नयी दिल्ली में प्री-बजट कंसल्टेशन मीटिंगः राजस्थान की उपमुख्यमंत्री ने कहा, राजस्थान को डबल इंजन सरकार का मिलेगा पूरा लाभ

आर्थिक

नयी दिल्ली में प्री-बजट कंसल्टेशन मीटिंगः राजस्थान की उपमुख्यमंत्री ने कहा, राजस्थान को डबल इंजन सरकार का मिलेगा पूरा लाभ

आर्थिक//Delhi/New Delhi :

नयी दिल्ली में विभिन्न राज्यों के वित्त मंत्रियों की केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ प्री-बजट कंसल्टेशन मीटिंग आयोजित हुई। इस विशेष मीटिंग में राजस्थान की जरूरतों को लेकर उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्रालय संभाल रहीं दिया कुमारी अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि हम सभी नयी दिल्ली के भारत मंडपम में केंद्रीय वित्त मंत्री के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मोदी 3.0 सरकार के विजन को अनुरूप बनाने के उद्देश्य से एकत्र हुए हैं। इसके लिए आगामी केंद्रीय परिवर्तित बजट 2024-25 में "विकसित भारत- विकसित राजस्थान" की परिकल्पना के जो कुछ भी जरूरी है, इस पर सार्थक चर्चा हुई। 
 

बैठक के दौरान राजस्थान की वित्त मंत्री दिया कुमारी ने राजस्थान के 21 जिलों की जीवनदायी रेखा साबित होने वाली 'पूर्वी राजस्थान कैनाल परियोजना' को जल्द ही मूर्त रूप देने के सभी आयामों को विस्तार से केंद्रीय मंत्री के समक्ष रखा। उन्होंने राजस्थान में संचालित 'जल जीवन मिशन' की प्रगति और और इस मिशन को अधिक मजबूती देने तथा जल्द ही इसके लक्ष्यों को हासिल करने के लिए राजस्थान सरकार के प्रयासों के बारे में जानकारी देते हुए केंद्र सरकार से और अधिक सहयोग की मांग रखी।
दिया कुमारी ने बताया कि हमने केंद्रीय मंत्री के समक्ष राजस्थान में लंबित '3 प्रमुख रेल परियोजनाओं' को जल्द ही मूर्त रूप देने के विषय को भी रखा ताकि रेल सुविधाओं से वंचित राजस्थान के दूरस्थ इलाकों में विकास की धारा को पहुंचाया जा सके। राजस्थान में नये राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण और उनके सुदृढ़ीकरण को लेकर भी केंद्रीय मंत्री से बैठक के दौरान चर्चा की गई। दिया कुमारी ने बताया कि क्षेत्रफल की दृष्टि से देश का सबसे बड़ा राज्य होने के साथ-साथ राजस्थान में बड़े शहरों को दूरस्थ इलाकों के गांवों और ढाणियों से जोड़ने के लिए सड़कों का सुदृढ़ जाल होना बहुत जरूरी है ताकि राज्य के सभी हिस्सों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ा जा सके।
दिया कुमारी ने कहा कि राजस्थान में कृषि, उद्योग के साथ साथ प्रदेश की आधारभूत संरचना के विकास में पर्याप्त ऊर्जा की सुलभ उपलब्धता बहुत अहम स्थान रखती है इसलिए राजस्थान को ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्रीय सहयोग आवश्यक है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से राजस्थान में संचालित ऊर्जा कंपनियों के लिए विशेष सहयोग दिए जाने की मांग रखी ताकि ऊर्जा के क्षेत्र में राजस्थान सभी संभावनाओं का बेहतर ढंग से दोहन करते हुए विकास को आगे बढ़ा सके।
बैठक के दौरान उप मुख्यमंत्री द्वारा राजस्थान की तरफ से रखे गए सभी पक्षों को केंद्रीय मंत्री ने गंभीरता से लेते हुए आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार राजस्थान की सभी मांगों पर सकारात्मक कदम उठाएगी। बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अखिल अरोड़ा और सचिव देवाशीष पुष्टि भी मौजूद रहे।
 

You can share this post!

author

News Thikana

By News Thikhana

News Thikana is the best Hindi News Channel of India. It covers National & International news related to politics, sports, technology bollywood & entertainment.

Comments

Leave Comments