आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह पूर्णिमा तिथि दोपहर 03:46 तक बजे तक यानी रविवार, 21 जुलाई 2024
अब पंजाब में रेल रोको आंदोलन शुरू , रेलवे ट्रैकों पर बैठे प्रदर्शनकारी

पंजाब में रेल रोको आंदोलन

राजनीति

अब पंजाब में रेल रोको आंदोलन शुरू , रेलवे ट्रैकों पर बैठे प्रदर्शनकारी

राजनीति//Punjab/Chandigarh :

Farmers Protest: पंजाब में किसानों का रेल रोको आंदोलन शुरू हो गया है। भारतीय किसान यूनियन एकता उगरहां व भाकियू डकाँदा मनजीत सिंह धनेर ग्रुप के बैनर तले सात जगहों पर किसान रेलवे ट्रैक को जाम कर धरने पर बैठ गए हैं। इन जगहों में मानसा, राजपुरा, फतेहगढ़ चूड़ियां, जुठेके, मोगा, मलोट और सुनाम शामिल हैं। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए इस रूट की कई ट्रेनें पहले ही रद्द की जा चुकीं हैं। 

बता दें कि केंद्र सरकार और आंदोलनरत किसान नेता एकबार फिर बातचीत की मेज पर आने के लिए तैयार हो गए हैं। बुधवार को सरकार की ओर से मिले वार्ता के प्रस्ताव को किसान नेताओं ने स्वीकार कर लिया।

एक और बैठक आज 

आज यानी गुरुवार शाम पांच बजे चंडीगढ़ के सेक्टर 26 में केंद्रीय मंत्रियों और किसानों के प्रतिनिधिमंडल के बीच एकबार फिर उनकी मांगों पर चर्चा होगी।ये तीसरी दौर की बैठक होने जा रही है। इससे पहले दो बैठकें 8 और 12 फरवरी को हो चुकी हैं। दोनों मीटिंग बेनतीजा रहने के बाद किसानों ने 'दिल्ली चलो' मार्च शुरू करने का निर्णय लिया था। पंजाब से किसानों का निकला विशाल जत्था अंबाला स्थित शंभू बॉर्डर पर रुका हुआ है। वे लगातार आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन हरियाणा पुलिस उन्हें एक इंच भी आगे नहीं बढ़ने दे रही है। जिसके कारण पंजाब-हरियाणा बॉर्डर जंग जैसे हालात बने हुए हैं।

केंद्र के साथ वार्ता के बाद आगे का निर्णय लेंगे किसान नेता

संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) के प्रमुख जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा कि तीन केंद्रीय मंत्रियो का दल गुरुवार शाम को किसान नेताओं के साथ उनकी विभिन्न मांगों पर फिर से बैठक करेगा। वे बैठक तक दिल्ली की ओर बढ़ने का प्रयास नहीं करेंगे। आगे की कार्रवाई केंद्र के प्रस्तावों के आधार पर तय की जाएगी। वहीं, किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंढेर ने हरियाणा पुलिस और पैरामिलिट्री के जवानों की ओर से किसानों पर की जा रहे शेलिंग पर नाराजगी जताई।

बता दें कि किसान आंदोलन के दूसरे दिन भी पंजाब-हरियाणा सीमा पर तनावपूर्ण माहोल रहा। पुलिस ने उम्र हुए किसानों को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। किसानों की निगरानी के लिए ड्रोन का सहारा लिया जा रहा है और उससे टियर गेस भी दागे जा रहे हैं। किसानों की ओर से ड्रोन को गिराने के लिए पतंग उड़ाए जा रहा है। उधर, दिल्ली पुलिस भी हरियाणा सीमा पर अपनी मुस्तैदी बढ़ा दी है। हरियाणा और यूपी से लगने वाली सभी सीमाएं पूरी तरह से सील हैं।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments