आज है विक्रम संवत् 2081 के वैशाख माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 06:47 बजे तक बुधवार 21 मई 2024
सीएम योगी संग निकले पीएम मोदी: भगवामय हुआ काशी का चप्पा-चप्पा

राजनीति

सीएम योगी संग निकले पीएम मोदी: भगवामय हुआ काशी का चप्पा-चप्पा

राजनीति//Uttar Pradesh /Varanasi :

पीएम मोदी के नामांकन-पत्र दाखिल करते समय भाजपा के बारह मुख्यमंत्री वाराणसी में मौजूद रहेंगे। वाराणसी में आखिरी चरण में 1 जून को मतदान होगा। वोटों की गिनती 4 जून को होगी। आज पीएम मोदी ने वाराणसी और अपने रिश्ते के संबंध में एक भावुक वीडियो भी पोस्ट किया।

वाराणसी (काशी) यूं तो सदियों से हिंदू आस्था का प्रतीक है, मगर नरेंद्र मोदी के यहां से 2014 में चुनाव लड़ने के बाद से इसकी सुंदरता दिनों-दिन बढ़ती जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूं तो काशी अक्सर आते रहते हैं, लेकिन सोमवार को नजारा कुछ अलग था। पीएम ने अपने संसदीय क्षेत्र में रोड शो शुरू करने से पहले बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना करने वाले मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान लोगों ने फूलों की बारिश करके उनका स्वागत किया।
नरेंद्र मोदी मंगलवार को वाराणसी लोकसभा सीट से तीसरी बार अपना नामांकन-पत्र दाखिल करेंगे। आज प्रधानमंत्री भगवा कुर्ता और सफेद सदरी पहने हुए थे। रोड-शो के दौरान उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। रोड-शो मालवीय चैराहा से संत रविदास गेट होते हुए आगे बढ़ा। रोड-शो में पांच हजार से ज्यादा महिलाएं पीएम मोदी के वाहन के आगे पैदल यात्रा करती दिखीं। सड़क के दोनों ओर लोगों का हुजूम दिखा। लोग छतों और ऊंची जगहों पर पीएम की एक झलक पाने के लिए चढ़े नजर आए।
पीएम मोदी के स्वागत में संत और किन्नर समाज के लोग भी पहुंचे। जयघोष और शंखनाद के बीच आगे बढ़ते काफिले पर लोग फूलों की बारिश करते दिखे। रोड-शो के रास्ते में एक स्वागत स्थल पर किन्नर संत महामंडलेश्वर कौशल्यानन्द गिरी ने अपने शिष्यों के साथ प्रधानमंत्री का गुलाब की पंखुड़ियों से स्वागत किया और भाजपा सरकार को इस बार 400 पार का आशीर्वाद दिया।
काशी में पीएम मोदी ने पिछली बार भी अपने नामांकन से एक दिन पूर्व रोड शो किया था। वाराणसी के स्थानीय लोगों ने दावा किया कि 2014 और 2019 के रोड-शो से भी ज्यादा लोग इस बार के रोड शो में उमड़ पड़े। प्रधानमंत्री दोनों हाथ जोड़कर जनता का अभिवादन करते नजर आए। करीब छह किलोमीटर लंबे इस रोड शो के दौरान शहनाई की धुन, शंखनाद, ढोल की थाप और मंत्रोच्चार के बीच पूरी यात्रा काशी की संस्कृति में रची-बसी नजर आई।
प्रधानमंत्री हाथ हिलाकर सबका अभिवादन कर रहे थे। इस दौरान ‘हर घर मोदी-हर हर मोदीश् और ‘अबकी बार-400 पारश् का नारा भी गूंज रहा था। काशी अग्रवाल समाज के लोगों ने भी मोदी का स्वागत किया। रोड शो मालवीय चैराहा से संत रविदास गेट, अस्सी, शिवाला, सोनारपुरा, जंगमबाड़ी, गोदौलिया होते हुए श्री काशी विश्वनाथ धाम तक गया। रोड-शो के मार्ग पर लगभग 100 बिंदु बनाए गये थे, जिन पर मराठी, गुजराती, बंगाली, माहेश्वरी, मारवाड़ी, तमिल, पंजाबी आदि समाज के लोग अपनी परंपरागत वेशभूषा में पीएम का स्वागत करने के लिए कतारबद्ध खड़े दिखे।
शहनाई, शंखनाद, डमरू दल के साथ काशी की जनता के साथ ही कई मंत्री, विधायक और वरिष्ठ पदाधिकारी प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करने के लिए कतारबद्ध खड़े दिखे। पीएम मोदी बाबा विश्वनाथ से आशीर्वाद लेने भी गए। रोड शो के मार्ग पर काशी की विभूतियों के कटआउट भी लगाए गए हैं। पीएम मोदी विश्वनाथ धाम से मैदागिन चैराहा, कबीरचैरा, लहुराबीर, तेलियाबाग तिराहा, चैकाघाट चैराहा, लकड़ी मंडी, कैंट ओवरब्रिज, लहरतारा चैराहा, मंडुवाडीह चैराहा, ककरमत्ता होते हुए रात्रि विश्राम के लिए बीएलडब्ल्यू गेस्ट हाउस जाएंगे।
शाम को बीजेपी वाराणसी में लेजर-शो का आयोजन करेगी। पार्टी ने प्रधानमंत्री के लिए समर्थन जुटाने के लिए मंदिरों और धार्मिक नेताओं से संपर्क किया था। गुरुवार शाम से ही बीजेपी शहर के दशाश्वमेध घाट पर शाम को गंगा आरती के बाद ड्रोन लेजर-शो का आयोजन कर रही है। पिछले 10 वर्षों में वाराणसी में वाराणसी के विकास कार्यों को प्रदर्शित करने के लिए 1,000 से अधिक ड्रोन का उपयोग किया गया है।
पीएम मोदी के कल नामांकन-पत्र दाखिल करते समय भाजपा के बारह मुख्यमंत्री वाराणसी में मौजूद रहेंगे। 2019 में, पीएम मोदी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी समाजवादी पार्टी की शालिनी यादव को पछाड़ते हुए 6।7 लाख वोट हासिल किए थे। इस बार वाराणसी में आखिरी चरण में 1 जून को मतदान होगा। वोटों की गिनती 4 जून को होगी।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments