पाक की सीमा पर गरजेंगे हमारे हवाई योद्धा, इन हथियारों की दिखेगी ताकत

सेना

पाक की सीमा पर गरजेंगे हमारे हवाई योद्धा, इन हथियारों की दिखेगी ताकत

सेना/वायुसेना/Rajasthan/Jaipur :

युद्धाभ्यास की घोषणा करते हुए भारतीय वायुसेना के वाइस चीफ एयर मार्शल एपी सिंह ने बताया कि भारत के हल्के लड़ाकू विमान तेजस से माइका और आर-73 मिसाइलों की फायरिंग की जाएगी। उनकी सटीकता और मारक क्षमता की जांच की जाएगी।  

राजस्थान के पोखरण में तीन साल बाद फिर से फाइटर जेट्स की गर्जना सुनाई देने जा रही है। भारतीय वायुसेना बड़ा युद्धाभ्यास करने जा रही है। इसका नाम है, वायु शक्ति 2024। इसमें भारतीय वायुसेना के तेजस, सुखोई, मिग, मिराज, जगुआर जैसे फाइटर जेट भाग लेंगे। इसके अलावा प्रचंड, ध्रुव और रुद्र हमलावर हेलिकॉप्टर भी शामिल होंगे। हर तीन साल में होने वाले इस युद्धाभ्यास में 77 फाइटर जेट, 41 हेलिकॉप्टर्स, 5 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, तीन तरह के सरफेस-टू-एयर मिसाइलें, 12 यूएवी, हवा से जमीन पर मार करने वाली प्रेसिशन और नॉन प्रेशिसन मिसाइलें, हवा से हवा में मार करने वाली गाइडेड मिसाइलें और सतह से हवा में मार करने वाली गाइडेड मिसाइलों का प्रदर्शन होगा। 
युद्धाभ्यास की घोषणा करते हुए भारतीय वायुसेना के वाइस चीफ एयर मार्शल एपी सिंह ने बताया कि भारत के हल्के लड़ाकू विमान तेजस से माइका और आर-73 मिसाइलों की फायरिंग की जाएगी। उनकी सटीकता और मारक क्षमता की जांच की जाएगी। माइका मिसाइल को राफेल कंपनी बनाती है। जबकि आर-73 वही मिसाइल है, जिससे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तानी एफ-16 फाइटर जेट को मार गिराया था। 
माइका मिसाइल 
112 किलोग्राम वजनी यह मिसाइल 10 फीट लंबी होती है। इसमें 12 किलोग्राम वजनी वॉरहेड लगता है। यह हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। इसकी रेंज 60 से 80 किलोमीटर है। यह वर्टिकल लॉन्च भी की जा सकती है। तब यह 20 किलोमीटर की ऊंचाई तक जा सकती है। इसकी गति बेहद खतरनाक है। यह 4939.2 किमी प्रतिघंटा की गति से दुश्मन की तरफ बढ़ती है। इस मिसाइल को राफेल, मिराज, सुखोई-30 एमकेआई, ग्राउंड बैटरी, सरफेस वेसल या पनडुब्बियों से दाग सकते हैं। यह एक्टिव राडार होमिंग और इंफ्रारेड होमिंग के वैरिएंट्स में आती है। टकराते ही टारगेट नष्ट हो जाता है। 
आर-73 मिसाइल 
इस मिसाइल को रूस का टैक्टिकल मिसाइल कॉर्पोरेशन बनाता है। लेटेस्ट वर्जन की रेंज 30 किमी है। साथ ही, उसमें त्टट-डक् टेक्नोलॉजी लगी है, जिससे इसकी रेंज बढ़कर 40 किमी हो जाती है। यह मिसाइल डॉग फाइट के लिए ही बनी है। ये बेहद आराम से हवाई टारगेट्स को किसी भी डायरेक्शन से मार कर गिरा सकती है। चाहे दिन हो या फिर रात। इस मिसाइल को फाइटर जेट्स, बमवर्षक या फिर अटैक हेलिकॉप्टर पर लगा सकते हैं। इस मिसाइल में कम्बाइन्ड गैस एयरोडायनेमिक कंट्रोल सिस्टम लगा है। जो लाइन ऑफ साइट पर 60 डिग्री तक की ताकत देता है। यानी दुश्मन पर हमला करते समय सीधी रेखा में जाती मिसाइल अचानक से इतने एंगल पर घूम भी सकती है। इसकी अधिकतम गति 2500 किमी है। यह 2 मीटर की ऊंचाई से लेकर 20 किमी की ऊंचाई तक जाती है। अधिकतम 30 किमी की ऊंचाई तक जा सकती है। विंग कमांडर अभिनंदन ने इसी मिसाइल से पाकिस्तानी एफ-16 फाइटर जेट को मार गिराया था। हालांकि बाद में इनके फाइटर जेट पर हमला हुआ।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments