मानसून की इस अपडेट से खिल जाएंगे किसानों के चेहरे 

मौसम

मानसून की इस अपडेट से खिल जाएंगे किसानों के चेहरे 

मौसम//Delhi/New Delhi :

गर्मी और लू के थपेड़ों के बीच हर किसी को बारिश का इंतजार है। इस साल के मानसून को लेकर भी एक बड़ा अपडेट सामने आया है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि इस साल भीषण गर्मी की तरह बारिश भी अधिक होगी। इसके लिए वायुमंडलीय परिस्थितियां बननी शुरू हो गई हैं।

इस साल भीषण गर्मी की तरह मानसूनी वर्षा भी अधिक होगी। मौसम विज्ञानी के मुताबिक, इस बार वर्षा वाले चार महीने में औसत से 20 मिलीमीटर अधिक वर्षा हो सकती है। इसके लिए वायुमंडलीय परिस्थितियां बनने लगी हैं। इस बार मानसूनी वर्षा की शुरूआत 20 जून से हो सकती है।
औसत से अधिक होगी इस साल बारिश
हालांकि, वास्तविक मानसून के आगमन की तिथि का आकलन केरल में उसके दस्तक के बाद ही संभव हो सकेगा। कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार वर्षा के मौसम के चार महीने जून, जुलाई, अगस्त और सितंबर में औसत वर्षा का मानक 1092.9 मिलीमीटर है, लेकिन इस वर्ष इन महीनों में यह आंकड़ा 20.9 मिलीमीटर अधिक, यानी 1113.1 मिलीमीटर रिकाॅर्ड किया जा सकता है। इनके अनुसार जून व जुलाई में औसत से कम वर्षा रिकाॅर्ड होगी, लेकिन अगस्त में औसत से करीब 27 मिलीमीटर अधिक वर्षा के आसार हैं।
मानसूनी वर्षा का पूर्वानुमान (मिमी में)
माह    वर्षा    औसत वर्षा
जून    180.6    87.8
जुलाई    350.5    353.5
अगस्त    356.0    330.8
सितंबर    226.0    220.8
कुल    1113.1    1092
बीते पांच वर्ष में औसत से कम हो रही वर्षा
मानसूनी वर्षा के बीते वर्ष के आंकड़ों पर अगर गौर किया जाए तो बीते पांच वर्ष में लगातार औसत से काफी कम वर्षा रिकाॅर्ड हुई थी। बीते वर्ष 869 मिलीमीटर और 2022 में ही 878 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड हुई थी। जबकि इस वर्ष वर्षा का औसत मानक 1092.9 मिलीमीटर है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments