इजरायल में चौतरफा बरस रहे राॅकेट्स... बिगड़ रहे हालात, सीरिया से गोलान हाइट्स की ओर से हमला, मिसाइल अलर्ट जारी

सेना

इजरायल में चौतरफा बरस रहे राॅकेट्स... बिगड़ रहे हालात, सीरिया से गोलान हाइट्स की ओर से हमला, मिसाइल अलर्ट जारी

सेना//Delhi/New Delhi :

इजरायली सेना ने बताया कि सीरिया से गोलान हाइट्स की ओर तीन रॉकेट दागे गए। जिनमें से एक रॉकेट इजरायली क्षेत्र में घुस गया और खुले मैदान में जाकर गिर गया। हालांकि इजरायली सेना ने विस्तृत जानकारी साझा नहीं की।

इजरायल में दिन-प्रतिदिन हालात बिगड़ते जा रहे हैं। बीते कुछ दिनों से इजरायल पर लेबनान और गाजा पट्टी की ओर से मिसाइल दागे जा रहे थे। इसी बीच रविवार को सीरिया से गोलान हाइट्स, जिसे गोलान पहाड़ियां भी कहा जाता है, की ओर तीन रॉकेट दागे गए।
इजरायली सेना ने बताया कि सीरिया से गोलान हाइट्स की ओर तीन रॉकेट दागे गए। जिनमें से एक रॉकेट इजरायली क्षेत्र में घुस गया और खुले मैदान में जाकर गिर गया। हालांकि, इजरायली सेना ने विस्तृत जानकारी साझा नहीं की। बता दें कि इलाके में मिसाइल अलर्ट जारी किया है।
गोलान हाइट्स का इलाका राजनीतिक और रणनीतिक रूप से काफी अहम माना जाता है। इसराइल ने साल 1967 में गोलान हाइट्स पर कब्जा कर लिया था। हालांकि, अधिकांश अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इजरायल के इस कदम को मान्यता नहीं दी।
गाजा और लेबनान पर की थी बमबारी
हमास की ओर से किए गए रॉकेट हमले के जवाब में इजरायल ने शुक्रवार को गाजा पट्टी और लेबनान में हवाई हमले किए थे। इजरायल रक्षा बल (प्क्थ्) की ओर से कहा गया था कि दक्षिण लेबनान इलाके में हमास के आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया गया है। इस दौरान सुरंग सहित हथियार बनाने वाली फैक्ट्री को ध्वस्त कर दिया गया था। आईडीएफ ने कहा था कि इजरायल लेबनान की भूमि से आतंकी गतिविधियों को संचालित नहीं होने देगा।
लेबनान से दागे गए थे 34 रॉकेट
लेबनान की ओर से गुरुवार को 34 रॉकेट दागे गए थे। इनमें से 25 को इजरायली सेना की ओर से गिरा दिया गया था। पांच इजरायली क्षेत्र में आ गिरे थे, जबकि चार का पता नहीं चल पाया है। गाजा पट्टी में इजरायली सेना की ओर से कार्रवाई में 20 मिसाइल दागे गए और चार ठिकानों को निशाना बनाया गया था।
अल अक्सा पर कार्रवाई से तनाव
गौरतलब है कि पूर्वी यरुशलम में अल अक्सा मस्जिद में इजरायली पुलिस की ओर से की गई कार्रवाई के बाद से क्षेत्र में तनाव है। शुक्रवार को भी जब नमाज के लिए लोग वहां जमा हुए, तो सेना ने उन्हें वहां जाने से रोक दिया था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments