जुलाई के अंत में BJP शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों की होगी मीटिंग- सूत्र उत्तराखंड में मॉनसून अलर्ट, बारिश की संभावना, यात्रियों को सतर्क रहने की चेतावनी J-K: डोडा जिले में आधी रात सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई गोलीबारी, सेना शुरू की तलाशी बिहार: सारण जिले के रसूलपुर में ट्रिपल मर्डर, 2 नाबालिग बेटी और पिता की चाकू मारकर हत्या बांग्लादेश: नौकरियों में आरक्षण का विरोध, 6 प्रदर्शनकारियों की मौत, स्कूल-कॉलेज बंद आज से अपना राजनीतिक दौरा शुरू करेंगी शशिकला केजरीवाल की जमानत अर्जी पर आज अदालत में जवाब दाखिल कर सकती है CBI CM योगी आज मंत्रियों के साथ करेंगे मीटिंग, विधानसभा उपचुनाव को लेकर होगी चर्चा ध्य प्रदेश के चर्चित जस्टिस रोहित आर्य ने भाजपा का दामन थामा प्रशिक्षु आईएएस पूजा खेडकर के विरुद्ध सख्ती, ट्रेनिंग रद्द कर वापस भेजा गया मसूरी अकादमी..! बदले में पूजा ने पुणे डीएम पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप हरभजन, युवराज सिंह और रैना मुश्किल में, पैरा एथलीट्स का उड़ाया था मजाक..FIR दर्ज आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की दशमी तिथि रात 08:33 बजे तक तदुपरांत एकादशी तिथि प्रारंभ यानी मंगलवार, 16 जुलाई 2024
भूमिकाएं छोटी-छोटी पर हर घर में बड़ी पहचान थी जावेद खान की, 70 की उम्र में हुआ निधन   

intenet

श्रद्धांजलि

भूमिकाएं छोटी-छोटी पर हर घर में बड़ी पहचान थी जावेद खान की, 70 की उम्र में हुआ निधन   

श्रद्धांजलि//Maharashtra/Mumbai :

छोटे परदे के सीरियल "ये जो है ज़िंदगी" से झुमरू का किरदार निभा कर बड़े परदे में फिल्म "लगान " में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर  घर-घर में प्रसिद्ध हुए दिग्गज एक्टर जावेद खान अमरोही का निधन हो गया है। उनके निधन पर बॉलीवुड ने शोक जाहिर किया है। बता दें कि जावेद खान अमरोही को 2001 की फिल्म ‘लगान’ में बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के अकादमी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया था।

सांस की बीमारी से जूझ रहे थे 
बॉलीवुड एक्टर जावेद खान अमरोही का मंगलवार को निधन हो गया। जावेद ने तकरीबन 150 फिल्मों में काम करके अपनी खास जगह बनाई। अचानक उनके निधन से फिल्म जगत में शोक की लहर दौड़ गई। जावेद एक साल से सांस की बीमारी से जूझ रहे थे और बेड पर थे। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें सांताक्रूज के सूर्या नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था, जहां उनके दोनों फेफड़े फेल हो गए और उनका निधन हो गया।
एक्टर अखिलेंद्र मिश्रा ने नुकसान पर शोक व्यक्त किया और फेसबुक पर पोस्ट शेयर करके इस बात की जानकारी दी है।

छोटे परदे से पहचान बनायी थी
उनको नुक्कड़ ,ये जो है ज़िंदगी जैसे धारावाहिकों के लिए भी जाना जाता है। नुक्कड़ में सफलता के बाद उन्हें गुलजार की ‘मिर्जा गालिब’ में एक फकीर की भूमिका निभाने का मौका मिला। दूरदर्शन की इन तीनों टीवी धारावाहिकों ने उनके करियर में काफी मदद की। टीवी में शुरुआत से पहले उन्होंने बॉलीवुड की फिल्मों में भी छोटी-छोटी भूमिकाएं निभाई हैं। 

सिल्वर स्क्रीन पर एक साल पहले तक काम किया   
फिल्मों में भी जावेद की उपस्थिति का अर्थ ही होता था कि ज़रूर वो किरदार कुछ ख़ास होगा। उनको राज कपूर की ‘सत्यम शिवम सुंदरम’, ‘वो सात दिन’, ‘राम तेरी गंगा मैली’, ‘नाखुदा’, ‘प्रेमरोग’ आदि में भी छोटी भूमिकाओं में देखा गया। जावेद खान अमरोही को साल 2001 में आई फिल्म ‘लगान’ में बेस्ट के अकादमी पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया था। इसके अलावा ‘अंदाज अपना-अपना’ और ‘चक दे इंडिया’ में भी उन्होंने काम करके तारीफें बटोरी थीं। कई फिल्मों में जावेद ने कैमियो किया था। अक्षय कुमार, परेश रावल और सुनील शेट्टी स्टारर फिल्म ‘फिर हेरा फेरी’ में जावेद ने एक पुलिस कॉन्स्टेबल की भूमिका निभाई थी और अपने वनलाइनर्स डायलॉग के लिए खूब फेमस हुए थे।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments