आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की द्वादशी तिथि रात 08:43 बजे तक तदुपरांत त्रयोदशी तिथि प्रारंभ यानी बुधवार, 18 जुलाई 2024
सबसे सस्ते मेडिकल कॉलेज... जहां एक लाख रुपए से कम में भी हो सकता है एमबीबीएस

एजुकेशन, जॉब्स और करियर

सबसे सस्ते मेडिकल कॉलेज... जहां एक लाख रुपए से कम में भी हो सकता है एमबीबीएस

एजुकेशन, जॉब्स और करियर//Delhi/New Delhi :

मेडिकल की एजुकेशन कॉस्ट जानकर कई लोग अपना मन मसोसकर रह जाते हैं। लेकिन देश में कुछ प्रतिष्ठित सरकारी संस्थान बहुत कम फीस में एमबीबीएस कराते हैं।

दुनिया भर में डाॅक्टरी सबसे अधिक डिमांड वाला करियर विकल्प है। हर साल लाखों छात्र मेडिकल काॅलेजों में दाखिले का सपना देखते हैं। भारत में हर साल 11 लाख से अधिक छात्र नीट के जरिए 56,000 सीटों पर दाखिले के लिए कॉम्पटीशन में उतरते हैं। लेकिन असली जंग इसके बाद षुरू होती है। 
देश में केवल कुछ सरकारी कॉलेजों में ही रियायती दर पर एमबीबीएस की पढ़ाई का ऑप्शन है। दूसरी ओर निजी कॉलेज बहुत अधिक फीस लेते हैं। प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों की फीस ही वहां दाखिले के लिए लाइन में खड़े स्टूडेंट्स की तादाद आधी कर देती है। ऐसे में हम आपको यहा बता रहे है भारत के कुछ सबसे सस्ते मेडिकल कॉलेजों के बारे में।
भारत में सबसे सस्ते मेडिकल कॉलेज 
1- आर.जी. कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, कोलकाता 2- बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बैंगलोर. 3- क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर. 4- एम्स - अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली. 5- सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज, पुणे. 6- मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली. 7- ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई।
आर. जी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, कोलकाता की स्थापना 1886 में हुई थी. ये सरकारी स्वामित्व वाला मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल है। यह एशिया का सबसे पुराना यह कॉलेज यनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस ऑफ वेस्ट बंगाल से एफिलिएटेड है। विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स बताती हैं कि यहां एमबीबीएस की कुल 5 साल की फीस 66,520 रुपए है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां दाखिले का क्राइटेरिया 10 प्लस 2 में 50 प्रतिषत और नीट एग्जाम देना होता है।
क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वैल्लोर नेशनली और ग्लोबली मान्यता प्राप्त है। इस कॉलेज के कई नाम रहे हैं। सबसे पहला नाम 1946 में फर्स्ट नर्सिंग कॉलेज था। यहां की एमबीबीएस की कुल 5 साल की फीस 1 लाख 12,750 है। भारत की पहली सफल ओपन हर्ट सर्जरी 1961 में यहीं पर हुई और भारत का पहला किडनी ट्रांस्प्लांट 1971 में यहीं हुआ था।
एम एस रामैया मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर 1979 में बना था। यहां की कुल 5 साल की एमबीबीएस की फीस 387,500 है। टोपीवाला नेशनल मेडिकल कॉलेज साल 1921 में बना था। यहां एमबीबीएस की फीस 444,000 है। देश भर के एम्स अस्पतालों की फीस अलग-अलग है। एम्स भोपाल से एमबीबीएस की कुल फीस 4.79 रुपए है। एम्स दिल्ली से एमबीबीएस की पहले साल की फीस 1,628 रुपए है। 
देश में ये संस्थान भी अहम 
आयुर्विज्ञान संस्थान बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी, एमएस रमैया मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर। टोपीवाला नेशनल मेडिकल कॉलेज, मुंबई। उस्मानिया मेडिकल कॉलेज। महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज, अग्रोहा। कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मैंगलोर। सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर। केपीसी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, जादवपुर। हमदर्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च, नई दिल्ली। इंटीग्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च, लखनऊ। व्यादेही इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च सेंटर, बैंगलोर। डॉ. डीवाई पाटिल मेडिकल कॉलेज अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, पुणे। दयानंद मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, लुधियाना। अपोलो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च, हैदराबाद। 
 

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments