आज है विक्रम संवत् 2081 के वैशाख माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 06:47 बजे तक बुधवार 21 मई 2024
दुनिया का सबसे लंबा ट्रैफिक जाम ! जब 12 दिन तक सड़क पर फंसे रहे लोग

अजब-गजब

दुनिया का सबसे लंबा ट्रैफिक जाम ! जब 12 दिन तक सड़क पर फंसे रहे लोग

अजब-गजब//Delhi/New Delhi :

शहरों में ट्रैफिक और उसमें लगने वाला जाम आम बात है, लेकिन क्या आपको पता है कि एक बार चीन के एक शहर में 12 दिनों तक ट्रैफिक जाम लगा रहा। इसे दुनिया का सबसे लंबा ट्रैफिक जाम कहा जाता है।

जी हां, 14 अगस्त, 2010 को ये जाम चीन में लगा था। जाम इतना लंबा था कि 12 दिनों तक लोग वाहनों में फंसे रहे और गाड़ियों से निकल नहीं पाए। वहीं पर खाया, पीया और नींद ली। इसे दुनिया का सबसे लंबा जाम कहा जाता है।
ये जाम 100 किलोमीटर के इलाके में फैला हुआ था। जो जाम के इतिहास में एक विश्व रिकॉर्ड था। कहते हैं क ितब चीन के नेशनल हाईवे 110 पर हजारों गाड़ियां जाम में फंसी हुई थीं। ऊपर से देखने पर भारी-भारी वाहन चीटियों की तरह नजर आ रहे थे।
यह भीषण जाम मंगोलिया से बीजिंग तक कोयला और निर्माण सामग्री ले जा रहे ट्रकों के कारण लगा था। बीजिंग और तिब्बत को जोड़ने वाला राजमार्ग उस वक्त निर्माणाधीन था। इसलिए वाहन नहीं निकल पा रहे थे।
कई वाहन भी खराब हो गए थे, जिसकी वजह से रास्ता ब्लॉक हो गया था। ये सड़क बीजिंग-तिब्बत एक्सप्रेसवे का हिस्सा है और इसका इस्तेमाल बड़े ट्रक मंगोलिया से कोयला लाने के लिए करते हैं। जाम इतना लंबा था कि इसमें फंसे वाहन दिनभर में सिर्फ 1 किलोमीटर की दूरी तय कर पाते थे। कुछ वाहनों के ड्राइवर तो 5-5 दिन इस जाम में फंसे रहे। जाम के कारण एक्सप्रेसवे पर मेले सा माहौल बन गया था, वाहनचालक अपने वाहनों के पास शतरंज और ऐसे ही अन्य खेल खेलते नजर आए थे।
कारें पैदल चलने वालों के लिए अस्थायी घर बन गईं। वे सभी दिन-ब-दिन भूख और प्यास से पीड़ित उसी में फंसे रहे। स्थानीय लोगों ने इस स्थिति का लाभ उठाते हुए वहां अपनी दुकानें खोल लीं, और जाम में फंसे लोगों को खाना-पानी बेचने लगे। इससे उन्होंने मोटा मुनाफा भी कमाया।
इससे पहले रूस के उत्तर-पश्चिम स्थित तेवर इलाके में बर्फबारी के चलते लंबा जाम लग गया था। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक यह जाम 20 किलोमीटर लंबा था। लेकिन लोगों का दावा है कि 200 किलोमीटर दूर तक वाहन फंसे रहे।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments