आईपीएल 2024ः सनराइजर्स हैदराबाद ने दर्ज की लगातार चौथी जीत, एकतरफा मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स को 67 रनों से हराया
ममता - अखिलेश ने बनाया नया मोर्चाः कांग्रेस को किनारे कर बीजद पर डाले जा रहे डोरे 

राजनीति

ममता - अखिलेश ने बनाया नया मोर्चाः कांग्रेस को किनारे कर बीजद पर डाले जा रहे डोरे 

राजनीति//Delhi/New Delhi :

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अगले हफ्ते ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से भी मुलाकात करेंगी, जो बीजू जनता दल के प्रमुख हैं।

केंद्र की तीन मुख्य विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी और कांग्रेस दोनों से दूरी बनाने का फैसला लिया है। पार्टियों का ये फैसला इस ओर इशारा करता है कि वे इन दोनों पार्टियों के साथ एक समान व्यवहार करेंगे। कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी से समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव की मुलाकात के बाद ये फैसला लिया गया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अगले हफ्ते ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से भी मुलाकात करेंगी, जो बीजू जनता दल के प्रमुख हैं। 
तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय ने कहा, ‘राहुल गांधी ने विदेशों में टिप्पणियां कीं और जब तक वह माफी नहीं मांगते, तब तक बीजेपी संसद को चलने नहीं देगी। इसका मतलब है कि वे कांग्रेस का इस्तेमाल करके संसद नहीं चलाना चाहते। बीजेपी चाहती है कि राहुल गांधी विपक्ष का चेहरा बनें ताकि ये बीजेपी की मदद करे। प्रधानमंत्री पद के चेहरे (2024 के चुनाव के लिए) पर फैसला करने की कोई आवश्यकता नहीं है।’
उन्होंने कहा कि ये सोचना बीजेपी का भ्रम है कि कांग्रेस विपक्ष का ‘बिग बॉस’ है। टीएमसी नेता ने कहा, ‘ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 23 मार्च को नवीन पटनायक से मुलाकात करेंगी। हम अन्य विपक्षी दलों के साथ इस (भाजपा और कांग्रेस से समान दूरी बनाए रखने की योजना) पर चर्चा करेंगे। हम यह नहीं कह रहे हैं कि यह तीसरा मोर्चा है,लेकिन क्षेत्रीय दलों के पास बीजेपी का मुकाबला करने की ताकत है।’ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस बात की पुष्टि की है कि वे कांग्रेस और बीजेपी दोनों से समान दूरी बनाए रखना चाहते हैं।
 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments