पंजाब में कांग्रेस को बड़ा झटका, तेजिंदर सिंह बिट्टू कांग्रेस छोड़ थामेंगे BJP का दामन एलन मस्क का भारत दौरा फिलहाल टला, 21-22 अप्रैल को आने वाले थे टेस्ला के सीईओ ओडिशा नाव हादसे में 4 की डूबकर मौत, रेस्क्यू टीमें 7 लापता लोगों की कर रहीं खोज आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह 10 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे बैतूल: ट्रक की टक्कर से पलटी सुरक्षाकर्मियों से भरी बस, चुनाव ड्यूटी करके लौट रहे थे जवान केरल में त्रिशूर पूरम उत्सव का जश्न, लोगों ने की आतिशबाजी पाकिस्तान को बड़ा झटका, अमेरिका ने बैलिस्टिक मिसाइल प्रोग्राम के लिए आपूर्ति करने वाली 4 कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध पीएम नरेंद्र मोदी आज कर्नाटक के बेंगलुरु और चिक्काबल्लापुरा में करेंगे जनसभा को संबोधित अमेरिका के ग्रीनबेल्ट स्थित पार्क में गोलीबारी, हाईस्कूल के पांच छात्र घायल आज महाराष्ट्र में नांदेड़ और परभणी में पीएम मोदी की रैली, करेंगे जनसभा को संबोधित कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज 20 अप्रैल को भागलपुर में करेंगे रैली प्रियंका गांधी आज 20 अप्रैल को करेंगी केरल का दौरा IPL 2024: लखनऊ ने घरेलू मैदान में चेन्नई को हराया पहले चरण में रात 9 बजे तक 62.37% वोटिंग, 102 सीटों पर हुआ चुनाव ईरान-इजरायल तनाव: ग्लोबल स्तर पर सोने की कीमतों में 1.5 फीसद का उछाल पश्चिम बंगाल: कूच बिहार के चंदामारी में मतदान केंद्र के सामने पथराव आज है विक्रम संवत् 2081 के चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि रात 10:41 बजे तक यानी शनिवार 20 अप्रेल 2024
उज्जैन में जुटेंगे इतिहासकार और पुरातत्वविद्, लिखेंगे नया इतिहास..!

एजुकेशन, जॉब्स और करियर

उज्जैन में जुटेंगे इतिहासकार और पुरातत्वविद्, लिखेंगे नया इतिहास..!

एजुकेशन, जॉब्स और करियर//Madhya Pradesh/Ujjain :

इसी वर्ष अप्रैल में मध्य प्रदेश की एतिहासिक नगरी उज्जैन में महाकुंभ है और यह महाकुंभ होगा इतिहासकारों और पुरातत्वविदों का। इसमें देशभर से विद्वान इस मकाकुंभ में पधारने वाले हैं और वे यहां पर मंथन और शोध प्रस्तुत करने के बाद नया इतिहास लिखने की संभावनाओं को टटोलेंगे। 

पुरातत्वविद् डॉ. रमण सोलंकी ने इस सारी कावयद के बारे में विस्तार से बताया कि इसी साल सात से नौ अप्रैल तक उज्जैन में इतिहास समागम देवास रोड स्थित विक्रम कीर्ति मंदिर में आयोजित होने जा रहा है। यह आयोजन तीन वर्षों से निरंतर महाराजा विक्रम शोध पीठ मध्यप्रदेश शासन द्वारा किया जा रहा है। विक्रम विश्वविद्यालय, अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना और अश्विनी शोध संस्थान महिदपुर मिलकर आयोजन करते रहे हैं। सोलंकी का कहना है कि आजादी के बाद इतिहासकारों ने देश के इतिहास को विकृत कर पेश किया है। सही इतिहास को कभी सामने ही नहीं आने दिया। हम इस आयोजन के माध्यम से इन इतिहासकारों के लिखे इतिहास के बजाय सही इतिहास को सब तक पहुंचाना चाहते हैं।
उनका कहना है कि आज के समय में देश के इतिहासकार जमीन के गर्त में इतिहास खोज रहे हैं। नया इतिहास लेखन कर इतिहास का नवनिर्माण कर रहे हैं। विकृत इतिहास लिखने वाले इतिहासकारों ने आज तक रामायण व महाभारत के प्रमाण भी प्रस्तुत नहीं किए हैं। साथ ही सफल सभ्यताओं और लिपियों के विस्तारीकरण को भी नहीं बताया है। जो इतिहास बताया गया है, उसमें महापुरुषों की गलत और विकृत जानकारी दी गई है। 
तीन दिवसीय महाकुंभ में क्या-क्या होगा
देशभर के नामचीन इतिहासकार सात अप्रैल 2024 को इस समागम में शामिल होंगे। वे शोध पत्र लेकर आएंगे। चुनींदा इतिहासकार आठ अप्रैल को शोध पत्र का वाचन करेंगे। नौ अप्रैल को गुड़ी पड़वा के दिन इस समागम का समापन होगा। इतिहासकारों के इस समागम में योजनाबद्ध और लिपिबद्ध तरीके से शासन को इतिहास में बदलाव लाने का प्रस्ताव दिया जाएगा। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ। मोहन यादव इस संस्था के संरक्षक हैं। उन्होंने ही इतिहास समागम की शुरुआत की थी। वर्तमान में भी उनके मार्गदर्शन में ही यह कार्यक्रम आयोजित हो रहा है।
जन-जन के प्रिय राजा थे सम्राट विक्रमादित्य
डॉ. आरसी ठाकुर ने कहा कि  सम्राट विक्रमादित्य संवत् प्रवर्तक थे, उन्हें भुला दिया गया है। आज के समय में इतिहास को फिर से लिखने की आवश्यकता है। हमारे इतिहास को मुगलों और आजादी के पहले अंग्रेजों ने विकृत है। हमारे पास कई ऐसी सील व सिक्के हैं जो महाराजा विक्रमादित्य के होने की पुष्टि करते हैं। वह कोई किंवदंती नहीं बल्कि हकीकत थे। अश्विनी शोध संस्थान महिदपुर के निदेशक डॉ. आरसी ठाकुर ने कहा कि आज हमारे पास सिक्के, मूर्तियां, खिलौने, आभूषण व कई ऐसे ग्रंथ प्रमाण के रूप में मौजूद हैं, जिनसे पता चलता है कि राजा विक्रमादित्य जन-जन के प्रिय राजा थे। सम्राट विक्रमादित्य ने ही अयोध्या में भगवान श्री राम और माता सीता की मूर्ति स्थापित की थी। वामपंथी साहित्यकार व इतिहासकारों ने हमें गलत जानकारी दी। प्राचीन इतिहास को लोगों को सही तरीके से दिखाना और सही जानकारी देना ही हमारा उद्देश्य है।  

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments