पंजाब में कांग्रेस को बड़ा झटका, तेजिंदर सिंह बिट्टू कांग्रेस छोड़ थामेंगे BJP का दामन एलन मस्क का भारत दौरा फिलहाल टला, 21-22 अप्रैल को आने वाले थे टेस्ला के सीईओ ओडिशा नाव हादसे में 4 की डूबकर मौत, रेस्क्यू टीमें 7 लापता लोगों की कर रहीं खोज आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह 10 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे बैतूल: ट्रक की टक्कर से पलटी सुरक्षाकर्मियों से भरी बस, चुनाव ड्यूटी करके लौट रहे थे जवान केरल में त्रिशूर पूरम उत्सव का जश्न, लोगों ने की आतिशबाजी पाकिस्तान को बड़ा झटका, अमेरिका ने बैलिस्टिक मिसाइल प्रोग्राम के लिए आपूर्ति करने वाली 4 कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध पीएम नरेंद्र मोदी आज कर्नाटक के बेंगलुरु और चिक्काबल्लापुरा में करेंगे जनसभा को संबोधित अमेरिका के ग्रीनबेल्ट स्थित पार्क में गोलीबारी, हाईस्कूल के पांच छात्र घायल आज महाराष्ट्र में नांदेड़ और परभणी में पीएम मोदी की रैली, करेंगे जनसभा को संबोधित कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज 20 अप्रैल को भागलपुर में करेंगे रैली प्रियंका गांधी आज 20 अप्रैल को करेंगी केरल का दौरा IPL 2024: लखनऊ ने घरेलू मैदान में चेन्नई को हराया पहले चरण में रात 9 बजे तक 62.37% वोटिंग, 102 सीटों पर हुआ चुनाव ईरान-इजरायल तनाव: ग्लोबल स्तर पर सोने की कीमतों में 1.5 फीसद का उछाल पश्चिम बंगाल: कूच बिहार के चंदामारी में मतदान केंद्र के सामने पथराव आज है विक्रम संवत् 2081 के चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि रात 10:41 बजे तक यानी शनिवार 20 अप्रेल 2024
सर्वोच्च न्यायालय ने भोजशाला परिसर ने चल रहे सर्वे पर रोक लगाने से मना किया, फिलहाल जारी रहेगा सर्वे..!

अदालत

सर्वोच्च न्यायालय ने भोजशाला परिसर ने चल रहे सर्वे पर रोक लगाने से मना किया, फिलहाल जारी रहेगा सर्वे..!

अदालत//Delhi/New Delhi :

सर्वोच्च न्यायालय ने मध्य प्रदेश के धार में भोजशाला परिसर के चल रहे 'वैज्ञानिक सर्वे' पर रोक लगाने के मामले में आज सुनवाई और सर्वे को रोकने को लेकर कोई भी निर्देश देने से मना कर दिया। मध्य प्रदेश के उच्च न्यायासय की इंदौर पीठ ने वाराणसी की ज्ञानवावी की तर्ज पर धार स्थित भोजशाला परिसर में आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) से सर्वेक्षण कराने और तय समय सीमा में रिपोर्ट दाखिल करने को कहा था। इसी सर्वे को रुकवाने के लिए मुस्लिम पक्षकारों ने 22 मार्च को सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की थी। 
 

सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद अब भोजशाला के विवादित स्थल और कमल मौला मस्जिद परिसर में सर्वे की कार्रवाई जारी रहेगी। सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार एएसआई सर्वे के दौरान ऐसी कोई खुदाई नहीं की जाएगी, जिससे भोजशाला के स्ट्रक्चर में बदलाव हो। अदालत ने आगे आदेश दिया कि उसकी अनुमति के बिना एएसआई सर्वेक्षण रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि भोजशाला परिसर, मध्य प्रदेश के धार जिले में एक ऐतिहासिक स्थल है, जिस पर हिंदू और मुस्लिम दोनों ही अधिकार जताते हैं। भोजशाला परिसर, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा संरक्षित 11वीं शताब्दी का स्ट्रक्चर है, जो दोनों पक्षों के लिए महत्व रखती है। हिंदू इसे वाग्देवी (देवी सरस्वती) को समर्पित मंदिर के रूप में मानते हैं, जबकि मुस्लिम इसे कमल मौला मस्जिद का नाम देते हैं। सात अप्रेल, 2003 को एएसआई की व्यवस्था के अनुसार, हिंदू मंगलवार को पूजा करते हैं, जबकि मुस्लिम परिसर के भीतर शुक्रवार को नमाज अदा करते हैं।

न्यायमूर्ति हृषिकेश रॉय और न्यायमूर्ति पीके मिश्रा की पीठ ने मौलाना कमालुद्दीन वेलफेयर सोसाइटी द्वारा वैज्ञानिक सर्वेक्षण के लिए मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका के जवाब में केंद्र, मध्य प्रदेश सरकार और एएसआई सहित विभिन्न अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। पीठ ने निर्देश दिया है, 'चार सप्ताह में नोटिस जारी करें। अंतरिम आदेश में कोर्ट ने कहा, सर्वे के नतीजे पर इस अदालत की अनुमति के बिना कोई कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए। कोर्ट ने कहा कि कोई भी ऐसा उत्खनन नहीं किया जाना चाहिए जिससे परिसर के चरित्र में बदलाव की संभावना हो।'

You can share this post!

author

News Thikana

By News Thikhana

News Thikana is the best Hindi News Channel of India. It covers National & International news related to politics, sports, technology bollywood & entertainment.

Comments

Leave Comments