ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
अब होगी आर-पार की लड़ाई! इजरायली सेना जंग के 17 दिन बाद गाजा में घुसी

सेना

अब होगी आर-पार की लड़ाई! इजरायली सेना जंग के 17 दिन बाद गाजा में घुसी

सेना/// :

इजरायल का कहना है कि हमास के लड़ाकों का मुकाबला करने के लिए आईडीएफ ने रातभर गाजा पट्टी पर सीमित हमले किए हैं। इसके साथ ही हमास के ठिकानों पर हवाई हमले जारी हैं। आईडीएफ का फिलहाल पूरा फोकस हमास के इन्फ्रास्ट्रक्चर को तहस नहस करने पर हैं। 

इजरायल और हमास की जंग के 17वें दिन इजरायल की सेना गाजा पट्टी में घुस गई है। लेकिन इजरायली सेना का कहना है कि उनकी आर्मी ने अभी तक गाजा पट्टी पर सीमित हमले ही किए हैं। इजरायल का कहना है कि हमास के लड़ाकों का मुकाबला करने के लिए आईडीएफ ने रातभर गाजा पट्टी पर सीमित हमले किए हैं। इसके साथ ही हमास के ठिकानों पर हवाई हमले जारी हैं। 
आईडीएफ का फिलहाल पूरा फोकस हमास के इन्फ्रास्ट्रक्चर को तहस नहस करने पर हैं। इजरायली सेना के चीफ प्रवक्ता रियल एडमिरल डेनियल हगारी ने सोमवार को टेलीविजन ब्रीफिंग में कहा कि सात अक्टूबर के हमले में हमास ने कई लोगों को बंधक बनाया है। फिलहाल 222 लोगों को बंधक बनाए जाने की पुष्टि हुई है। उन्होंने कहा कि उनकी सेना ने पैदल दस्ते और टैंकों की मदद से हमास लड़ाको पर हमले किए। हगारी ने कहा कि हमास जंग में अगले चरण की तैयारी करने में जुटा है। ऐसे में हमारा फोकस इंटेलिजेंस से मिली जानकारी के आधार पर लापता लोगों और बंधकों का पता लगाना भी है। 
हमास का इजरायली हथियारों को नष्ट करने का दावा
दूसरी तरफ हमास का कहना है कि उनके लड़ाकों ने इजरायली सेना के कई हथियारों को नष्ट कर दिया था और उन्हें पीछे हटने के लिए मजबूर किया। हमास ने अपने बयान में कहा कि उनके लड़ाकों ने घुसपैठ करने वाली सेना से मुकाबला किया। दो बुलडोजर और एक टैंक को नष्ट कर दिया और बेस पर सुरक्षित लौटने से पहले ही सेना को पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया। लेकिन अभी तक इजरायल की ओर से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। हमास की आर्म्ड विंग के इज अल-दीन कासम ने जारी बयान में कहा कि उनके सेना दक्षिणी गाजा के खान यूनिस में बख्तरबंद फोर्स के साथ मिलकर लड़ रही है। 
इजरायली सेना का कहना है कि बीते 24 घंटों में गाजा पट्टी में हमास के 320 से अधिक ठिकानों को निशाना बनाया गया है। जिन आतंकी ठिकानों पर हमला किया गया है, उनमें सुरंगें और दर्जनों ऑपरेशनल कमांड सेंटर शामिल हैं। बता दें कि बीते सात अक्टूबर को गाजा पट्टी से इजरायल पर रॉकेट हमलों की झड़ी लगा दी गई थी। हमास ने हमलों की जिम्मेदारी ली और इसे इजरायल के खिलाफ सैन्य कार्रवाई बताया। हमास ने गाजा पट्टी से करीब 20 मिनट में 5,000 रॉकेट दागे थे। इतना ही नहीं, इजरायल में घुसपैठ की और कुछ सैन्य वाहनों पर कब्जा कर लिया था। इस जंग में दोनों ओर से सैंकड़ों लोगों की मौत हो गई है। इजरायल की तरफ से गाजा पट्टी पर लगातार बमबारी की जा रही है। 
शांत नहीं पड़े हमास के लड़ाके
वहीं, फिलिस्तीन में हमास के लड़ाके भी शांत नहीं पड़े हैं। वे इजरायल पर अभी भी तीन मोर्चे से अटैक कर रहे हैं। लेबनान, समंदर से सटे इलाके और इजिप्ट से सटे साउथ गाजा से रॉकेट और मिसाइलें दागी जा रही हैं। गुरुवार को सेंट्रल इजरायल के वेस्ट बैंक की तरफ भी रॉकेट दागे गए हैं। सात अक्टूबर को शुरू हुए इस युद्ध के बाद अब तक सात दिनों के भीतर गाजा में 30 हजार से ज्यादा इमारतें तबाह हो गई हैं। बड़ी संख्या में अस्पतालों और स्कूलों पर इजरायल ने बमबारी की है। गाजा में अब तक मरने वालों की संख्या लगभग 4000 बताई जा रही है। इनमें 800 से अधिक बच्चे शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक गाजा में तीन लाख से ज्यादा लोग घर छोड़ने को मजबूर हुए हैं। 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments