ट्रेनी IAS पूजा खेडकर पर बड़ी कार्रवाई, UPSC ने दर्ज कराया केस NEET पेपर लीक केस: सॉल्वर बनने वाले सभी 4 स्टूडेंट्स को सस्पेंड करेगा पटना AIIMS माइक्रोसॉफ्ट सर्वर ठप: हैदराबाद एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स के लिए इंडिगो स्टाफ ने हाथ से लिखे बोर्डिंग पास बिलकिस बानो केस: 2 दोषियों की अंतरिम जमानत याचिका पर विचार करने से SC का इनकार आज है विक्रम संवत् 2081 के आषाढ़ माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 05:59 बजे तकयानी शनिवार, 20 जुलाई 2024
तुर्की का ड्रोन, एफ-16 जेट... पाकिस्तानी एयर फोर्स चीफ के भ्रष्टाचार पर विस्फोटक खुलासा

सेना

तुर्की का ड्रोन, एफ-16 जेट... पाकिस्तानी एयर फोर्स चीफ के भ्रष्टाचार पर विस्फोटक खुलासा

सेना/वायुसेना//Islamabad :

पाकिस्तान की वायुसेना के प्रमुख एयर मार्शल जहीर अहमद बाबर सिद्धू के भ्रष्टाचार पर गंभीर खुलासा हुआ है। पाकिस्तानी एयर फोर्स के अधिकारियों ने ही उनके खिलाफ यह लीक किया है। इसमें कहा गया है कि एयर चीफ ने करोड़ों डॉलर की घूस एफ-16, जेएफ 17 फाइटर जेट के सौदों में ली है।

पाकिस्तान में पूर्व सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के बाद अब उन्हीं के नियुक्त किए हुए एयरफोर्स चीफ एयर मार्शल जहीर अहमद बाबर सिद्धू के बारे में भी विस्फोटक खुलासा हुआ है। पाकिस्तानी वायुसेना के जवानों ने अपने ही एयर चीफ के खिलाफ श्वेत पत्र तैयार करके उनकी पोल खोलकर रख दी है। इस श्वेत पत्र के मुताबिक पाकिस्तानी वायुसेना प्रमुख ने अमेरिका से खरीदे गए एफ-16 फाइटर जेट, चीन के साथ बने जेएफ-17 और तुर्की के ड्रोन समेत कई रक्षा सौदों में अरबों रुपये की घूस ली। उन्होंने करोड़ों डॉलर पाकिस्तान से बाहर भेजे हैं और देश के अंदर भी बड़े पैमाने पर जमीन पर कब्जा कर लिया है।
पाकिस्तानी पत्रकार वजाहत एस. खान ने इस श्वेत पत्र का खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि एफ-16 और जेएफ-17 में घूस लेकर जहीर अहमद बाबर ने देश की सुरक्षा को खतरे में डाल दिया है। इससे पाकिस्तानी वायुसेना के विमानों का आधुनिकीकरण भी पिछड़ गया है। इस श्वेत पत्र में पाकिस्तानी वायुसेना के अधिकारियों ने जहीर अहमद पर भ्रष्टाचार के अलावा भाई भतीजावाद और जासूसी का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि एयर चीफ मार्शल ने तुर्की और चीन के ड्रोन निर्माताओं से 5 करोड़ डॉलर की घूस ली।
पाकिस्तानी एयर चीफ का विवादों का कार्यकाल
वजाहत ने बताया कि एयर चीफ ने जेएफ-17 विमानों की आपूर्ति में जानबूझकर देरी की। इससे उनके उद्देश्यों और प्राथमिकताओं को लेकर गंभीर सवाल उठ रहा है। पाकिस्तानी वायुसेना प्रमुख ने अपने निचले अधिकारियों के प्रमोशन में भी बहुत घपले किए हैं। उन्होंने अपने ही अधिकारियों की जासूसी कराई और उन्हें धमकी भी दी ताकि एयरफोर्स के अंदर विरोध की आवाज को कुचल दिया जाए। इस गंभीर खुलासे के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है। यही नहीं पाकिस्तानी वायुसेना की प्रतिष्ठा भी रसातल में चली गई है।
आरोपों की निष्पक्ष जांच की मांग
अब पाकिस्तान में मांग हो रही है कि इन आरोपों की निष्पक्ष जांच की जाए। एयर मार्शल जहीर अहमद बाबर साल 2021 में रिटायर जनरल बाजवा और पूर्व आईएसआई चीफ जनरल फैज की मदद से एयरफोर्स चीफ बने थे। रोचक बात यह थी कि उन्होंने पाकिस्तान के सबसे ताकतवर प्लेन एफ-16 को नहीं उड़ाया है। वह मिराज फाइटर जेट उड़ाने वाले फाइटर पायलट हैं। इस खुलासे में यह भी कहा गया है कि वह अपने भाई की मदद कर रहे हैं, जो एक राजनेता हैं। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में इनके कई घर हैं। यही नहीं, उन्होंने अपने कार्यकाल को बढ़ाने की कोशिश की है। यह खुलासा तब हुआ है, जब मियांवाली एयरबेस पर भीषण हमले में आतंकियों ने 14 विमानों को तबाह कर दिया है।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments