CM केजरीवाल को कल गिरफ्तार कर सकती है CBI NDA के स्पीकर पद के उम्मीदवार ओम बिरला ने पीएम मोदी से मुलाकात की दिलेश्वर कामत जेडीयू संसदीय दल के नेता होंगे पूर्व फुटबॉलर बाइचुंग भूटिया ने राजनीति छोड़ी, सिक्किम चुनाव में हार के बाद फैसला घाटकोपर होर्डिंग केस: IPS कैसर खालिद सस्पेंड, उनकी इजाजत पर लगा था होर्डिंग पुणे पोर्श कांड: आरोपी नाबालिग को हिरासत से रिहा किया गया लोकसभा के 7 सांसदों ने नहीं ली शपथ, कल स्पीकर चुनाव में नहीं कर सकेंगे मतदान जगन मोहन रेड्डी की पार्टी स्पीकर चुनाव में NDA उम्मीदवार का समर्थन कर सकती है कल सुबह 11 बजे तक के लिए लोकसभा स्थगित स्पीकर चुनाव के लिए बीजेपी ने व्हिप जारी किया, सभी सांसदों को लोकसभा में रहना होगा मौजूद स्पीकर चुनाव: कांग्रेस का व्हिप जारी, कल सभी सांसदों को लोकसभा में मौजूद रहने को कहा आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के कृष्णपक्ष की पंचमी तिथि रात 08:54 बजे तक यानी बुधवार, 26 जून 2024 Jaipur: मैसर्स तंदूरवाला में कार्रवाई के दौरान पायी गयीं भारी अनियमितताएं..लाइसेंस, साफ़ सफाई सहित अन्य दस्तावेज मिले नदारद मायावती का भतीजे आकाश आनंद पर उमड़ा प्रेम, 47 दिन पुराने फैसले को पलट बनाया राष्ट्रीय संयोजक राजस्थान में आषाढ़ माह के चौथे दिन मेवाड़ में छाये बादल, मौसम विभाग भी बोला मानसून का हो गया प्रवेश
106 हस्तियों को पद्म पुरस्कारः हिराबाई ने राष्ट्रपति के कंधे दबाकर दिया आशीर्वाद, पंडवानी गायिका उषा के आगे झुके पीएम-स्पीकर..!

आजादी का अमृत महोत्सव

106 हस्तियों को पद्म पुरस्कारः हिराबाई ने राष्ट्रपति के कंधे दबाकर दिया आशीर्वाद, पंडवानी गायिका उषा के आगे झुके पीएम-स्पीकर..!

आजादी का अमृत महोत्सव//Delhi/New Delhi :

गुजरात की रहने वाली हिराबाई बेन इब्राइमभाई लॉबी को पद्मश्री से नवाजा गया। उन्हें सिद्दी समुदाय के उत्थान के लिए ये सम्मान दिया गया है।

नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बुधवार को 106 लोगों को देM के नागरिक सम्मान पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया। राष्ट्रपति ने पहला सम्मान आर्किटेक्ट बालकृष्ण दोषी को दिया। उनकी बेटी ने पिता को मिला पद्म विभूषण सम्मान ग्रहण किया। इसके बाद बिजनेसमैन कुमार मंगलम बिड़ला को व्यापार और उद्योग क्षेत्र में योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।

बिड़ला परिवार में पद्म पुरस्कार पाने वाले कुमार मंगलम चौथे व्यक्ति बन गए हैं। इससे पहले उनकी मां राजश्री बिड़ला को पद्म भूषण, दादा बसंत कुमार बिड़ला को पद्म भूषण और उनके परदादा घनश्याम दास बिड़ला को पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
पंडवानी गायिका उषा को पद्मश्री से नवाजा गया। उन्होंने सम्मान लेने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रणाम किया। इसके बाद उन्होंने राष्ट्रपति के पैर छूकर सम्मान ग्रहण किया। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस. जयशंकर, लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला, केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र सिंह यादव सहित कई लोग मौजूद रहे।
पंडवानी गायिका का अंदाज भाया
पंडवानी गायिका उषा छत्तीसगढ़ की लोक कलाकार हैं। पुरस्कार लेने से पहले उन्होंने पहले प्रधानमंत्री, इसके बाद राष्ट्रपति के सामने घुटनों के बल बैठकर प्रणाम किया। पंडवानी गायिका उषा छत्तीसगढ़ की लोक कलाकार हैं। 
राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित हुई हस्तियां
पद्म पुरस्कार पाने वाले 106 लोगों में 19 महिलाएं भी हैं। 6 लोगों को पद्म विभूषण, 9 को पद्म भूषण और 91 को पद्मश्री दिया गया है। इन पुरस्कारों के नामों का ऐलान 25 जनवरी को किया गया था।

नाम                                              पुरस्कार                कार्यक्षेत्र
बालकृष्ण दोषी                                पद्म विभूषण             आर्किटेक्ट
श्री सोमनहल्ली                                पद्म विभूषण             लोक कार्य
कुमार मंगलम                                 पद्म भूषण              व्यापार और उद्योग
सुमन कल्याणपुर                             पद्म भूषण                  कला
कपिल कपूर                                   पद्म भूषण                साहित्य एवं शिक्षा
श्री कमलेश पटेल                             पद्म भूषण                     अध्यात्म
उषा बरले                                       पद्म श्री                         कला
श्री मंगलाकांत                                  पद्म श्री                          कला
भानुभाई चितारा                               पद्म श्री                         कला
हिराबाईबेन इब्राइमभाई                     पद्म श्री                      समाज सेवा
डॉ. प्रभाकर भानुदास मांडे                 पद्म श्री                साहित्य एवं शिक्षा
नाडोजा पिंडिपापनहल्ली                    पद्म श्री                      कला
प्रोफ्रेसर महेंद्र पाल                           पद्म श्री               विज्ञान एवं इंजीनियरी
नलिनी पार्थसारथी                             पद्म श्री                     चिकित्सा
डॉ. हनुमंत राव                                पद्म श्री                     चिकित्सा
श्री रमेश रघुनाथ                              पद्म श्री                   साहित्य एवं शिक्षा
श्री वीपी अप्पूकुट्टन                           पद्म श्री                      समाज सेवा
एस.आर.डी प्रसाद                           पद्म श्री                        खेल
श्री चिंतलपाटि                                 पद्म श्री                       कला
डॉ. बंडी रामकृष्ण रेड्डी                     पद्म श्री              साहित्य एवं शिक्षा
मनोरंजन साहू                                 पद्म श्री                    चिकित्सा
श्री कोटा सच्चिदानंद                         पद्म श्री                     कला
श्री गुरुचरण सिंह                              पद्म श्री                   खेल
श्री लक्ष्मण सिंह                                पद्म श्री                समाज सेवा
प्रकाश चंद्र सूद                                पद्म श्री            साहित्य एवं शिक्षा
श्रीमती नैहुनओ                                पद्म श्री                  कला
एस. सुब्बरामन                                पद्म श्री             पुरातत्व विज्ञान
श्री विश्वनाथ प्रसाद                            पद्म श्री               साहित्य एवं शिक्षा
श्री धनीराम टोटो                              पद्म श्री              साहित्य एवं शिक्षा
जी. वेलूच्यामि                                  पद्म श्री                 चिकित्सा
करमा वांगचु                                   पद्म श्री               समाज सेवा
गुलाम मुहम्मद                                पद्म श्री                   कला
जोधइया बाई                                  पद्म श्री                    कला
डॉ. संकुरात्रि                                   पद्म श्री              समाज सेवा
श्री रामन                                        पद्म श्री                   कृषि
श्री नरेंद्र चंद्र                                   पद्म श्री                 लोक कार्य
श्री वडीवेल गोपाल                           पद्म श्री                 समाज सेवा
हेमचंद्र गोस्वामी                              पद्म श्री                     कला
प्रीतिकना गोस्वामी                           पद्म श्री                    कला
मोदादुगु विजय                               पद्म श्री             विज्ञान एवं इंजीनियरी
दिलशाद हुसैन                                पद्म श्री                      कला
भिकू रामजी                                   पद्म श्री                समाज सेवा
रतन सिंह जग्गी                               पद्म श्री                साहित्य एवं शिक्षा
बिक्रम बहादुर                                 पद्म श्री                    समाज सेवा
राकेश झुनझुनवाला                          पद्म श्री                 व्यापार और उद्योग
रतन चंद्र कर                                   पद्म श्री                      चिकित्सा
गुरु कुप्पैया कल्याणसुंदरम                 पद्म श्री                       कला
श्री महिपतराय                                  पद्म श्री                       कला
मागुणी चरण                                    पद्म श्री                        कला
डॉ. अरविंद कुमार                            पद्म श्री                  विज्ञान एवं इंजीनियरी
श्री रिसिंगबोर                                   पद्म श्री                         कला

सुमन कल्याणपुर को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
10 अक्टूबर 2022 को मुलायम सिंह यादव का लंबी बीमारी के बाद निधन हुआ। गणतंत्र दिवस के दिन सरकार ने उन्हें पद्म विभूषण देने का ऐलान किया। हालांकि मुलायम सिंह के निधन के बाद उनके समर्थकों ने भारत रत्न देने की मांग उठाई थी। मुलायम सिंह 1967 में 28 साल की उम्र में जसवंतनगर से पहली बार विधायक बने। 5 दिसंबर 1989 को मुलायम पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। बाद में वे दो बार और प्रदेश के सीएम रहे।
दिलीप महालनाबिस को भी पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्होंने 1971 की जंग के दौरान हजारों लोगों की जान बचाई थीं। दिलीप ने ही ओआरएस की खोज की थी। इससे दुनियाभर में हर साल 5 करोड़ लोगों की जान बचती है। डॉ. दिलीप बाल रोग विशेषज्ञ थे। उनका अक्टूबर 2022 में कोलकाता में निधन हो गया था।
इंफोसिस के सह-संस्थापक एनआर नारायण मूर्ति की पत्नी सुधा मूर्ति को पद्म भूषण से नवाजा गया। सुधा अभी इंफोसिस फाउंडेशन के अध्यक्ष के रूप में कार्य कर रही हैं। उन्होंने कन्नड़, मराठी और अंग्रेजी भाषा में कई किताबें लिखी हैं। 1996 में उन्होंने एक पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट की स्थापना की। ट्रस्ट ने अब तक बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 2300 से ज्यादा घर बनाए। 
उस्ताद जाकिर हुसैन का जन्म 9 मार्च, 1951 को मुंबई में जन्म हुआ था। उन्होंने छोटी सी उम्र में ही तबला बजाना शुरू कर दिया था। 11 साल की उम्र में जाकिर ने अमेरिका में अपना पहला कॉन्सर्ट किया था। 1973 में उनका पहला एलबम ‘लिविंग इन द मटेरियल वर्ल्ड’ लॉन्च हुआ था। तबला बजाने में जाकिर दुनियाभर में बहुत फेमस हैं। उन्हें पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की ओर से व्हाइट हाउस में परफॉर्म करने के लिए आमंत्रित किया था।
 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments