ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
गृहे-गृहे यज्ञ अभियान: बुद्ध पूर्णिमा को राष्ट्र के नव निर्माण के लिए होगा आध्यात्मिक प्रयोग

धर्म

गृहे-गृहे यज्ञ अभियान: बुद्ध पूर्णिमा को राष्ट्र के नव निर्माण के लिए होगा आध्यात्मिक प्रयोग

धर्म/कर्मकांड-पूजा/Rajasthan/Jaipur :

अखिल विश्व गायत्री परिवार की ओर से 23 मई बुद्ध पूर्णिमा (पीपल पूनम) को पर्यावरण संरक्षण, राष्ट्र नव निर्माण, देश में सुख-शांति-समृद्धि के लिए एक साथ एक समय में घर-घर गायत्री महायज्ञ का आयोजन किया जाएगा। 

बुद्ध पूर्णिमा (पीपल पूनम) को गायत्री परिवार के सदस्य अलग-अलग घरों में जाकर गायत्री महायज्ञ संपन्न कराएंगे। यज्ञ के बाद तरु प्रसाद के रूप में पौधे दिए जाएंगे। लोगों को रक्तदान-अंगदान का संकल्प कराया जाएगा। लोगों को गायत्री परिवार के संस्थापक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा लिखित पुस्तकें निशुल्क भेंट की जाएगी।
जयपुर जिले में 11 हजार घरों में गायत्री महायज्ञ संपन्न कराने की रूपरेखा तैयार की जा रही है। वहीं, पूरे प्रदेश में एक लाख से अधिक स्थानों पर यज्ञ कराए जाएंगे। गायत्री परिवार के सभी शक्ति पीठ, चेतना केन्द्र, प्रज्ञा मंडल, युवा मंडल, महिला मंडल, नव चेतना विस्तार केंद्र प्रमुख, गायत्री प्रज्ञा पीठों से जुड़े सक्रिय परिजनों को जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। आचार्य गण संक्षिप्त हवन सामग्री के साथ विधि-विधान से यज्ञ संपन्न कराएंगे। नए परिवारों में घर-घर यज्ञ कराने पर विशेष जोर दिया जाएगा। कई मंदिरों में भी सामूहिक रूप से यज्ञ हुआ था। धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं को भी गृहे-गृहे यज्ञ अभियान से जोड़ा जा रहा है।
घरों के अलावा व्यवसायिक प्रतिष्ठानों, मंदिरों और कॉलोनियां में यज्ञ कराया जाएगा। लोग स्वतःरू भी इस यज्ञ को कर सकते है। इसके प्रशिक्षण के लिए यूट्यूब, इंटरनेट, सोशल मीडिया में इसका वीडियो अपलोड किए गए हैं। अलग से मोबाइल पंडित एप भी बनाया गया है। यज्ञ सामग्री स्थानीय शक्ति पीठ, प्रज्ञा पीठ और प्रज्ञा मंडल में उपलब्ध है। गायत्री परिवार ने लोगों से अपील की है कि सभी इस दिन अपने-अपने घरों, प्रतिष्ठानों में यज्ञ करें।
गायत्री परिवार राजस्थान के प्रभारी ओमप्रकाश अग्रवाल ने बताया कि वैश्विक सुख-शांति और प्रगति के लिए, विश्व में एकता, समता, ममता का वातावरण निर्मित करने के लिए विराट वैश्विक यज्ञीय प्रयोग बीते कई वर्षों से अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के मार्गदर्शन में किया जा रहा है। इस वर्ष भी गायत्री परिवार बुद्ध पूर्णिमा को यज्ञ दिवस के रूप में मनाएगा। इस अवसर पर देश-विदेश में लाखों घरों में एक साथ गृहे-गृहे गायत्री यज्ञ किया जाएगा।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments