ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
फिलीपींस ने मांगा अमेरिकी ‘ब्रह्मास्त्र’, धमकाने से पहले 100 बार सोचेंगे जिनपिंग

सेना

फिलीपींस ने मांगा अमेरिकी ‘ब्रह्मास्त्र’, धमकाने से पहले 100 बार सोचेंगे जिनपिंग

सेना/वायुसेना//Washington :

फिलीपींस ने चीन का मुकाबला करने के लिए अमेरिका से एफ-16 लड़ाकू विमान को खरीदने की तैयारी शुरू कर दी है। इस खरीद के लिए फिलीपींस और अमेरिका के बीच बातचीत जारी है। फिलीपींस अमेरिका से सेकेंड हेंड एफ-16 को खरीदने पर जोर दे रहा है, ताकि वह दक्षिण चीन सागर में चीनी आक्रामकता का सामना कर सके।

फिलीपींस ने चीन के साथ बढ़ते समुद्री तनाव के बीच अपनी युद्धक क्षमता को बढ़ाना शुरू कर दिया है। इसके लिए फिलीपींस ने एफ-16 लड़ाकू विमान खरीदने के लिए अमेरिका से बातचीत भी शुरू कर दी है। अमेरिका में फिलीपीन राजदूत जोस मैनुएल रोमुअलडेज ने कहा कि उनका देश अमेरिका से एफ-16 के संभावित अधिग्रहण को लेकर चर्चा कर रहा है। 
उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि फिलीपींस लंबे समय से अमेरिकी एफ-16 की ताकत की निगरानी की है। उसे एफ-16 की क्षमताओं पर कोई संदेह नहीं है। ऐसे में फिलीपीन वायु सेना अपनी ताकत में इजाफे के लिए अमेरिका से यह लड़ाकू विमान खरीदना चाहती है।
फिलीपीनी राजदूत ने किया खुलासा
रोमुअलडेज ने एफ-16 की माहौल में खुद को ढालने की क्षमता और पिछले युद्धों में उसके बेहतरीन प्रदर्शन की सराहना की। यह लड़ाकू विमान हवा से हवा, हवा से जमीन और इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर में काफी मददगार साबित हो सकता है। संभावित सौदे पर चर्चा करते समय, फिलीपीन के राजदूत ने कोई विशिष्ट समयसीमा का जिक्र नहीं किया, लेकिन इतना जरूर बताया कि अमेरिका से साथ इस मुद्दे पर खुली चर्चा जारी है। हालांकि, फिलीपींस बिल्कुल नए विमान खरीदने के बजाय पुराने एफ-16 को खरीदने पर ज्यादा विचार कर रहा है।
सेकेंड हेंड एफ-16 खरीदने की तैयारी में फिलीपींस
राजदूत ने फिलीपींस के खरीद कानून से पैदा होने वाली चुनौतियों को रेखांकित किया। इस कानून के अनुसार, फिलीपींस सेकेंड हेंड हथियारों को नहीं खरीद सकता है। ऐसे में फिलीपींस को अमेरिका से पुराने एफ-16 खरीदने के लिए अपने हथियार खरीद कानून में बदलाव करना होगा। रोमुअलडेज ने कहा कि नए लड़ाकू विमानों को खरीदने पर फिलीपींस को भारी भरकम धनराशि खर्च करनी पड़ेगी। ऐसे में थोड़ा इस्तेमाल किए गए विमान का चयन करना एक व्यावहारिक और अधिक लागत प्रभावी समाधान प्रस्तुत कर सकता है। बहरहाल, अगर एफ-16 सौदा सफल होता है, तो इससे फिलीपींस की हवाई युद्ध क्षमताओं में काफी वृद्धि होगी।
अमेरिका से रक्षा संबंध मजबूत कर रहा फिलीपींस
फिलीपींस अपने सशस्त्र बलों का आधुनिकीकरण करके और विशेष आर्थिक क्षेत्र में, विशेष रूप से पश्चिम फिलीपीन सागर में अपनी सैन्य उपस्थिति को बढ़ा रहा है। वह चीन के साथ जारी समुद्री तनाव से निपटने के लिए अपनी रक्षा क्षमताओं को मजबूत भी कर रहा है। फिलीपीन के राजदूत को 2024 में मनीला और वाशिंगटन के बीच सैन्य और रक्षा सहयोग बढ़ने की उम्मीद है। फिलीपींस ने इस साल की शुरुआत में ही अमेरिका को अपने देश में चार नए सैन्य ठिकानों तक पहुंच प्रदान की है। दक्षिण पश्चिम प्रशांत क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य ठिकानों की रणनीतिक स्थिति के कारण यह कदम महत्वपूर्ण है। इसके बाद से ही अमेरिका ने फिलीपीन सागर के इलाकों में अपनी क्षेत्रीय गतिविधियों को काफी बढ़ाया है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments