ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
जम्मू-कश्मीर में जवानों ने 2 दिन में लिया बदला: कश्मीरी पंडित संजय शर्मा की हत्या करने वाला आतंकी मुठभेड़ में ढेर

सेना

जम्मू-कश्मीर में जवानों ने 2 दिन में लिया बदला: कश्मीरी पंडित संजय शर्मा की हत्या करने वाला आतंकी मुठभेड़ में ढेर

सेना//Jammu and Kashmir/Srinagar :

आतंकवादी की पहचान पुलवामा के आकिब मुस्ताक भट के रूप में हुई है। उसने शुरुआत में एचएम आतंकी संगठन के लिए काम किया था। आजकल वह टीआरएफ के साथ काम कर रहा था।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ताबड़तोड़ अभियान चलाया जा रहा है, जिससे आतंकी संगठन बौखलाए हुए हैं। इस बीच पुलवामा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई है। जवानों ने आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है।
आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़
जम्मू-कश्मीर घाटी में आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है लेकिन आतंकी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला पुलवामा के अवंतीपोरा के लरकीपोरा का है। यहां आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया है। आतंकवादी की पहचान पुलवामा के आकिब मुस्ताक भट के रूप में हुई है। उसने शुरुआत में एचएम आतंकी संगठन के लिए काम किया था। आजकल वह टीआरएफ के साथ काम कर रहा था। इसी ने 2 दिन पहले कश्मीरी पंडित संजय शर्मा की हत्या की थी।
गौरतलब है कि हाल ही में खबर सामने आई थी कि आतंकियों ने पुलवामा जिले के अचन में एक कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वह एक बैंक में सिक्योरिटी गार्ड का काम करता था। आतंकियों की गोलीबारी में संजय शर्मा पुत्र काशीनाथ शर्मा निवासी अचन पुलवामा की मौत हुई थी। स्थानीय बाजार जाते समय आतंकियों ने उन पर गोलीबारी की। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन गहरे जख्म के कारण उन्होंने दम तोड़ दिया। इसके बाद सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था।
घाटी में जगह-जगह फैलीं आतंक की जड़ें
फरवरी की शुरुआत में एक खबर सामने आई थी कि यहां सरकारी स्कूल का टीचर ही आतंकी निकला। इस बारे में जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह का बयान भी सामने आया था। उन्होंने कहा था, ‘लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकवादी को कई विस्फोटों में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। यह आतंकवादी पहले एक सरकारी स्कूल का शिक्षक था। वह वैष्णो देवी तीर्थयात्रियों को ले जा रही एक बस में हुए विस्फोट की घटना में भी कथित तौर पर शामिल था।’

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments