UP: लखनऊ मे एंटी भू माफिया सेल का गठन, अवैध तरीके से जमीन कब्जाने वालों पर होगा एक्शन VHP ने UP पुलिस से की देवबंद के खिलाफ एक्शन की मांग, गजवा-ए-हिंद के समर्थन का आरोप जमीन हड़पने के मामले में ED ने TMC नेता शाहजहां शेख के खिलाफ दर्ज किया एक और मामला महाराष्ट्र के पूर्व सीएम मनोहर जोशी का हार्ट अटैक से निधन किसानों को करनी होगी सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई: हरियाणा पुलिस MP: अनूपपुर में जंगली हाथी के हमले में एक शख्स की मौत, 2 लोग घायल
पीएम मोदी बोले- कांग्रेस की गारंटी मतलब नीयत में खोट, गरीबों पर चोट 

राजनीति

पीएम मोदी बोले- कांग्रेस की गारंटी मतलब नीयत में खोट, गरीबों पर चोट 

राजनीति//Madhya Pradesh/Indore :

इस दौरान उन्होंने विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि झूठी गारंटी देने वालों से सावधान रहना। कांग्रेस की गारंटी का मतलब नीयत में खोट और गरीबों पर चोट।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मध्यप्रदेश में शहडोल के लालपुर में राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन 2047 लॉन्च किया। साथ ही, एक क्लिक से साढ़े 3 करोड़ हितग्राहियों को डिजिटल आयुष्मान कार्ड बांटे। पीएम मोदी ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि रानी दुर्गावती की 500वीं जन्म शताब्दी को भारत सरकार पूरे देश में मनाएगी। उनके जीवन पर फिल्म बनाई जाएगी, एक चांदी का सिक्का भी निकाला जाएगा। लालपुर गांव में कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी पकरिया गांव पहुंचे। यहां पीएम मोदी का ठेठ देहाती अंदाज देखने को मिला। 

प्रधानमंत्री से एक महिला ने कहा कि आप 27 को आने वाले थे। नहीं आ सके। आखिरकार आए तो हमें बड़ा अच्छा लगा। पीएम बोले- मैं हमेशा सच्ची गारंटी देता हूं, झूठी कभी नहीं देता। संवाद के दौरान पीएम मोदी एक बच्चे को दुलार करते नजर आए। फुटबॉल के खिलाड़ियों ने भी पीएम मोदी से बात की। बड़ी संख्या में यहां जनजातीय समुदाय के बच्चे फुटबॉल खेल रहे हैं। कॉरपोरेट सेक्टर भी सीएसआर के तहत मदद कर रहे हैं। फुटबॉल क्रांति क्लब से जुड़ी बालिकाओं से भी पीएम ने बातचीत की।
जिनकी अपनी कोई गारंटी नहीं
पीएम मोदी ने कहा कि जिनकी अपनी कोई गारंटी नहीं, वो गारंटी वाली नई-नई स्कीम ला रहे हैं। उनकी गारंटी में छिपे खोट को पहचानिए। झूठी गारंटी के नाम पर छिपे धोखे को पहचान लीजिए। जब वे मुफ्त बिजली की गारंटी देते हैं, तो इसका मतलब है, बिजली के दाम बढ़ाने वाले हैं। जब मुफ्त सफर की गारंटी देते हैं तो मतलब है कि यातायात व्यवस्था बर्बाद होने वाली है। जब पेंशन बढ़ाने की गारंटी देते हैं तो इसका मतलब है कि उस राज्य में कर्मचारियों को समय पर वेतन भी नहीं मिल पाएगा। जब सस्ते पेट्रोल की गारंटी देते हैं तो इसका मतलब है कि टैक्स बढ़ाकर आपकी जेब से पैसे निकालने की तैयारी कर रहे हैं। जब वो रोजगार बढ़ाने की गारंटी देते हैं तो इसका मतलब है कि वे उद्योग-धंधे चैपट करने वाली नीति लेकर आएंगे।
वो अपने परिवार को आगे ले जाएंगे
पीएम मोदी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि वो झूठी गारंटी देकर अपने परिवार को आगे ले जाएंगे, लेकिन आप पीछे रह जाएंगे। आपको कांग्रेस समेत हर राजनीतिक दल की गारंटी से सतर्क रहना है। पीएम मोदी ने कहा कि वो 70 सालों में गरीबों को भरपेट भोजन की गारंटी नहीं दे सके। हम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को मुफ्त राशन दे रहे हैं। वो 70 साल से गरीब को महंगे इलाज से छुटकारा दिलाने की गारंटी नहीं दे सके। आयुष्मान योजना से हमने 50 करोड़ लाभार्थियों को गारंटी दी है। वो 70 साल से महिलाओं को धुएं से छुटकारे की गारंटी नहीं दे सके। उज्जवला योजना से 10 करोड़ महिलाओं को धुआं मुक्त जीवन की गारंटी मिली है। वो 70 सालों में गरीब को अपने पैरों पर खड़ा होने की गारंटी नहीं दे सके, लेकिन मुद्रा योजना से साढ़े 8 करोड़ लोगों को सम्मान से रोजगार की गारंटी मिली है।
पीएम ने कहा- विपक्षी एकजुटता की गारंटी नहीं
पीएम मोदी ने विपक्षी एकजुटता के दावे पर कहा कि आज जो एक साथ आने का दावा कर रहे हैं, सोशल मीडिया में उनके पुराने बयान वायरल हो रहे हैं। वो हमेशा से एक-दूसरे को पानी पी-पीकर कोसते रहे हैं। यानी विपक्षी एकजुटता की गारंटी नहीं है। परिवारवादी पार्टियां सिर्फ अपने परिवार के भले के लिए काम करती आई हैं। देश के सामान्य लोगों के परिवार को आगे ले जाने की गारंटी उनके पास नहीं है।
वो देश विरोधी तत्वों के साथ बैठकें कर रहे
पीएम मोदी ने कहा कि जो जमानत लेकर बाहर घूम रहे हैं, जो घोटालों के आरोप में सजा काट रहे हैं वो एक मंच पर दिख रहे हैं। यानी उनके पास भ्रष्टाचार मुक्त शासन की गारंटी नहीं है। वो एक सुर में देश के खिलाफ बयान दे रहे हैं। वो देश विरोधी तत्वों के साथ बैठकें कर रहे हैं। यानी उनके पास आतंकवाद मुक्त भारत की गारंटी नहीं है।
70 सालों में सिकल सेल एनीमिया की चिंता नहीं हुई
प्रधानमंत्री मोदी ने जय जोहार कहकर अपने संबोधन की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि आज देश बहुत बड़ा संकल्प ले रहा है। ये संकल्प है सिकल सेल एनीमिया से मुक्ति का। सिकल सेल एनीमिया की बीमारी बहुत कष्टकारी होती है। लंबे समय तक दर्द सहने से शरीर के अंदरूनी अंग भी क्षतिग्रस्त होने लगते हैं। ये बीमारी परिवारों को भी बिखेर देती है। ये बीमारी आनुवांशिक है। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 70 सालों में सिकल सेल एनीमिया बीमारी की चिंता नहीं हुई। इससे निपटने के लिए कोई ठोस प्लान नहीं बनाया गया। इससे प्रभावित ज्यादातर लोग आदिवासी समाज के थे। आदिवासी समाज के प्रति बेरुखी के चलते पहले की सरकारों के लिए ये कोई मुद्दा ही नहीं था, लेकिन आदिवासी समाज की इस सबसे बड़ी चुनौती से निपटने का बीड़ा हमारी सरकार ने उठाया है। हमारे लिए आदिवासी समाज सिर्फ एक सरकारी आंकड़ा नहीं है। ये संवेदनशीलता के साथ ही भावनात्मक मुद्दा भी है।
एनीमिया उन्मूलन मिशन की शुरुआत
पीएम मोदी ने इससे पहले रिमोट का बटन दबाकर राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन 2047 लॉन्च किया। साढ़े 3 करोड़ हितग्राहियों को एक क्लिक पर डिजिटल आयुष्मान कार्ड के वितरण के साथ ही एमपी में एक करोड़ पीवीसी आयुष्मान कार्ड वितरण का शुभारंभ भी किया। इस दौरान पीएम मोदी ने अदिति यादव नाम की छोटी-सी बच्ची समेत अन्य हितग्राहियों को आयुष्मान योजना के कार्ड वितरित किए।
रानी दुर्गावती की प्रतिमा पर पुष्पांजलि 
इससे पहले प्रधानमंत्री के मंच पर आते ही मोदी-मोदी के नारे लगे। पीएम मोदी ने रानी दुर्गावती की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद राज्यपाल मंगूभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने पीएम मोदी का स्वागत किया। पीएम मोदी को आदिवासी आस्था के प्रतीक माला और साफा के साथ ही आदिवासी पेंटिंग भेंट की गई।
प्रधानमंत्री मोदी की खाट पंचायत
लालपुर गांव में कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी पकरिया गांव पहुंचे। यहां पीएम मोदी का ठेठ देहाती अंदाज देखने को मिला। साफा बांधे महिलाओं ने आदिवासी परंपरा के मुताबिक पीएम मोदी का स्वागत किया, उन्हें तिलक लगाया और फूल बरसाकर उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्व-सहायता समूह की लखपति दीदियों, ग्राम सभा के सदस्यों, गांवों के फुटबॉल खिलाड़ियों और जनजातीय प्रतिनिधियों और पेसे समिति के सदस्यों से चर्चा की। पीएम मोदी ने जनजातीय समुदाय के लोगों के साथ बैठकर भोजन भी किया। स्व सहायता समूह की लखपति महिलाओं ने अपनी पहचान बनाई है। पीएम मोदी ने पूछा कि उनके संघर्ष की कहानी क्या है। वहीं, जनजातीय समुदाय के लोगों ने बताया कि उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना और आयुष्मान योजना से उनके जीवन में क्या बदलाव आया।
कांग्रेस ने 2 लाख से ज्यादा पीएम आवास वापस कर दिए: शिवराज
लालपुर में सीएम शिवराज सिंह चैहान ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 5 अक्टूबर को रानी दुर्गावती का 500वां जन्मदिवस है। जबलपुर में उनका एक विशाल स्मारक बनाया जाएगा। इस दौरान सालभर तक कई कार्यक्रम होंगे। सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि कांग्रेस की सवा साल की सरकार ने आयुष्मान कार्ड नहीं बनाए। पीएम मोदी गरीब लोगों का इलाज करना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस की सरकार इसमें बाधा बनी। सवा साल कांग्रेस की सरकार रही। उन्होंने जल जीवन मिशन भी एमपी में लागू नहीं किया। इतना ही नहीं, कांग्रेस और कमलनाथ ने 2 लाख से ज्यादा प्रधानमंत्री आवास वापस कर दिए। बीजेपी की सरकार आने के बाद गरीबों के लिए 38 लाख मकान बने। करोड़ों लोगों को आयुष्मान कार्ड बांटे जा रहे हैं। कांग्रेस ने बैगा, भारिया जनजाति की महिलाओं को दिए जाने वाले एक हजार रुपए भी छीन लिए।
मोदी को आदिवासियों ने परोसे ये पकवान
पकरिया गांव के जल्दी टोला में पीएम मोदी को भोज दिया गया। मेन्यू में 17 प्रकार के पकवान शामिल थे। इनमें रोजलेट्टा (अमरू) का शरबत, बेल का शरबत और आम का पना शामिल किया गया। थाली में कोदो भात, कुटकी खीर, ज्वार और मक्के की रोटी, इंद्रहर की कढ़ी, कमल ककड़ी की सब्जी, हल्दी का अचार और महुआ के व्यंजन, खीर या लड्डू भी शामिल किए गए। उन्होंने जनजातीय समुदाय के 26 लोगों के साथ भोजन किया।
पकरिया में महिलाओं का दबदबा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस पकरिया गांव का दौरा किया, वह महिलाओं को अधिकार देने के मामले में बहुत आगे है। एक ओर जहां पंचायत की कमान महिलाओं के हाथ में है, वहीं गांव में 200 से ज्यादा लखपति बहनें भी हैं। बुढ़ार जनपद के तहत आने वाले पकरिया पंचायत की वर्तमान सरपंच जनजातीय समुदाय की एक महिला ही है। गांव की जनता ने ग्राम पंचायत में उप सरपंच का दायित्व भी एक महिला को सौंप रखा है। सरपंच गेंदाबाई बैगा लगातार 5 साल सरपंच रहने के बाद दोबारा गांव की कमान संभाल रही हैं। उप सरपंच रेखा दीपक चैधरी भी वर्तमान में और पिछली पांच वर्षो से निर्विरोध उप सरपंच का दायित्व संभालती चली आ रही हैं।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments