CM केजरीवाल को कल गिरफ्तार कर सकती है CBI NDA के स्पीकर पद के उम्मीदवार ओम बिरला ने पीएम मोदी से मुलाकात की दिलेश्वर कामत जेडीयू संसदीय दल के नेता होंगे पूर्व फुटबॉलर बाइचुंग भूटिया ने राजनीति छोड़ी, सिक्किम चुनाव में हार के बाद फैसला घाटकोपर होर्डिंग केस: IPS कैसर खालिद सस्पेंड, उनकी इजाजत पर लगा था होर्डिंग पुणे पोर्श कांड: आरोपी नाबालिग को हिरासत से रिहा किया गया लोकसभा के 7 सांसदों ने नहीं ली शपथ, कल स्पीकर चुनाव में नहीं कर सकेंगे मतदान जगन मोहन रेड्डी की पार्टी स्पीकर चुनाव में NDA उम्मीदवार का समर्थन कर सकती है कल सुबह 11 बजे तक के लिए लोकसभा स्थगित स्पीकर चुनाव के लिए बीजेपी ने व्हिप जारी किया, सभी सांसदों को लोकसभा में रहना होगा मौजूद स्पीकर चुनाव: कांग्रेस का व्हिप जारी, कल सभी सांसदों को लोकसभा में मौजूद रहने को कहा आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के कृष्णपक्ष की पंचमी तिथि रात 08:54 बजे तक यानी बुधवार, 26 जून 2024 Jaipur: मैसर्स तंदूरवाला में कार्रवाई के दौरान पायी गयीं भारी अनियमितताएं..लाइसेंस, साफ़ सफाई सहित अन्य दस्तावेज मिले नदारद मायावती का भतीजे आकाश आनंद पर उमड़ा प्रेम, 47 दिन पुराने फैसले को पलट बनाया राष्ट्रीय संयोजक राजस्थान में आषाढ़ माह के चौथे दिन मेवाड़ में छाये बादल, मौसम विभाग भी बोला मानसून का हो गया प्रवेश
पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने कराई थी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या! सामने आए चौंकाने वाले तथ्य

क्राइम

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने कराई थी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या! सामने आए चौंकाने वाले तथ्य

क्राइम ///Otawa :

भारत में मोस्ट वांटेड खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की 18 जून, 2023 को कनाडा में एक गुरुद्वारे की पार्किंग में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 

इस बारे में मिली जानकारी के अनुसार हरदीप सिंह निज्जर के पड़ोस में मेजर जनरल से लेकर हवलदार तक कई पूर्व आईएसआई अधिकारी रहते हैं। उन्होंने कहा कि निज्जर को खत्म करने का काम शायद इन्हीं लोगों में से किसी को दिया गया होगा, ताकि स्थानीय ड्रग कारोबार पर सीधा नियंत्रण हो सके।
क्या कनाडाई खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या पाकिस्तान की जासूसी एजेंसी आईएसआई ने करवाई थी? भारत सरकार के सूत्रों ने बताया कि निज्जर के किसी परिचित के बिना उसके करीब जाना असंभव था। सूत्रों ने कहा कि आईएसआई भारत को बैकफुट पर लाने के लिए निज्जर को खत्म करना चाहती होगी। उनके मुताबिक, राहत राव और तारिक कियानी कनाडा में आईएसआई के दो एजेंट्स हैं, जो पाकिस्तानी एजेंसी के लिए सबसे ज्यादा काम कर रहे हैं।
भारत की मोस्ट वांटेड सूची में
वे कथित तौर पर उन आतंकवादियों के भी हैंडलर हैं, जो भारत से आ रहे हैं और मोस्ट वांटेड की सूची में हैं। सूत्रों के मुताबिक, संभावित व्यावसायिक कारणों से और नए ड्रग पेडलर्स से अधिक फिरौती पाने के लिए, राव और कियानी निज्जर की हत्या के काम में शामिल हो सकते हैं। सूत्रों ने यह भी कहा कि किसी भी अनजान व्यक्ति के लिए निज्जर के करीब जाना असंभव था, क्योंकि वह बहुत सतर्क और सतर्क रहता था।
पड़ोस में रहते हैं आईएसआई के कई पूर्व अधिकारी
सूत्रों ने बताया कि हरदीप सिंह निज्जर के पड़ोस में मेजर जनरल से लेकर हवलदार तक कई पूर्व आईएसआई अधिकारी रहते हैं। उन्होंने कहा कि निज्जर को खत्म करने का काम शायद इन्हीं लोगों में से किसी को दिया गया होगा, ताकि स्थानीय ड्रग कारोबार पर राव और कियानी का सीधा नियंत्रण हो सके। सूत्रों ने कहा कि निज्जर समय के साथ शक्तिशाली होता जा रहा था और स्थानीय कनाडाई समुदाय में भी लोकप्रियता हासिल कर रहा था।
राहत राव, तारिक कियानी और गुरचरण पुन्नुन की तिकड़ी पर शक
उनके अनुसार, राहत राव, तारिक कियानी और अलगाववादी नेता गुरचरण पुन्नुन की तिकड़ी संभवतः ड्रग और इमीग्रेशन बिजनेस (आव्रजन व्यवसाय) को नियंत्रित करने के लिए इस ऑपरेशन में शामिल थी, जो उनके लिए आय का मुख्य स्रोत है। सूत्रों ने कहा कि वधावा सिंह और रणजीत सिंह नीता जैसे पाकिस्तान स्थित कम्युनिटी लीडर्स के साथ हरदीप सिंह निज्जर की निकटता और संबंध भी आईएसआई के लिए एक समस्या थी। क्योंकि ये लोग बड़े कार्यों को अंजाम देने में असमर्थ थे।
हरदीप सिंह निज्जर की गोली मारकर हत्या
सूत्रों ने कहा, पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बड़ी कार्रवाई में ‘हैप्पी पीएचडी’ जैसे युवा कार्यकर्ता मारे गए। इसलिए, संभवतः कनाडा में सभी अवैध व्यवसायों के पुनर्गठन के लिए, उन्होंने हरदीप सिंह निज्जर को पहला लक्ष्य बनाया। आपको बता दें कि खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की इस साल 18 जून को कनाडा के सरे में एक गुरुद्वारे की पार्किंग में दो अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments