आज है विक्रम संवत् 2081 के वैशाख माह के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी तिथि सायं 06:47 बजे तक बुधवार 21 मई 2024
कौन हैं विभव कुमार, जिन पर लगे स्वाति मालीवाल से मारपीट के आरोप

राजनीति

कौन हैं विभव कुमार, जिन पर लगे स्वाति मालीवाल से मारपीट के आरोप

राजनीति//Delhi/New Delhi :

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ कथित मारपीट के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संज्ञान लिया है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने माना कि विभव कुमार ने स्वाति मालीवाल के साथ बदसलूकी की थी।

दिल्ली में मुख्यमंत्री आवास में राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ कथित मारपीट पर बड़ा खुलासा हुआ है। आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वाति मालीवाल के साथ हुई घटना को संज्ञान में लिया है और वो इस मामले में सख्त कार्रवाई करेंगे।
संजय सिंह ने बताया कि स्वाति मालीवाल सोमवार को सीएम केजरीवाल से मिलने आई थीं। वो ड्रॉइंग रूम में इंतजार कर रही थीं। तभी विभव कुमार वहां पहुंचे और उन्होंने स्वाति मालीवाल के साथ अभद्रता की। इससे पहले सोमवार को दिल्ली पुलिस ने बताया था कि स्वाति मालीवाल सिविल लाइन्स थाने आई थीं और सीएम हाउस में मुख्यमंत्री केजरीवाल के पर्सनल स्टाफ के एक सदस्य पर मारपीट का आरोप लगाया था। हालांकि, स्वाति मालीवाल ने अब तक इस मामले में लिखित शिकायत नहीं की है। पुलिस का कहना है कि शिकायत के बाद ही मामले की जांच आगे बढ़ेगी। 
इस पूरे मामले के केंद्र में विभव कुमार हैं, जिनपर स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट करने का आरोप है। विभव कुमार को अरविंद केजरीवाल का करीबी माना जाता है। दिल्ली के कथित शराब घोटाले में गिरफ्तार हुए केजरीवाल जब तिहाड़ जेल में बंद थे, तब उन्होंने जेल प्रशासन को उन 6 लोगों की लिस्ट दी थी, जिनसे वो मिलना चाहते थे। इस लिस्ट में विभव कुमार का नाम भी था।
कौन हैं विभव कुमार?
विभव कुमार और अरविंद केजरीवाल की दोस्ती कई साल पुरानी है। द प्रिंट की एक रिपोर्ट बताती है कि विभव कुमार और अरविंद केजरीवाल कई सालों से साथ काम कर रहे हैं। विभव वीडियो जर्नलिस्ट थे। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘इंडिया अगेन्स्ट करप्शन’ एक मैग्जीन निकालती थी। इस मैग्जीन के लिए विभव ही वीडियो एडिट किया करते थे। इंडिया अगेन्स्ट करप्शन वही संस्था है, जिसने 2011 में भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया था। 
केजरीवाल का ‘राइट हैंड’
समय के साथ दोनों की दोस्ती और गहरी होती चली गई। बताया जाता है कि केजरीवाल का डेली रूटीन भी विभव कुमार ही डिसाइड करते हैं। विभव कुमार को केजरीवाल का श्राइट हैंडश् माना जाता है। बताया जाता है कि 2014 के लोकसभा चुनाव के वक्त केजरीवाल जब पंजाब जा रहे थे, तब उनके दांत में दर्द उठा। तब कुमार ने ही तुरंत उनके लिए खाने की व्यवस्था की, ताकि वो दवा ले सकें। 
अक्सर रहते हैं चर्चाओं में
अरविंद केजरीवाल के पीए विभव कुमार अक्सर चर्चा में बने रहते हैं। पिछले महीने ही विजिलांस डिपार्टमेंट ने उनकी नियुक्ति को रद्द कर दिया था। विभव कुमार को 2015 में अरविंद केजरीवाल का पर्सनल सेक्रेटरी (पीएस) नियुक्त किया गया था। 2020 में आम आदमी पार्टी की दोबारा सरकार बनने के बाद उन्हें फिर इस पद पर नियुक्त किया गया। 
चल रहा है क्रिमिनल केस
दरअसल, विभव कुमार के खिलाफ एक क्रिमिनल केस चल रहा है। नोएडा डेवलपमेंट अथॉरिटी में काम करने वाले महेश पाल ने 2007 में विभव कुमार के खिलाफ गाली और धमकी देने का केस दर्ज कराया था। विजिलांस डिपार्टमेंट ने पिछले महीने उन्हें बर्खास्त करते हुए कहा था कि उनकी नियुक्ति से पहले उनपर दर्ज क्रिमिनल केस की जांच नहीं की गई थी। इससे पहले 8 अप्रैल को ईडी ने कथित शराब घोटाला मामले में भी उनसे पूछताछ की थी। मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत उनका बयान भी दर्ज किया गया था। 
बंगले को लेकर भी उठे सवाल
विभव कुमार अपने सरकारी बंगले को लेकर भी चर्चा में रहे हैं। पिछले साल विजिलांस डिपार्टमेंट ने पीडब्ल्यूडी को कुमार के टाइप-6 बंगले का अलॉटमेंट रद्द करने का आदेश दिया था। दावा किया गया था कि नियमों का उल्लंघन कर उन्हें ये बंगला अलॉट किया गया है। ये बंगला दिल्ली के सिविल लाइन्स इलाके में है। मार्च 2021 में ये बंगला विभव कुमार को अलॉट किया गया था। छह महीने पहले पीडब्ल्यूडी ने बंगले का अलॉटमेंट कैंसिल करने का नोटिस जारी किया था। हालांकि, उन्होंने बंगला खाली नहीं किया था। पिछले महीने जब विजिलांस डिपार्टमेंट ने उन्हें बर्खास्त किया तो पीडब्ल्यूडी ने महीनेभर के भीतर बंगला खाली करने को कहा था।

You can share this post!

author

Jyoti Bala

By News Thikhana

Senior Sub Editor

Comments

Leave Comments