India China Meeting : न हाथ मिले और न दिल... एलएसी के तनाव पर राजनाथ ने की चीन के रक्षा मंत्री से दो-टूक बात

सेना

India China Meeting : न हाथ मिले और न दिल... एलएसी के तनाव पर राजनाथ ने की चीन के रक्षा मंत्री से दो-टूक बात

सेना//Delhi/New Delhi :

India China Talk : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू के बीच नई दिल्ली में करीब एक घंटे तक चली मुलाकात के दौरान भारत ने अपना फोकस सीमा मामले पर रखा।

नई दिल्ली में हुई भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों की मुलाकात में सीमा तनाव का मुद्दा छाया रहा। गलवान घाटी की घटना के बाद भारत की जमीन पर पहली बार हुई दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों की इस मुलाकात में भारत ने दो टूक कहा कि रिश्तों की बेहतरी चाहता है तो चीन पहले सीमा से सैनिक मोर्चाबंदी और जमावड़ा खत्म करे।
भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू के बीच मुलाकात करीब 1 घंटे तक चली। इस दौरान भारत की तरफ से पूरी बातचीत का जोर सीमा मामले पर ही था। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने साफ-साफ कहा कि भारत और चीन के संबंध सीमा तनाव से सीधे जुड़े हैं। जब तक सीमा पर हालात नहीं सुधारते तब तक संबंधों में सामान्य कारोबार की अपेक्षा बेमानी है।
‘सैन्य जमावड़ा भी खत्म करें’
इतना ही नहीं, रक्षा मंत्री ने अपने चीनी समकक्ष से यह भी साफ किया कि सामान्य संबंधों के लिए चीन जल्द से जल्द पहले एलएसी पर आमने-सामने की स्थिति खत्म करे और साथ ही सैन्य जमावड़ा भी खत्म करे। रक्षा मंत्री ने जनरल शांगफू से कहा कि सीमा पर सैनिक जमावड़ा रिश्तों के लिए किसी भी लिहाज से ठीक नहीं है। साथ ही, यह भी स्पष्ट किया कि लगातार होने वाली घटनाएं रिश्तों के सामान्य होने की संभावना को भी कम करती हैं।
हैंडशेक भी नहीं
बैठक में तनाव का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री के बीच हैंडशेक (हाथ मिलाना) की औपचारिकता भी नहीं हुई। सूत्रों ने इस बात की तस्दीक करते हुए इतना ही कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नमस्कार के साथ ही उनका अभिवादन किया। हालांकि बताया जाता है कि रक्षा मंत्री ने चीनी रक्षा मंत्री से पहले कजाखिस्तान, ईरान और ताजिकिस्तान के रक्षा मंत्रियों से मुलाकात की तो गर्मजोशी से हैंडशेक भी हुआ।
सख्त संदेश
बैठक में संबंधों को सामान्य बताने की कोशिश कर रहे चीनी रक्षा मंत्री को सख्त संदेश भी दिया गया। सूत्रों के मुताबिक चीन के रक्षा मंत्री की तरफ से बढ़ाए गए सैन्य सहयोग के प्रस्ताव को मेज पर ही यह कहते हुए भारतीय पक्ष ने नकार दिया कि फिलहाल सीमा पर तनाव घटाए बिना किसी भी अन्य विषय पर बात करना मुश्किल है।
चीन के रक्षा मंत्री ली शांगफू भारत की मेजबानी में होने वाली शंघाई सहयोग संगठन देशों के रक्षा मंत्रियों की बैठक के लिए नई दिल्ली में है। यह बैठक शुक्रवार को सुबह दिल्ली में शुरू होगी।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments