4-1 की जीत के साथ शृंखला पर कब्जा जमाया केंद्रीय वित्त मंत्रालय की मंजूरी से महिला आईआरएस अधिकारी पुरुष बनी..! अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भाषण के दौरान चली गोलियां, बाल-बाल बचे..सुरक्षा अधिकारियों ने हमलावरों को किया ढेर आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की अष्ठमी तिथि सायं 05:26 बजे तक तदुपरांत नवमी तिथि प्रारंभ यानी रविवार, 14 जुलाई 2024
राजीव गांधी फिनटेक डिजिटल इंस्टीट्यूट का शिलान्यास, जोधपुर और पाली में आई-स्टार्ट नेस्ट इंक्यूबेटर सेंटर

एजुकेशन, जॉब्स और करियर

राजीव गांधी फिनटेक डिजिटल इंस्टीट्यूट का शिलान्यास, जोधपुर और पाली में आई-स्टार्ट नेस्ट इंक्यूबेटर सेंटर

एजुकेशन, जॉब्स और करियर/निजी/Rajasthan/Jaipur :

672.45 करोड़ रूपये की लागत से इंस्टीट्यूट तैयार होगा, जिसमें विद्यार्थियों और स्टार्टअप्स सहित युवाओं को विश्वस्तरीय मंच मिलेगा।

विद्यार्थियों में उद्यमिता, कौशल विकास के लिए जोधपुर और पाली (वर्चुअल) में आई-स्टार्ट नेस्ट इंक्यूबेटर सेंटर का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जनकल्याणकारी योजनाओं में आईटी के इस्तेमाल से लोगों की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव आए, मुझे हमारे आईटी टैलेंट पर गर्व है। हम उनके सपनों को पूरा करेंगे।
गहलोत रविवार को जोधपुर के राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय परिसर में राजस्थान डिजिफेस्ट एण्ड जॉब फेयर के समापन समारोह व राजीव गांधी फिनटेक डिजिटल इंस्टीट्यूट के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 672.45 करोड़ रूपये की लागत से इंस्टीट्यूट तैयार होगा, जिसमें विद्यार्थियों और स्टार्टअप्स सहित युवाओं को विश्वस्तरीय मंच मिलेगा। 
राजस्थान स्टार्टअप नीति-2022 का विमोचन
गहलोत ने राजस्थान स्टार्टअप नीति-2022 का विमोचन किया। इस नीति से प्रदेश में स्टार्टअप्स को प्रोत्साहन मिलेगा, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और निवेश क्षेत्र में भी विस्तार होगा। इसमें एससी-एसटी सहित हर वर्ग का विशेष ध्यान रखा गया है।
जोधपुर और पाली में इंक्यूबेटर सेंटर शुरू
मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों में उद्यमिता, कौशल विकास के लिए जोधपुर और पाली (वर्चुअल) में आई-स्टार्ट नेस्ट इंक्यूबेटर सेंटर का लोकार्पण किया। इस दौरान गहलोत ने स्कूल एण्ड रूरल इनोवेशन चैलेंज के विजेताओं को 41.15 लाख रुपये के प्रतीकात्मक चेक पुरस्कार के रूप में वितरित किए। उल्लेखनीय है कि इससे पहले प्रदेश के जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बीकानेर, भरतपुर तथा चूरू में इंक्यूबेटर सेंटर स्थापित हो चुके हैं।
12 स्टार्टअप्स को 1 करोड़ रुपये की फंडिंग
मुख्यमंत्री ने समारोह में प्रदेश के 12 स्टार्टअप्स को 1 करोड़ रुपये की फंडिंग भी वितरित की। उल्लेखनीय है कि आई-स्टार्ट के तहत अभी 3000 से अधिक स्टार्टअप्स रजिस्टर्ड हैं। इन्हें 30 करोड़ रूपये की राशि वितरित की गई, जिससे प्रदेश में 200 करोड़ रूपये तक का निवेश आया है। साथ ही 21 हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिला है।
तीन दिवसीय जॉब फेयर, लाखों रुपये तक का पैकेज
गहलोत ने कहा कि जोधपुर में तीन दिवसीय जॉब फेयर में 23 हजार से अधिक युवाओं ने हिस्सा लिया। इसमें विभिन्न कंपनियों द्वारा रोजगार के लिए 3500 से अधिक युवाओं का चयन किया गया है। यहां 9200 से अधिक युवाओं को शॉर्टलिस्ट भी किया गया है, जो कि एक बड़ी उपलब्धि है। उल्लेखनीय है कि फेयर में युवाओं को लाखों रूपये के पैकेज भी दिये गए हैं।
राजस्थान डिजिटल यात्रा रवाना
मुख्यमंत्री ने राजस्थान डिजिटल यात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया। यह यात्रा हर जिले में पहुंचेगी। वहां पर आमजन से बातचीत कर आईटी से उनके जीवन में आए बदलावों की जानकारी लेगी। एक माह बाद रिपोर्ट तैयार कर राज्य सरकार को सौंपी जाएगी। इसी रिपोर्ट के आधार पर आगामी योजनाएं भी तैयार की जाएगी।
आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक को पीछे छोड़ देगा राजस्थान
प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि राज्य में आईटी का प्रयोग कर प्रदेश के हर वर्ग को लाभ पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। हम जल्द ही आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक जैसे राज्यों को पीछे छोड़ देंगे। सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा ने डिजिफेस्ट-2022 की जानकारी देते हुए कहा कि जोधपुर में सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार की अपार संभावनाएं हैं। 
जोधपुर फ्यूचर सेंटर ऑफ लर्निंग
नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्मार्ट गवर्नमेंट के सीईओ जे.आर.के. राव ने कहा कि राजस्थान में तकनीक के जरिए राजकीय सेवाएं आमजन तक पहुंचाने का प्रयोग किया जा रहा है। इससे ई-गवर्नेंस में राजस्थान पूरे देश में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि मैं जोधपुर को फ्यूचर सेंटर ऑफ लर्निंग के रूप में देख रहा हूं। सामाजिक कार्यकर्ता निखिल डे ने कहा कि राजस्थान में आईटी के जरिए लोगों को जोड़ने का काम किया जा रहा है। आगामी बजट के लिए आमजन से सुझाव लेने की पहल अनुकरणीय है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments