पीएम मुद्रा लोन की सीमा दोगुनी कर 20 लाख की घोषणा कैंसर की 3 दवाओं पर नहीं लगेगी कस्टम ड्यूटी, निर्मला सीतारमण का ऐलान देश में उच्च शिक्षा के लिए 10 लाख रुपये लोन की घोषणा 'दुकानदारों को अपनी पहचान बताने की जरूरत नहीं'- कांवड़ यात्रा नेमप्लेट विवाद पर सुप्रीम कोर्ट
शेख हसीना की बेटी ने जीता डबल्यूएचओ का अहम चुनाव, क्या भारत ने साइमा वाजेद के लिए निभाई खास जिम्मेदारी?

राजनीति

शेख हसीना की बेटी ने जीता डबल्यूएचओ का अहम चुनाव, क्या भारत ने साइमा वाजेद के लिए निभाई खास जिम्मेदारी?

राजनीति///Dhaka :

चार साल के लिए डबल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक का कार्यभार संभालने जा रहीं साइमा वाजेद के पक्ष में आठ वोट पड़े, जबकि उनके करीबी प्रतिभागी डॉ. शंभू प्रसाद आचार्य को सिर्फ दो वोटों से संतोष करना पड़ा। माना जा रहा है कि वाजेद की इस जीत में भारत की अहम भूमिका रही है।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना की बेटी साइमा वाजेद, जो एक मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ हैं, को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के अगले क्षेत्रीय निदेशक के रूप में नामित किया गया है। डब्ल्यूएचओ के वरिष्ठ अधिकारी डॉ. शंभू प्रसाद आचार्य दूसरे उम्मीदवार थे। उन्हें नेपाल ने नामांकित किया था।
दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए डब्ल्यूएचओ क्षेत्रीय समिति के 76वें सत्र में एक बंद बैठक के दौरान सदस्य देशों ने वाजेद को इस पद पर नामित करने के लिए मतदान किया। विश्व स्वास्थ्य निकाय के एक बयान के अनुसार, नामांकन डब्ल्यूएचओ कार्यकारी बोर्ड को उसके 154वें सत्र के दौरान प्रस्तुत किया जाएगा जो अगले साल 22 से 27 जनवरी तक स्विट्जरलैंड के जिनेवा में होगा। वाजेद 1 फरवरी, 2024 को पदभार ग्रहण करेंगी।
चार साल के लिए क्षेत्रीय निदेशक का कार्यभार संभालने जा रहीं वाजेद के पक्ष में आठ वोट पड़े, जबकि उनके करीबी प्रतिभागी डॉ. शंभू प्रसाद आचार्य को सिर्फ दो वोटों से संतोष करना पड़ा। माना जा रहा है कि वाजेद की इस जीत में भारत की अहम भूमिका रही है क्योंकि मतदान से पहले उन्होंने भारत और इंडोनेशिया की यात्रा की थी।
इतना ही नहीं, हाल ही में नई दिल्ली में संपन्न जी20 शिखर सम्मेलन की बैठक में हिस्सा के लिए भी वह पीएम शेख हसीना के साथ भारत आईं थी, जहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात भी की थी। इस मुलाकात के बाद अपने एक बयान में वाजेद ने कहा भी था पीएम मोदी से उनकी मुलाकात काफी अच्छी रही। इससे पहले उन्होंने इंडोनेशिया का दौरा किया था। इन्हीं सबके मद्देनजर यह समझा जा रहा है कि भारत ने बांग्लादेश के पक्ष में अपना वोट दिया होगा।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments