आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह पूर्णिमा तिथि दोपहर 03:46 तक बजे तक यानी रविवार, 21 जुलाई 2024
अगर सत्ता में आयी तो शाहबानो केस की तरह कांग्रेस पलट देगी राम मंदिर का फैसला :आचार्य प्रमोद कृष्णम का दावा

अगर सत्ता में आयी तो शाहबानो केस की तरह कांग्रेस पलट देगी राम मंदिर का फैसला :आचार्य प्रमोद कृष्णम

राजनीति

अगर सत्ता में आयी तो शाहबानो केस की तरह कांग्रेस पलट देगी राम मंदिर का फैसला :आचार्य प्रमोद कृष्णम का दावा

राजनीति//Delhi/New Delhi :

लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैली में राम मंदिर के मुद्दे पर कांग्रेस को पहले से ही घेर रहे हैं, अब इसी मुद्दे पर उसके पूर्व नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम भी कांग्रेस को घेरते हुए बड़ा आरोप लगाया गया है और कहा कि अगर केंद्र की सत्ता में कांग्रेस की सरकार आई तो राम मंदिर के फैसले को पटलने का काम करेगी।

Acharya Pramod Krishnam: इतना ही नहीं, इस पार्टी के एक बड़े नेता ने फैसला बदलने को लेकर एक बड़ी कमेटी का गठन करने का निर्णय भी किया है। कांग्रेस के पूर्व नेता यह बयान ऐसे समय दिया है, जब देश में कल लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण का मतदान होने जा रहे है। ऐसे में यह बयान कांग्रेस के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

राम मंदिर फैसला पलटने के लिए बनेगा आयोग

पूर्व कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगया है। राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि अगर कांग्रेस फिर सत्ता में आती है तो वो राम मंदिर पर फैसला पलट देगी। उन्होंने कहा मैंने कांग्रेस में 32 साल से अधिक समय बिताया है और जब राम मंदिर का फैसला आया, तो राहुल गांधी ने अपने करीबी सहयोगियों के साथ बैठक में कहा कि कांग्रेस सरकार बनने के बाद वे एक महाशक्ति आयोग बनाएंगे।

शाह बानो की तरह पलटा जाएगा फैसला

उन्होंने कहा कि महाशक्ति आयोग वैसे ही राम मंदिर के फैसले को पटलने का काम करेगा, जैसे राजीव गांधी ने शाह बानो के फैसले को पलट दिया था। कांग्रेस बड़ी पार्टी है। इस पार्टी की जब स्थापना हुई थी, तब देशभक्त नेता थे। उस वक्त की कांग्रेस ने देश को जोड़ने का काम किया था, जिसमें महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू जैसे लोगों ने भारत को जोड़ने का काम किया। हालांकि वर्तमान की कांग्रेस देश को तोड़ना चाहती है।

राहुल गांधी की टीम देश को तोड़ने में जुटी

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और उनकी टीम देश को जाति, धर्म, भाषा और क्षेत्र के नाम पर तोड़ने में जुटी हुई है। इसलिए वह गलत बयानबाजी कर रहे है। कांग्रेस ने राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का निमंत्रण मिलने के बाद भी उसके अस्वीकार्य कर दिया था। इसके बाद भी मैं इस समारोह में शामिल हुआ तो उन्होंने मुझे पार्टी से निष्कासित कर दिया ।कांग्रेस के नेता रामविरोधी हैं और तभी वो राम मंदिर के उद्घाटन समारोह में शामिल नहीं हुए थे।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments