ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
10 करोड़ से बदलेगा डबल डेकर का लुक: सीट, टॉयलेट सब होगा चकाचक

ट्रांस्पोर्ट

10 करोड़ से बदलेगा डबल डेकर का लुक: सीट, टॉयलेट सब होगा चकाचक

ट्रांस्पोर्ट/रेलवे/Rajasthan/Jaipur :

कोच में एसी यूनिट-पैनलिंग भी बदले जा रहे हैं। विनयल रैपिंग और पेंटिंग्स भी लगाई जाएंगी। हर कोच के बाहर सिटिंग अरेंजमेंट चार्ट भी लगाया जाएगा, जिससे पता लग जाएगा कि सीट ऊपर है या नीचे।

जयपुर की सबसे लोकप्रिय ट्रेनों में शुमार डबल डेकर ने अपने 10 साल पूरे कर लिए हैं। ऐसे में रेलवे 10।50 करोड़ रुपए में इसको संवार रहा है। ट्रेन के इंटीरियर, एक्सटीरियर के साथ टॉयलेट और सीट तक सब बदला जाएगा। यात्रियों को सीट ऊपर है या नीचे यह जानकारी भी कोच के बाहर ही लिखी मिल जाएगी। उधर, अब केंद्र और राज्य सरकार के विभाग भी ट्रेनों में अपनी योजनाओं के विज्ञापन करेंगे।
ट्रेन में 1 एग्जीक्यूटिव और 13 चेयरकार कोच हैं, जिनका अजमेर स्थित वर्कशॉप में 10 दिन पहले टुकड़ों में ट्रेन का कायाकल्प शुरू हो चुका है। इसकी शुरुआत दो कोचों से की गई है। यात्री भार पर इसका असर न पड़े, इसलिए दिल्ली से 3 अतिरिक्त कोच मंगाए गए हैं।
प्रत्येक कोच पर 75 लाख रुपए खर्च होंगे। जब दो कोच रेनोवेट होकर आएंगे, तब दूसरे कोच अजमेर भेजे जाएंगे। ऐसे में पूरी ट्रेन अगले साल जनवरी में नए कोच के साथ चलाई जाएगी। कोच में एसी यूनिट-पैनलिंग भी बदले जा रहे हैं। विनयल रैपिंग और पेंटिंग्स भी लगाई जाएंगी। हर कोच के बाहर सिटिंग अरेंजमेंट चार्ट भी लगाया जाएगा, जिससे पता लग जाएगा कि सीट ऊपर है या नीचे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ट्रेन के सभी 14 कोच की चरणबद्ध तरीके से दो-दो कोच का सेट बनाकर ओवर हॉलिंग की जाएगी। हालांकि इस दौरान ट्रेन का संचालन बिल्कुल भी प्रभावित नहीं होगा। बता दें कि जयपुर के पूर्व डीआरएम और रेलवे के सीनियर मैकेनिकल इंजीनियर वीरेंद्र कुमार ने ही इस ट्रेन का डिजाइन तैयार किया था और वर्ष 2013-14 में जयपुर-दिल्ली के बीच संचालक शुरू हुआ था।
पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विज्ञापन
अब केंद्र और राज्य सरकार के विभाग भी ट्रेनों में अपनी योजनाओं के विज्ञापन करेंगे। ये काम निजी एजेंसी की बजाय सरकारी एजेंसी ही कर सकेंगी। इसके लिए रेल मंत्रालय और सेंट्रल ब्यूरो ऑफ कम्युनिकेशन (सीबीसी) के बीच एमओयू हुआ है। हालांकि निजी कंपनियां भी ट्रेनों पर विज्ञापन कर सकती हैं। गौरतलब है कि डबल डेकर ट्रेन में एक्जीक्यूटिव श्रेणी की 56 और चेयरकार श्रेणी की कुल 910 सीटें हैं।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments