झारखंड के साथ याद आते हैं नोटों के पहाड़, जमशेदपुर में बोले पीएम मोदी आंध्र प्रदेश: नेल्लोर में लॉरी से टकराई RTC बस, हादसे में 2 लोगों की मौत गोवा: BJP नेता बिकम हाथरे को कर्नाटक सीसीबी पुलिस ने किया गिरफ्तार केजरीवाल मौजूदा PM को सीधे चुनौती दे रहे हैं...ये आसान काम नहीं है: सलमान खुर्शीद AAP ने प्रदर्शन के लिए नहीं ली कोई परमिशन, बीजेपी ऑफिस के आसपास लगी रहती है धारा 144: दिल्ली पुलिस BJP मुख्यालय के बाहर 3 पैरामिलिट्री फोर्स की कंपनियां तैनात, AAP ने किया था प्रदर्शन का ऐलान
यूनाइडेट वर्ल्ड रेसलिंग फेडरेशन ने भारत से छीनकर इस देश को दी गयी  कुश्ती चैंपियनशिप की मेजबानी

स्पोर्ट्स

यूनाइडेट वर्ल्ड रेसलिंग फेडरेशन ने भारत से छीनकर इस देश को दी गयी  कुश्ती चैंपियनशिप की मेजबानी

स्पोर्ट्स/कुश्ती/Haryana/Chandigarh :

देश के पहलवानों और भारतीय कुश्ती संघ के बीच चल रहे विवाद का सीधा असर अब अन्तराष्ट्रीय फैसलों पर भी पड़ना शुरू हो चुका है। यूनाइडेट रेसलिंग फेडरेशन यानी यूडबल्यूडबल्यू ने भारत से एशियन कुश्ती चैंपियनशिप की मेजबानी छीनने का फैसला कर लिया है। इस चैंपियनशिप मो अब कहा और कब करवाया जाएगा इसे लेकर कुछ नए निर्णय ले लिए गए हैं जो इस प्रकार हैं :

अब नई दिल्ली के बजाए यहां होगा टूर्नामेंट 
एशियाई चैम्पियनशिप अब नई दिल्ली से हटाकर अस्ताना में स्थानांतरित कर दिया गया है जिसका आयोजन 7 से 15 अप्रैल तक किया जाएगा। खेल की वैश्विक सस्था ‘यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग’ (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) ने गुरुवार को यह जानकारी दी। इस टूर्नामेंट का आयोजन पहले 28 मार्च से 2 अप्रैल तक नई दिल्ली में कराया जाना था।

विश्व चैम्पियनशिप की मेजबानी कर चुका है अस्ताना
अस्ताना ने 2019 में विश्व चैम्पियनशिप की मेजबानी की थी जिसका आयोजन सफल रहा था और कजाखस्तान ने 2021 में एशियाई चैम्पियनशिप की मेजबानी की थी। अल्माटी शहर ने भी पिछले साल तीसरी रैंकिंग सीरीज की मेजबानी की थी।

यूडबल्यूडबल्यू से किया था स्थगित करने का अनुरोध 
एशियाई चैंपियनशिप 28 मार्च से 2 अप्रैल तक नई दिल्ली में होने वाली थी, जिसमें प्रविष्टियों की समय सीमा 28 फरवरी निर्धारित की गई थी। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक निगरानी समिति ने इस महीने की शुरुआत में यूडबल्यूडबल्यू से चैंपियनशिप को कुछ दिनों के लिए स्थगित करने का अनुरोध किया था क्योंकि यह महिला मुक्केबाजी विश्व चैम्पियनशिप के करीब होने वाली थी। दोनों टूर्नामेंट एक ही कॉम्प्लेक्स- दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में होने थे।

यूनाइडेट रेसलिंग फेडरेशन कर रहा था विचार
यूडबल्यूडबल्यू अनुरोध पर विचार कर रहा था और एशियाई चैम्पियनशिप को एक महीने तक के लिए स्थगित करने के लिए तैयार था। आखिरकार, हालांकि, उन्होंने इसके खिलाफ फैसला किया। पता चला है कि यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने पहलवानों से शरण के खिलाफ मिली एक लिखित शिकायत को इसका एक कारण बताया। हालांकि, शिकायत की सामग्री का खुलासा नहीं किया गया था। यूडबल्यूडबल्यू ने, हालांकि, आश्वासन दिया है कि भारतीय पहलवान पुनर्निर्धारित एशियाई चैम्पियनशिप में भाग लेने में सक्षम होंगे, जिसकी मेजबानी अब भारत के बजाए अस्ताना करेगा । 

ले सकेंगे भारतीय पहलवान हिस्सा 
संतोष वाली बात है कि यूनाइडेट रेसलिंग फेडरेशन ने ये भरोसा दिलाया है कि कि भारतीय पहलवानों की एशियन चैंपियनशिप में हिस्सेदारी पर इस फैसले का असर नहीं पड़ेगा। जल्द ही टूर्नामेंट के मेजबान देश का ऐलान कर दिया जाएगा। 

दरअसल, भारत के बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया समेत दिग्गज पहलवानों ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह पर कई आरोप लगाए थे, जिसमें सबसे गंभीर यौन शौषण का आरोप विश्व चैंपियन विनेश फोगाट ने लगाया। हालाकि आरोपों की जांच के लिए एक जांच समिति का गठन किया गया हैं। कई बैठकों के बाद आरोपों की जांच के लिए ओलंपिक पदक विजेता एमसी मैरीकॉम की अध्यक्षता में एक निरीक्षण समिति गठित करने का फैसला किया। समिति को चार सप्ताह के भीतर अपनी जांच पूरी करने का आदेश दिया गया था, लेकिन नामों को अंतिम रूप देने में देरी और काम के विशाल दायरे का मतलब है कि शुरू में अनुमान से अधिक समय लगने की संभावना है।

You can share this post!

author

सौम्या बी श्रीवास्तव

By News Thikhana

Comments

Leave Comments