आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि रात 08:43 बजे तक तदुपरांत त्रयोदशी तिथि प्रारंभ यानी बुधवार, 18 जुलाई 2024
दुनिया में भिखारियों का सबसे बड़ा निर्यातक बना पाकिस्तान: भड़का सऊदी अरब, जारी की चेतावनी

अजब-गजब

दुनिया में भिखारियों का सबसे बड़ा निर्यातक बना पाकिस्तान: भड़का सऊदी अरब, जारी की चेतावनी

अजब-गजब///Riyadh :

पाकिस्तान इस दुनिया में हर किसी से भीख मांगता रहता है। पाकिस्तान के नेता भी कई बार इससे होने वाली शर्मिंदगी को कबूल कर चुके हैं। लेकिन इस बीच पाकिस्तान के लिए एक और शर्मिंदगी वाली खबर आई है। खाड़ी देशों में गिरफ्तार होने वाले भिखारियों में 90 फीसदी पाकिस्तान से होते हैं।

पाकिस्तान इंटरनेशनल लेवल का ‘भिखारी’ है। पाकिस्तान के मित्र राष्ट्र उससे इस बात को लेकर डरते हैं कि कहीं ये भीख न मांगने लगे। लेकिन अब रिपोर्ट आ रही हैं कि पाकिस्तान दुनिया में भिखारियों का सबसे बड़ा निर्यातक भी बन गया है। इस बात की शिकायत लगातार खाड़ी देशों जैसे सऊदी, यूएई और ईरान की ओर से की जा रही है। प्रवासी पाकिस्तानी मंत्रालय के सचिव ने बुधवार को एक मीटिंग में इसे लेकर शर्मिंदगी जताई। जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘हमारे भिखारी सबसे ज्यादा विदेश जा रहे हैं।’
90 फीसदी भिखारी पाकिस्तान से, जेबकतरे भी 
उन्होंने कहा कि दूसरे देशों में जितने भी भिखारी गिरफ्तार होते हैं उनमें से 90 फीसदी पाकिस्तानी होते हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि इराक और सऊदी के राजदूत खुलकर कह चुके हैं कि आप अपने भिखारियों को हमारे पास क्यों भेज रहे हैं? इनके कारण हमारे देश की जेलें भरी हुई हैं। पाकिस्तान से ये लोग वीजा लेकर पहुंचते हैं और फिर वहां भीख मांगने लगते हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि सऊदी में ग्रैंड मस्जिद से जितने भी जेबकतरे पकड़े जाते हैं, उनमें ज्यादातर पाकिस्तानी होते हैं।
पाकिस्तानियों पर नहीं है भरोसा
ये लोग सऊदी उमरा का वीजा लेकर पहुंचते हैं। मस्जिद के बाहर भीख मांगते हैं, क्योंकि यहां ज्यादातर लोग रुपए की जगह रियाल में भीख देंगे। जब सचिव से पूछा गया कि पाकिस्तान के लोग विदेशों में भारत या बांग्लादेश से ज्यादा हैं तो इस पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लोगों के पास टैलेंट की कमी है। इसके साथ ही विदेशी लोग पाकिस्तानियों पर भरोसा नहीं करते हैं।
भिखारियों की होती है गिरफ्तारी
खाड़ी के देशों में सरकार भिखारियों को लेकर सख्त हैं। यहां भीख मांगने वालों को जेल में डाल दिया जाता है। सऊदी पुलिस ने इसी साल अप्रैल में मक्का की पवित्र मस्जिद के सामने भिखारियों के एक ग्रुप को गिरफ्तार किया था। भीख की प्रथा को खत्म करने के अभियान के तहत यह किया गया था। यह लोग यहां पहुंचे तीर्थयात्रियों से पैसे मांग रहे थे। इतना ही नहीं, कुछ दिनों पहले एक पाकिस्तानी का वीडियो आया था, जिसमें वह एक प्लेन में भीख मांग रहा था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments