आज है विक्रम संवत् 2081 के वैशाख माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 06:47 बजे तक बुधवार 21 मई 2024
सलमान खान केस: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट देखते ही शव लेने से मुकरा अनुज का परिवार

क्राइम

सलमान खान केस: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट देखते ही शव लेने से मुकरा अनुज का परिवार

क्राइम //Maharashtra/Mumbai :

बॉलीवुड एक्टर सलमान खान के घर के बाहर हुई फायरिंग केस में एक आरोपी ने कस्टडी में सुसाइड कर लिया था। इसके बाद उनके परिवारवालों ने सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि जब मांगे मान ली जाएंगी, वह तभी शव पर अपना दावा करेंगे। 

एक्टर सलमान खान के बांद्रा स्थित घर के बाहर 14 अप्रैल को हुई गोलीबारी की घटना के आरोपी अनुज थापन की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पुष्टि हुई है कि उनकी मौत फांसी लगाने से हुई है। पुलिस के मुताबिक, उसकी गर्दन पर चोट के निशान और दम घुटने के निशान थे। हालांकि, बाद में आरोपी अनुज थापन के रिश्तेदारों ने शव लेने से इनकार कर दिया और दावा किया कि उसे ‘पुलिस कस्टडी में उसे प्रताड़ित किया गया और उसकी हत्या कर दी गई।’ इसके बाद उन्होंने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।
एक मई को मृत मिला
अनुज थापन, जिसे 26 अप्रैल को उसके सहयोगी सोनू बिश्नोई के साथ पंजाब से पकड़ा गया था और उस पर सुपरस्टार सलमान खान के घर के बाहर गोलीबारी करने वाले शूटर्स को हथियार मुहैया करवाने का आरोप था। उसकी उम्र 32 साल थी। बुधवार, 1 मई को क्रॉफर्ड मार्केट में क्राइम ब्रांच के लॉक-अप में मृत पाया गया था। पुलिस के अनुसार, उसने कथित तौर पर हवालात के वॉशरूम में चादर से फांसी लगा ली थी।
पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या है?
पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘गुरुवार, 2 मई की शाम को अनुज थापन का बायकुला के सरकारी जेजे अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, गर्दन पर चोट के निशान और दम घुटने के निशान हैं, जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि उनकी मौत फांसी लगाने से हुई है।’ पुलिस के अनुसार, गोलीबारी की घटना के सिलसिले में अनुज थापन, सोनू बिश्नोई, शूटर सागर पाल और विक्की गुप्ता सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था। जबकि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और उसके भाई अनमोल बिश्नोई को वॉन्टेड आरोपी के रूप में दिखाया गया है।
सीसीटीवी फुटेज में क्या दिखा?
उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने अपनी राय रिजर्व रखी है। जबकि अनुज थापन के विसरा समेत अन्य सैम्पल्स को फोरेंसिक और केमिकल एनलिसिस के लिए, तो ऑर्गन्स को हिस्टोपैथोलॉजी के लिए रिजर्व रखा गया है। एक अन्य अधिकारी ने कहा, ‘लॉक-अप सीसीटीवी के फुटेज में थापन को अकेले टॉयलट में जाते हुए देखा गया है। और यह एकदम आत्महत्या का ही मामला है।’
सीबीआई जांच की मांग
इस बीच, अनुज थापन के नाना जशवंत सिंह (54), दो रिश्तेदार और वकील के साथ, पंजाब से तड़के मुंबई पहुंचे और अंतिम संस्कार करने के लिए अनुज के शरीर पर दावा करने से इनकार कर दिया और सीबीआई जांच की माग की। जशवंत सिंह ने कहा, ‘हमें शव पर क्लेम करने के लिए कहा गया था। हमारे अनुरोध पर, जब अस्पताल के कर्मचारियों ने हमें उसका चेहरा दिखाया, तो हमें गर्दन पर चोट के निशान मिले। इन निशानों को देखकर, हमे यकीन हैं कि उसे टॉर्चर करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।’
परिवार नहीं करेगा दावा
उन्होंने आगे कहा, ‘हम तब तक शव स्वीकार नहीं करेंगे जब तक सीबीआई जांच की मांग पूरी नहीं हो जाती। अगर मांग मान ली जाएंगी, तो हम कल तक शव पर क्लेम करेंगे। सीबीआई जांच होनी चाहिए और मौत में शामिल पुलिस कर्मियों को सजा मिलनी चाहिए।’ उन्होंने बताया कि पुलिस ने थापन की मौत की जानकारी देने के लिए 1 मई की दोपहर तीन बजे उन्हें फोन किया था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments